हिंदी सिनेमा के महानायक अमिताभ बच्चन ने अपनी जिंदगी में कई बार बीमारी के कारण बहुत मुश्किल दौर देखा है। उन्होंने हर बार इन बीमारियों से जीत हासिल की है। लेकिन क्या आपको पता है एक वक्त ऐसा था जब वह 'क्लिनिकली डेड' हो गए थे। यहां तक कि जया बच्चन से यह कह दिया गया था कि वह आखिरी बार जाकर अमिताभ बच्चन को देख लें। देखते ही देखते कोहराम मच गया। उस वक्त हर कोई अमिताभ बच्चन के ठीक होने की कामना कर रहा था। फैंस से लेकर परिवार का हर एक सदस्य सिर्फ और सिर्फ अमिताभ बच्चन के स्वास्थ्य को लेकर दुआएं कर रहा था।

11 अक्टूबर 1973 प्रयागराज में जन्मे अमिताभ बच्चन पिछले 5 दशकों से फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा बने हुए हैं। उन्होंने न सिर्फ फिल्मों और स्टाइल को बदलते देखा है बल्कि उन्हें जिया भी है। रियल लाइफ से लेकर रील लाइफ तक उन्होंने साबित किया है कि मुश्किल हालातों से लड़कर आगे बढ़ना चाहिए। 

38 साल पहले की घटना

amitabh bachchan family

फिल्म कुली के एक्शन सीन की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन बुरी तरह घायल हो गए थे। ये हादसा पुनीत इस्सर के फाइट सीन के दौरान हुआ था। इस घटना के बारे में ज्यादातर लोग जानते हैं लेकिन क्या आपको पता है इस घटना की वजह से अमिताभ बच्चन जिंदगी और मौत के बीच खड़े थे। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक बिग बी उस वक्त बेंगलुरु में फिल्म कुली की शूटिंग कर रहे थे। 'कुली' में एक्शन सीन के कट होते ही अमिताभ बच्चन को तेज दर्द होना शुरू हो गया था। दर्द से राहत न मिलने पर अमिताभ बच्चन ने डायरेक्टर मनमोहन देसाई को बताया कि मुझे कुछ ठीक नहीं लग रहा है। इसके बाद उन्होंने छुट्टी ली और वह होटल लौट आए। होटल आने के बाद भी अमिताभ बच्चन दर्द से कराहते रहे और उन्होंने दर्द में ही जया बच्चन को अपनी हालत के बारे में बताया। इधर मनमोहन देसाई डॉक्टर लेकर अमिताभ बच्चन के पास पहुंचे लेकिन दवाई और इंजेक्शन देने के बाद भी उनकी हालत में कोई सुधार नहीं आया।

इसे जरूर पढ़ें: करिश्‍मा कपूर और संजय कपूर के तलाक के बाद ऐसे हैं पिता के साथ बच्‍चों के संबंध

Recommended Video

स्थिति हो गई थी गंभीर

amitabh bachchan condition

उस वक्त अमिताभ बच्चन की बीमारी का किसी को पता नहीं चल पा रहा था, लेकिन उनकी हालत गंभीर होती चली जा रही थी। अस्पताल में भर्ती अमिताभ बच्चन की बिगड़ती हालत को देख पत्नी जया बच्चन, भाई अजिताभ और दोस्त सभी यह सोचकर परेशान थे कि आखिर क्या किया जाए। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक अस्पताल में भर्ती अमिताभ दर्द में तड़प रहे थे। धीरे-धीरे उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने लगी। हालत यह थी कि वह कभी भी कोमा में जा सकते थे। 

इस मुश्किल स्थिति में पूरा परिवार और दोस्त सभी वहां मौजूद हो गए थे। तभी फैसला लिया गया कि उन्हें तुरंत मुंबई लेकर जाया जाए। अस्पताल में मौजूद मशहूर डॉ हट्टंगडी शशिधर भट्ट ने उनकी स्थिति को देखते हुए पहचान गए थे और उन्होंने उन्हें तुरंत ऑपरेटिंग टेबल पर ले जाने के लिए कहा। इस सर्जरी के बाद पता चला कि उनकी आंत फट गई है और जहर पूरे पेट में फैल चुका है। धीरे-धीरे यह जहर दूसरे अंगों को भी प्रभावित कर रहा है।

इसे जरूर पढ़ें: Happy Birthday Rekha: देखें 'टाइमलेस' रेखा की 10 बेहद ग्‍लैमरस तस्‍वीरें

'क्लिनिकली डेड' हो गए थे अमिताभ बच्चन

amitabh bachchan birthday

ऑपरेशन के बाद अमिताभ बच्चन आईसीयू में थे। कई बॉलीवुड सितारे उन्हें लगातार देखने अस्पताल पहुंच रहे थे। इधर डॉक्टर्स के लाख कोशिशों के बावजूद अमिताभ बच्चन का बीपी और पल्स जीरो हो गया। उनकी हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उम्मीद छोड़ दी। यही नहीं जया बच्चन से यह तक कह दिया गया था, कि वह जाकर एक बार देख लें क्योंकि अब कोई उम्मीद नहीं है। देखते ही देखते वह क्लिनिकली डेड हो गए। उनकी यह हालत देख मानो सभी परेशान सोचने लगे कि अब क्या होगा। लेकिन तभी डॉक्टर ने उन्हें दवाई के ओवरडोज के रूप में इंजेक्शन दिया।

कुछ समय बाद उनका शरीर रिस्पांस करने लगा यह देख वहां मौजूद लोग खुशी से चिल्लाने लगे। करीबन 11 मिनट बाद अमिताभ बच्चन की सांसे लौट आई। इस दिन को अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म दिवस माना जाता है। यह दिन था 2 अगस्त जिसे याद करते हुए अमिताभ बच्चन आज भी अपने चाहने वालों का शुक्रिया अदा करते हैं। आपको ये आर्टिकल अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह के और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।