किसी के चुप रहने की आखिर कितनी मियाद हो सकती है? हमेशा अभिनेत्री अनुष्का शर्मा को इसलिए ट्रोल्स का निशाना बनना पड़ता है क्योंकि वो भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली की पत्नी हैं। वो चाहें अपने पति के साथ छुट्टियां मना रही हों या फिर स्टेडियम में खड़ी उनका मैच देख रही हों। इतना ही नहीं उन्हें तो ट्रोल्स ने विराट के लिए अपशगुनी तक बता दिया था। इतना ही नहीं उनपर ये भी इल्जाम लगाए गए हैं कि वो क्रिकेट बोर्ड की मीटिंग्स में बैठती हैं। इस बार अनुष्का पर एक नया आरोप लगा था और अनुष्का ने उसका करारा जवाब दिया है।  

क्यों भड़कीं अनुष्का? 

दरअसल, पूर्व भारतीय क्रिकेट टीम के विकेट कीपर फारुख इंजीनियर ने एक इंटरव्यू में ये दावा किया था कि वर्ल्ड कप 2019 के दौरान अनुष्का शर्मा की खातिरदारी की गई। इसमें क्रिकेट टीम सिलेक्टर्स ने अनुष्का को चाय परोसी। इंटरव्यू में उन्होंने ये भी कहा कि वो सिलेक्टर को जानते नहीं थे, लेकिन उसने कहा था कि वो सिलेक्टर है। 

Indian Cricket Team anushka sharma

इसे जरूर पढ़ें-  ऐश्वर्या राय के इन लेटेस्ट लुक्स से ले सकती हैं शादी और न्यू इयर पार्टी के लिए स्टाइल इंस्पिरेशन 

इस नए इल्जाम में विराट कोहली का नहीं बल्कि सीधे अनुष्का शर्मा का नाम लिया गया है। इसी मामले में अब अनुष्का ने अपनी चुप्पी तोड़ दी है।  

एक चिट्ठी लिख अनुष्का ने बताई नाराज़गी-  

अनुष्का ने अपने इंस्टाग्राम और ट्विटर अकाउंट पर चिट्ठी लिख इस बारे में कहा है। उन्होंने काफी लंबा चौड़ा पत्र लिखा है।  

'मैंने हमेशा अफवाहों और गलत खबरों पर चुप्पी साधना ही बेहतर समझा है। मुझे लगता था कि यही सही तरीका है इनसे निपटने का और मैंने 11 सालों के अपने करियर में यही किया है। मैं हमेशा सच को देखती थी मेरी चुप्पी के पीछे।  

anushka sharma controversy

पर कहा जाता है कि एक झूठ अगर कई बार बोला जाए तो वो सच लगने लगता है। मेरी चुप्पी ने ऐसे ही झूठ को बढ़ावा दिया पर आज ये खत्म होता है।  

मुझे हमेशा विराट की परफॉर्मेंस को लेकर निशाना बनाया गया जो सबसे खराब बात थी। मैं चुप रही, मेरा नाम कई अफवाहों में जोड़ा गया जो क्रिकेट टीम से जुड़ी थीं मैं तब भी चुप रही। ये भी कहा गया कि मैं क्रिकेट बोर्ड मीटिंग्स में हिस्सा लेती हूं और ये भी कहा गया कि मैं अपने पति के साथ नियमों का उलंघन करके दौरों पर जाती हूं। ये भी गलत था। मैं हमेशा प्रोटोकॉल फॉलो करती थी। मेरा नाम इसलिए भी लिया गया कि मैं बोर्ड को परेशान करती हूं और गलत तरीके से टिकट या सुरक्षा के इंतज़ामों की मांग करती हूं मैं तब भी चुप रही जबकी मैं अपनी फ्लाइट टिकट से लेकर मैच टिकट तक सब कुछ खुद खरीदती थी। 

जब हाई कमिश्नर की पत्नी ने मुझसे ग्रुप फोटो में खड़े होने को कहा तब भी मैं परेशान थी, लेकिन झिझक के साथ तस्वीर खिंचवा ली और बाद में उस बात पर भी मुझपर इल्जाम लगे। इसके लिए तो बोर्ड ने खुद इसपर सफाई दी थी।

लेकिन अब मैं काफी परेशान हूं एक न्यूज के बाद मैं अपनी चुप्पी तोड़ रही हूं। मैं किसी के एजेंडा या गलत खबर का हिस्सा नहीं बनना चाहती। किसी को बोर्ड के खिलाफ कुछ कहना है तो शौख से कहे, लेकिन मेरा नाम छोड़ दे। अगर किसी को फैक्ट नहीं पता है तो वो न बोले। आपको आलोचना करनी हो, भले ही मेरे पति की क्यों न करनी हो फैक्ट के साथ करें और जबरन मेरा नाम न घसीटें। मैंने अपना करियर खुद के दम पर बनाया है और मैं एक क्रिकेटर की पत्नी हूं। 

और हां, मैं कॉफी पीती हूं।' 

इसे जरूर पढ़ें- इसलिए मनाई जाती है छठ पूजा, भगवान राम और सूर्य से जुड़ी मान्यताएं हैं खास 

अनुष्का की आखिरी लाइन एक व्यंग्य था जो चाय पीने वाले इल्जाम के ऊपर था। अनुष्का शर्मा भले ही कितनी भी कोशिश करें वो क्रिकेट टीम से जुड़े विवादों का हिस्सा बनती रही हैं और ये यकीनन काफी खराब बात है। किसी भी कॉन्ट्रोवर्सी का हिस्सा बनना किसी को पसंद नहीं आएगा, लेकिन अगर किसी के साथ बार-बार ऐसा हो रहा है तो ये गलत है।   

इस मामले में कई सेलेब्स ने अनुष्का का समर्थन किया है। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने भी अनुष्का का समर्थन कर ट्वीट की है। 

एक्टर राहुल देव भी इस मामले में सामने आए और अनुष्का का समर्थन किया। 

इतना ही नहीं। अनुष्का के सपोर्ट में सोनम कपूर, रणवीर सिंह, अर्जुन कपूर और कई सेलेब्स आए। इंस्टाग्राम पर सभी ने अनुष्का की पोस्ट पर कहा कि वो सही हैं। 

anushka sharma supported by fans

कुल मिलाकर अब इतना साफ है कि अनुष्का शर्मा अब किसी भी तरह का इल्जाम अपने ऊपर नहीं सहेंगी। और जिस तरह से अनुष्का को ट्रोल किया जाता है वो गलत है और उन्हें हर बात के लिए जिम्मेदार मानना भी सही नहीं लगता।