चुनाव आते समय हम कई तरह की बातें सुनते हैं, लेकिन बहुत ही कम चर्चा महिला सशक्तिकरण के मामले में होती है। किसी भी पॉलिटिकल पार्टी का एजेंडा देखें तो महिला सुरक्षा को लेकर तो बातें होती हैं, लेकिन महिला सशक्तिकरण को नजरअंदाज़ कर दिया जाता है जैसे इसकी जरूरत है नहीं। पर एक पॉलिटिकल पार्टी इस बार कुछ अलग कर रही है और महिलाओं की फाइनेंशियल इंडिपेंडेंस की बातें कर रही है। महिलाओं को जहां आज भी बोझ समझा जाता है वहां अगर महिलाएं अपने फाइनेंस को लेकर किसी और पर निर्भर नहीं रहेंगी तो इसके बहुत फायदे हो सकते हैं। 

आप पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने भी पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 के लिए प्रचार शुरू कर दिया है और अब उन्होंने महिला सशक्तिकरण की ओर एक बहुत ही अहम कदम उठाया है। आम आदमी पार्टी ने अपने चुनावी वादे के साथ महिलाओं की सुविधा का भी ख्याल रखा है। 

किस स्कीम को आम आदमी पार्टी कह रही है सबसे बड़ा महिला सशक्तिकरण प्रोग्राम?

अगर बात करें महिला सशक्तिकरण की तो आम आदमी पार्टी ने इस बात को ध्यान रखा है कि महिलाएं घर चलाने के लिए  पैसे इकट्ठा करने की आदत पर निर्भर करती हैं। अगर महिलाओं के पास पैसा होगा तो वो घर के विकास में ज्यादा बेहतर तरीके से जिम्मेदारी निभा पाएंगी और साथ ही साथ वो बेहतर तरीके से अपने फाइनेंस को प्लान कर पाएंगी। महिलाओं के लिए फाइनेंशियल इंडिपेंडेंस कितनी जरूरी है इस बारे में लंबे समय से बात हो रही है और आप सरकार का ये चुनावी वादा इसी ओर इशारा कर रहा है। 

aap party women empowerment program

इसे जरूर पढ़ें- DTC की बसों में फ्री टेवल से महिला सशक्तीकरण को मिलेगा बल, जानिए क्या सोचती हैं दिल्ली की महिलाएं

दिल्ली के चीफ मिनिस्टर और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने ये ऐलान किया है कि अगर पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार आती है तो उनकी सरकार हर महीने पंजाब की हर महिला के अकाउंट में 1000 रुपए डलवाएगी। ये सुविधा 18 साल से ऊपर की हर महिला को मिलेगी और अगर किसी घर में 3-4 महिलाएं हैं तो सभी के अकाउंट में 1000 रुपए डलवाए जाएंगे। 

 

अपनी स्पीच में अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'पैसा बहुत बड़ी ताकत होती है और अगर ये पास हो तो लोग अपने हिसाब से जी सकते हैं, जो चाहे वो खरीद सकते हैं। अगर हम पंजाब में 2022 में सरकार बना लेते हैं तो राज्य की हर महिला जो 18 साल से ऊपर है उसे 1000 रुपए प्रति माह देंगें। अगर किसी परिवार में 3 महिलाएं हैं तो तीनों के अकाउंट में 1000-1000 रुपए आएंगे। ये दुनिया का सबसे बड़ा महिला सशक्तिकरण प्रोगाम होगा।'

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में बिजली और पानी सस्ता करने का वादा किया था और वो वादा इस सरकार ने यहां निभाया है। दिल्ली में बिजली और पानी का रेट काफी कम है और 200 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाती है। इसलिए ये उम्मीद की जा सकती है कि पंजाब में किया वादा भी पूरा हो।  

दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब में दो दिन के दौरे पर हैं जहां उन्होंने ये ऐलान किया है।  

इसे जरूर पढ़ें- 'बेबी केजरीवाल' सोशल मीडिया में हुए वायरल, तैमूर से हो रही है तुलना 

पिछले पंजाब चुनावों में ये था आम आदमी पार्टी का हाल- 

2017 के विधान सभा चुनावों में आम आदमी पार्टी ने अन्य प्रतिद्वद्वियों से ज्यादा अच्छा परफॉर्मेंस दिया था। कांग्रेस ने 77 सीट्स लेकर चुनावों में बहुमत हासिल किया था। 117 मेंबर की पंजाब असेम्बली में आम आदमी पार्टी दूसरी सबसे बड़ी पार्टी साबित हुई थी। आम आदमी पार्टी को उन चुनावों में 20 सीट्स मिली थीं। इसके अलावा, शिरोमणी अकाली दल को 15 सीट्स मिली थीं और भाजपा सरकार को 3 सीट्स मिली थीं।  

आने वाले पंजाब चुनावों में ये देखना होगा कि आखिर किस तरह से राजनीति करवट लेती है। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।