• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

पीरियड्स के दौरान पूजा-पाठ कैसे करें, जानें एक्सपर्ट से

पूजा-पाठ के दौरान नियम का पालन किया जाता है। खासकर महिलाओं को नियमों का विशेष ध्यान रखना होता है। 
author-profile
  • Shilpa
  • Editorial
Published -02 Jun 2022, 19:30 ISTUpdated -02 Jun 2022, 19:47 IST
Next
Article
Worship in periods hindi m

Verified by Astrologer Prashant Mishra

हिंदू धर्म में पूजा-पाठ का विशेष महत्व होता है। ऐसे में पूजा के दौरान कई तरह के नियमों का पालन किया जाता है। पूजा के दौरान साफ वस्त्र पहनने से लेकर शुद्धता का काफी ध्यान दिया जाता है। वहीं  पूजा के दौरान महिलाओं के लिए भी कई तरह के नियम पालन करने का विधान है। ऐसे में महिलाओं को इन नियमों का पालन करना जरूरी होता है। इनमें से एक नियम पीरियड्स के दौरान महिलाओं को पूजा-पाठ करने की मनाही होती है। इसके अलावा इन दिनों महिलाओं का मंदिर जाना भी वर्जित होता है। 

ऐसे में कई बार महिलाएं व्रत रखती है लेकिन तभी पीरियड्स हो तो इस स्थिति में वह पूजा कैसे करें। क्या महिलाओं को पीरियड्स के दौरान पूजा-पाठ करना चाहिए? इस तरह के सवाल अक्सर हमारे मन में आते हैं। अगर आपके दिमाग में भी इस तरह के सवाल आते हैं तो हम इस लेख में आपके सभी सवालों के जवाब देंगे। इस विषय पर अधिक और सटीक जानकारी के लिए हमने जाने माने पंडित, एस्ट्रोलॉजी, कर्मकांड,पितृदोष और वास्तु विशेषज्ञ प्रशांत मिश्रा जी से बातचीत की उन्होंने बताया कि पीरियड्स के दौरान मानसिक रूप से पूजा करना चाहिए। आइए जानते हैं पीरियड्स के दौरान पूजा कैसी करनी चाहिए। 

व्रत के दौरान पीरियड होने पर क्या करें ?

Can we do pooja during periods ()

कई बार महिलाओं को व्रत के दौरान पीरियड हो जाता है। ऐसे में समझ नहीं आता है कि पूजा करनी है या नहीं। एक्सपर्ट के अनुसार ऐसी स्थिति में व्रत तो करना चाहिए लेकिन उस दौरान आप पूजा नहीं कर सकते हैं। वहीं यह व्रत गिना नहीं जाता है। ऐसे में आप किसी अन्य व्यक्ति से पूजा कराएं। 

पीरियड्स के दौरान पूजा-पाठ की क्यों है मनाही? 

Can we do pooja during periods

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को पूजा-पाठ नहीं करना चाहिए यह मान्यता प्राचीन काल से चली आ रही है। ऐसा माना जाता है कि उस समय महिलाओं के शरीर में ऊर्जा का संचार अधिक होता है। कहा जाता है कि इस ऊर्जा को भगवान भी नहीं सेहन कर सकते हैं। उदाहरण के लिए जब कोई महिला पीरियड्स के दौरान लगातार तुलसी में जल डालती हैं, तो तुलसी सूख जाती है। उसी तरह भगवान भी इस ऊर्जा को सहन नहीं कर पाते हैं। इसलिए पीरियड्स के दौरान महिलाओं को पूजा-पाठ की मनाही होती है। (पीरियड्स में कैसे करें देखभाल)

इसे जरूर पढ़ेंः Navratri 2020 : नवरात्रि व्रत के दौरान पीरियड्स हो जाएं शुरू तो कैसे करें मां का पूजन

पीरियड्स के दौरान इस तरह करें पूजा 

Can we do pooja during periods ()

  • अगर व्रत या पूजा-पाठ के दौरान पीरियड्स आ जाएं तो ऐसे में महिलाओं को अपना व्रत पूरा करना चाहिए। 
  • इस दौरान मानसिक रूप से भगवान की आस्था करनी चाहिए। 
  • पूजा-पाठ के दौरान दूर बैठकर किसी अन्य व्यक्ति से पूजा करवा सकती हैं। 
  • इस दौरान पूजा-पाठ के सामान को नहीं छूना चाहिए। 
  • पीरियड्स के दौरान आप मन में मंत्रों का जाप कर सकती हैं। 

पीरियड्स के कितने दिन बाद करें पूजा 

कहा जाता है कि पीरियड्स के 5वें दिन आप हेयर वॉश करके पूजा में शामिल हो सकती हैं। कुछ महिलाओं के पीरियड्स 7 दिनों तक चलते हैं लेकिन जरूरी पूजा-पाठ में आप 5 दिन बाद पूजा कर सकती हैं। (पूजा करने का सही नियम)

Recommended Video

पीरियड्स के दौरान पूजा के अलावा इन चीजों की है मनाही 

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को कई तरह के नियम का पालन करना पड़ता है। इस दौरान महिलाओं को आचार छूने के लिए मना किया जाता है। ऐसा कहा जाता है इससे आचार खराब हो सकता हैं। वहीं कुछ जगह पर किचन में खाने बनाने को लेकर भी मना किया जाता है। 

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: freepik 

 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।