53 साल के बॉलीवुड के जाने-माने एक्‍टर इरफान खान का आज निधन हो गया है। उनके निधन की खबर आते ही हिंदी सिनेमा जगत में शौक की लहर दौड़ गई। वह काफी समय से कैंसर से जंग लड़ रहे थे। इरफान खान की तबीयत अचानक खराब होने के कारण उन्हें मुंबई के कोकिलाबेन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। कई घंटों तक मौत से लड़ाई लड़ने के बाद बुधवार 29 अप्रैल को उनके निधन की खबरें आईं। हालांकि वह अपनी हेल्‍थ को लेकर काफी समय से परेशान थे लेकिन उन्‍होंने कभी हार नहीं मानी क्‍योंकि वह एक फाइटर थे। उन्होंने कैंसर से जंग जीतने की इच्छा जाहिर करते हुए एक इंटरव्यू में कहा था कि 'वह अपनी पत्नी के लिए जिंदा रहना चाहते हैं।' 

जी हां इरफान खान की अदाकारी और उनके संवाद करने के अंदाज हर कोई कयाल था। एक मीडिया हाउस को इंटरव्‍यू के दौरान इस बीमारी और निजी जीवन को लेकर कई बातें शेयर की थी। इरफान खान ने कहा कि मेरे लिए ये दौर रोलर-कोस्टर राइड जैसा रहा है, जिसमें हम थोड़ा रोए और ज्यादा हंसे। उन्होंने कहा कि इस दौरान मैं बहुत ही भयंकर बेचैनी से गुजरा, लेकिन कहीं न कहीं मैंने उसे कंट्रोल किया। ऐसा लग रहा था मानो कि आप लगातार अपने साथ हॉपस्‍कॉच खेल रहे हों। पत्नी सुतापा के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा था कि ''उसके बारे में क्या कहूं? वह मेरे लिए सातों दिन 24 घंटे खड़ी रही है। मेरी केयर की और उनके कारण मुझे बहुत मदद मिली। इरफान ने यह भी कहा कि मैं अभी तक हूं, इसकी वजह मेरी पत्नी है और अगर मुझे जीने का मौका मिलेगा, मैं उसके लिए ही जीना चाहूंगा।''

इसे जरूर पढ़ें: नहीं रहे Irrfan Khan, दो साल से इस बीमारी से थे परेशान

sutapa sikdar wife of irrfan khan

कॉलेज के दिनों में हो गया था प्‍यार 

53 वर्ष की उम्र के इरफान खान की मृत्यु कोलन इन्फेक्शन के कारण हुई है। इरफान खान अपने पीछे वाइफ सुतापा सिकदर और दो बच्चों को छोड़ गए हैं। इरफान खान ने साल 1995 में सुतापा सिकदर से शादी की थी। दिल्ली में जन्मी सुतापा एक इंडियन फिल्म और डायलाग राइटर हैं। वह नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में इरफान की साथी स्नातक थीं। उनकी फिल्म क्रेडिट में खामोशी: द म्यूजिकल, सुपारी और शब्‍द शामिल हैं। इस कपल को अपने कॉलेज के दिनों में प्यार हो गया और 23 फरवरी, 1995 को शादी के बंधन में बंध गए थे।

ऐसी थी सुतापा सिकदर और इरफान खान की लव स्‍टोरी

जी हां क्रिएटिव माइंड वाले इरफान जब अपनी मास्टर्स की डिग्री हासिल कर रहे थे तभी उन्हें दिल्ली के NSD से ऑडिशन कॉल आया। ऐसे में वह ऑडिशन देने जा पहुंचे। वह अपने ऑडिशन में पास हुए और इरफान को स्कॉलरशिप मिल गई। इरफान नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा का हिस्सा बनने के लिए दिल्ली आ चुके थे। पढ़ाई के दौरान उनकी मुलाकात सुतापा सिकदर से हुई। दोनों के बीच दोस्ती गहरी होती गई। दोनों एक जैसा सोचते थे ऐसे में जल्द ही सुतपा और इरफान रिलेशनशिप में आ गए। साल 1995 के फरवरी महीने में इस कपल ने सिंपल कोर्ट मैरेज कर ली और पति पत्नी के रूप में अपने जीवन की शुरुआत की।

Recommended Video

पिछले साल अप्रैल में, सुतापा सिकदर ने फेसबुक पर एक इमोशनल पोस्ट लिखकर सभी लोगों का शुक्रिया किया है जिन्होंने इरफान खान के जल्दी ठीक होने की कामना की थी। उन्होंने लिखा, 'यह जिंदगी का सबसे लंबा साल रहा है। समय को दर्द और आशा से एक साथ मापा नहीं जा सकता है। जब हम काम करने के लिए छोटे कदम बढ़ा रहे हैं तो मैं उन दोस्तों, अंजान लोगों का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं, जिन्होंने हमें नई शुरूआत का एक छोटा सा मौका दिया है। यह अविश्वसनीय लगता है। मैंने कभी इतने अच्छे तरीके से अप्रत्याशित का मतलब महसूस नहीं किया था। इससे पहले मैंने अपनी सांस और धड़कन तक लोगों की दुआओं का असर महसूस नहीं किया था। मैं लोगों के नाम नहीं ले सकती क्योंकि उनमें से कई लोग ऐसे हैं जिनके नाम भी मैं नहीं जानती और वह फरिश्तों की तरह हमारे लिए दुआ कर रहे थे। सुतापा ने आगे लिखा था, 'मैं उन सबसे माफी मांगना चाहती हूं जिन्हें मैं शुक्रिया भी नहीं कह पाई लेकिन मैं जानती हूं कि आप हमारे लिए क्या मायने रखते हैं। अब जिंदगी में सुकून है। हम काम पर लौट चुके हैं, जिंदगी का नाच-गाना जारी है। दुआओं पर भरोसा दिलाने के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया।'

sutapa sikdar wife of irrfan khan INSIDE

इसे जरूर पढ़ें: इरफान खान की तबियत अचानक हुई खराब, मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती

एक्‍टर तब से बीमार हैं, जब उन्हें कुछ समय पहले न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर का पता चला था, और उसी के लिए चिकित्सा ध्यान में रखा गया है। जी हां दो साल पहले उन्हें 'न्यूरो इंडोक्राइन ट्यूमर' बीमारी हो गई थी। उन्होंने विदेशों में भी इलाज कराया। 

काम के बारे में बात करें तो इरफान खान आखिरी बार "अंग्रेजी मीडियम" में देखे गए थे, पिछली बार रिलीज हुई बॉलीवुड फिल्म COVID-19 से पहले सिनेमा हॉल को पूरी तरह से बंद कर दिया गया था। पूरे भारत में हॉल बंद होने से ठीक एक दिन पहले "अंग्रेजी मीडियम" सिनेमाघरों में चली थी।