सरस्वती और बेहद जैसे पॉपुलर शोज में नजर आई जेनिफर विंगेट फिलहाल शो 'बेपनाह' में वह हर्षद चोपड़ा के साथ ब्याह रचाती नजर आ रही हैं। दिलचस्प बात ये है कि रील लाइफ के साथ रीयल लाइफ में भी वह एंजॉय करती नजर आ रही हैं। आज जेनिफर अपनी जिंदगी का सबसे स्पेशल डे यानी अपना बर्थडे सेलिब्रेट कर रही हैं। जेनिफर अपने किरदारों को लेकर हमेशा ही तारीफ पाती हैं लेकिन रियल लाइफ में भी बहुत इंस्पायरिंग हैं। आइए जानें जेनिफर की शख्सीयत के कुछ दिलचस्प पहलुओं के बारे में-

रियल लाइफ की विजेता

jennifer winget inside

निजी जिंदगी में एक बड़े तूफान का उन्होंने जितनी मैच्योरिटी से सामना किया, वह काबिले-तारीफ है। करण सिंह ग्रोवर ने उनका साथ छोड़कर बिपाशा बसु का हाथ थाम लिया, रिश्तों में आई इतनी बड़ी खटास के बाद भी उन्होंने अपनी जिंदगी में किसी तरह की नेगेटिविटी नहीं आने दी। अपनी लाइफ से उन्होंने महिलाओं को एक तरह से मैसेज दिया है कि जिंदगी थक कर हारने का नहीं, बल्कि आगे बढ़ने का नाम है।

jennifer winget inside

एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, 'तजुर्बे चाहे अच्छे हों या बुरे, आपके लिए आगे बढ़ना मायने रखता है। जिंदगी कई उतार-चढ़ावों से भरी होती है। मेरी शादी टूट गई लेकिन मेरे मन में उससे जुड़ी कोई कड़वी याद नहीं है। मैं करण की शु्क्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझे मेरे बारे में बहुत कुछ सिखाया। इस तजुर्बे से मुझे अपनी स्ट्रेंथ, अपने रियल फ्रेंड्स का अहसास हुआ है और इस बात का भी कि मेरी फैमिली कितनी स्पेशल है। अगर मैं इन चीजों से नहीं गुजरी होती तो शायद आज जो मैं हूं, उससे बिल्कुल अलग होती। मुझे अपने पेरेंट्स से बहुत प्यार मिला। पहले मैं इंपल्सिव थी लेकिन अब मैं सोच-समझकर काम करती हूं। 

अच्छा लगता है आजादी का अहसास 

jennifer winget inside

जैनिफर अपने सिंगल स्टेटस का मजा ले रही हैं। उन्हें यह काफी अहसास काफी दिलचस्प लगता है। एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा, 'मैं 30वें साल में हूं। अब तक मैं कभी सिंगल नहीं रही, लेकिन अब हूं। मैं लोगों को समझती हूं। मैं बेवकूफ नहीं हूं। मेरे खयाल में हर लड़की को 30 की उम्र में सिंगल होना चाहिए। यह खयाल अपने आप में बहुत आजाद महसूस कराता है। लड़के मुझे रिझाने की कोशिश करते हैं और मैं यह सब एंजॉय करती हूं। मुझे लगता है कि जिंदगी में ह्यूमर होना चाहिए क्योंकि यही हमें हर तरह की सिचुएशन को हैंडल करना सिखाता है। मुझे अपनी जिंदगी में किसी तरह की कमी नहीं लगती। 

बॉलीवुड से ज्यादा अपने किरदार में लेती हैं दिलचस्पी

jennifer winget inside

'अकेले हम अकेले तुम' , 'कुछ ना कहो' और टीवी शो 'कसौटी जिंदगी की', 'कहीं तो होगा', 'दिल मिल गए' के जरिए छोटे पर्दे का जाना पहचाना नाम बनीं जेनिफर ने कुणाल कोहली की फिल्म 'फिर से' से बॉलीवुड में कदम रखा था, लेकिन कॉपीराइट विवादों के चलते यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर रिलीज नहीं हो पाई। आखिरकाल पिछले साल इसे डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रिलीज किया गया। जेनिफर की बॉलीवुड की डेब्यू फिल्म कोई खास कमाल नहीं दिखा पाई थी, लेकिन इससे वह निराश नहीं हुईं। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा, 'मीडियम के बजाय मेरे लिए एक्टिंग ज्यादा इंपॉर्टेंट है। मैं अपने किरदार से ही एक्साइटमेंट फील करती हूं। मैं किरदारों को नेगेटिव या पॉजिटिव के सांचे में नहीं देखती। मेरा मानना है कि इंसान के तौर पर हमें हर तरह के इमोशन्स को पर्दे पर दिखाना चाहिए।'