हिन्दू धर्म में हर एक पौधे का अपना अलग महत्व है। ऐसा माना जाता है कि कुछ पौधों में साक्षात ईश्वर का वास होता है। ऐसे पौधों में सबसे प्रमुख हैं तुलसी, नीम, पीपल और बरगद। इन सभी पौधों की पूजा की जाती है और उनमें भगवान का वास मानकर इन्हें घर में लगाना ज्योतिष और वास्तु दोनों के लिहाज से बहुत ही अच्छा माना जाता है।

इसके अलावा एक और पौधा है आक का पौधा,यह पौधा वास्तव में अन्य पौधों की तरह ही पूजा जाता है और ऐसा माना जाता है कि इस पौधे से भगवान शिव की पूजा करने से कई तरह के लाभ मिलते हैं। इस पौधे को मदार का पौधा भी कहा जाता है और पूजा पाठ से लेकर तंत्र मंत्र तक ये पौधा बहुत ज्यादा मायने रखता है। आइए अयोध्या के जाने माने पंडित राधे शरण पाण्डेय शास्त्री जी से जानें कि इस पौधे को घर में लगाने के क्या -क्या लाभ ही सकते हैं और आपको इस पौधे को किस तरह लगाना चाहिए।  

कैसा होता है आक का पौधा 

aak plant tips

सफेद आक के पौधेकी पत्ती बरगद के पत्तों की तरह ही मोटी होती है। पत्तियां जब पक जाती हैं और झड़ने के लिए तैयार हो जाती हैं तो वे पीली हो जाती हैं। इसके फूल छोटे होते हैं और गुच्छों में दिखाई देते हैं। फूलों पर रंगीन रेखाएं हो सकती हैं लेकिन मूल रूप से ये सफेद रंग के होते हैं। इसका फल आकार में आम के फल के समान होता है और सफेद कपास जैसी संरचनाओं से भरे होते हैं। 

इस पौधे में होता है गणपति का वास 

आक या मदार का पेड़ भगवान शिव को मुख्य रूप अति प्रिय है। इस पौधे में भगवान गणेश जी का वाश कहा जाता है। यह पौधा श्वेत और श्याम दोनों तरह का होता है। श्याम व श्वेत मदार का तांत्रिक रूप में विशेष प्रयोग किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि इसकी जड़ों में श्वेतार्क गणपति का वास होता है और   इसे विधि पूर्वक पूजा करके घर में रखा जाए तो यह विशेष रूप से हितकारी होता है। ऐसा माना जाता है कि शुभ मुहूर्त में लाकर ही इसकी पूजा प्रारंभ करें। पूजा करते समय गणपति मंत्र का उच्चारण अवश्य करें। इससे भगवान गणपति की कृपा भी प्राप्त होती है।  

इसे भी पढ़ें:Expert Tips: श्वेतार्क गणपति की पूजा से घर में आएगी सुख समृद्धि, जानें कैसे

घर में लाता है सुख समृद्धि 

आक के पौधे की उपस्थिति को लेकर ऐसी मान्यता है कि यह पौधा घर के सामने लगाना चाहिए। घर के आस-पास पौधे की उपस्थिति यह सुनिश्चित करती है कि घर के निवासियों के खिलाफ किए गए किसी भी बुरे प्रभाव या किसी भी काले जादू को दूर किया जा सकता है। मुख्य रूप से यह पौधा तंत्र विद्या में इस्तेमाल में आता है इसलिए ये किसी भी टोन को ख़त्म करने में मदद करता है। इस पौधे की जड़ से निकली गणपति की मूर्ति की नियमित रूप से पूजा की जाती है, तो आपको 'त्रिसुखा' या जीवन के सभी सुख प्राप्त होंगे। 

करता है मनोकामनाओं की पूर्ति 

aak plant vastu tips

ऐसा कहा जाता है क़ि इस पौधे का फूल पूजा में चढ़ाने से भगवान् की विशेष कृपा प्राप्त होती है और सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। मुख्य रूप से शिवलिंग पर आक के पत्ते और फूल चढ़ाना बहुत शुभ होता है। शास्त्र बताते हैं कि पवित्र आक का पौधा अपने मुख्य द्वार पर या उसके सामने लगाना अत्यधिक शुभ माना जाता है। इसमें सफेद फूल होते हैं, जो भगवान शिव को बहुत प्रिय हैं। ये पौधा हमेशा नकारात्मक ऊर्जा और ताकतों से बचाता है। इस पौधे से निकलने वाली ऑक्सीजन पर्यावरण को शुद्ध करती है।

Recommended Video

वास्तु के अनुसार किस दिशा में लगाएं आक का पौधा 

  • आक का पौधा घर के अग्नि कोण यानी कि दक्षिण पूर्व के बीच दक्षिण या उत्तर दिशा में लगाया जा सकता है।
  • घर में सफेद आक का पौधा मुख्य गेट के पास या सामने लगाना चाहिए या फिर घर के बाहर गेट के पास रख सकते हैं।
  • आक का पौधा ऐसे लगाएं कि जब भी आप घर से निकलें तो यह पौधा आपके दाहिने हाथ की तरफ होना चाहिए।
  • आक का पौधा किसी शुभ दिन जैसे पूर्णिमा, एकादशी, मंगल या सोमवार को लगाएं। 

इस प्रकार आक का पौधा घर में लगाना अत्यंत शुभ माना जाता है। साथ ही, इसे घर में लगाने से लोगों की मनोकामनाएं पूरी होती हैं और घर में साक्षात लक्ष्मी का वास होता है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik and shutterstock