हर व्‍यक्ति एक अच्‍छे जीवन का सपना देखता है। इन सपनों में घर बनवाने का सपना मुख्‍य होता है। हर कोई चाहता है कि वह अपने कमाएं धन से घर बनवाए, जहां खुशियां ही खुशियां हों मगर, कई बार ज्‍योतिष शास्‍त्र और वास्‍तु का ध्‍यान नहीं रखने पर आपको यह सुंदर सपना या तो पूरा नहीं होता या फिर पूरा होने के बाद भी आप सुख प्राप्‍त नहीं कर पाते हैं।

ऐसे में आज उज्‍जैन के पंडित कैलाश नारायण शर्मा कुंडली में शनि की उपस्थिति के अनुसार नए मकान में प्रवेश करने से पूर्व 8 खास बातों पर ध्‍यान देने की सलाह देते हैं। आइए जानते हैं कि वह 8 खास बातें क्‍या हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: किचन के वास्तु दोष से घर में हो सकती है लड़ाई, ये 7 उपाय अपनाएं और घर में सुख-शांति पाएं

astrology for building home

  • ज्‍योतिष शास्‍त्र में शनि की दिशा पश्चिम मानी गई है। इस लिए ना मकान खरीदते वक्‍त आपको इस बात का ध्‍यान रखना होगा। मकान किसी भी दिशा में हो शनि की दिशा पश्चिम ही होनी चाहिए। अगर आपकी कुंडली में शनि कि दिशा अलग है तो आपको उसका अलग ही फल मिलेगा। जैसे जिस जातक का शनी ऊंचा हो तो पश्चिम दिशा का दरवाजा शुभ फल देगा।
  •  घर लेते वक्‍त ध्‍यान रखें कि वह स्‍थान सुनसान न हो। उस स्‍थान के आसपास अवैध गतिविधियां , तिराहे, चौराहे, शोर मचाने वाली दुकान और फैक्ट्री न हो। ऐसी जगह पर राहु, केतु और शनि का स्थान होता है। यहां रहना ठीक नहीं है। यदि आप ऐसे स्‍थान पर रहते हैं तो इससे कुंडली के अच्छे ग्रह भी खराब फल देने लगते हैं। घर के अंदर शनि का स्थान स्नान और तलघर घर माना गया है। सही दिशा और स्थान पर रखेंगी चाकू तो नहीं होगी धन और स्वास्थ की हानि
  •  अगर आपकी कुंडली में अष्टम भाव में शनि है तो आप अपेन लिए मकान बनवाएं नहीं बल्कि आपको बना बनाया मकान लेना चाहिए। ऐसा घर आपको अच्‍छे फल देगा। आप बना हुआ मकान खरीद भी सकते हैं। आपकी कुंडली के खाना नंबर 1 में शनि हो और खाना नंबर 6, 7 और 10 में कोई ग्रह बैठा हो जिनकी आपस में बनती न हो या वे एक दूसरे को दूषित कर रहे हैं तो खाना नंबर 8 भी दूषित होगा । आपके कर्म भी अच्‍छे ग्रहों को दूषित कर सकते हैं। ऐसी कुंडली वाला जातक अगर मकान बना ले तो रोटी-रोटी को  मोहताज हो जाता है। पैसों की तंगी दूर करने के लिए इस तरह इस्तेमाल करें ‘मोर पंख’
  •  आपकी कुंडली के खाना नंबर 2 में शनि बैठा हो और कुंडली में शुक्र एवं मंगल ग्रह शुभ हो तो आपको अपना मकान बनवाने में दखलअंदाजी नहीं करनी चाहिए। लेकिन यदि शनि खाना नंबर 3 में हो तो आप मकान तो बनवा सकते हैं मगर आपको घर में कुत्‍ते पालने चाहिए। यदि आप ऐसा करते हैं तो आपके घर में कभी धन की कमी नहीं होगी। 
house in kundli
  • यदि आपकी कुंडली में शनि खाना नंबर 4 में हो और आपको नया मकान बनवाना हो तो थोड़ा ठहरें। ऐसा करने से आपके घर परिवार और रिश्‍तेदारी में बुरा प्रभाव पड़ सकता है। आपको बना हुआ घर ही खरीदना चाहिए। इसी तरह यदि शनि खाना नंबर 5 में है तो मकान बनवाने से आपके बच्‍चे पर बुरा प्रभाव पड़ेगा। वहीं नंबर 6. में हो तो अपना मकान 39 साल की उम्र के बाद बनवाएं नहीं तो रिश्‍तेदारी खराब हो सकती है। देवी लक्ष्‍मी के प्रिय ‘श्री यंत्र’ की पूजा करने के ये हैं खास नियम, जानें इसके लाभ
  •  यदि आपकी कुंडली में शनि खाना नंबर 7 में बैठा है तो आपको अपना मकान खुद नहीं बनवाना चाहिए। बल्कि आपको बना हुआ घर खरीदना चाहिए। शनि खाना नंबर 8 में हो और शुक्र, मंगल ग्रह भी दूषित हो रहे हों तो जातक को अपने नाम से मकान नहीं बनवाया चाहिए। मकान आप घर के किसी और सदस्‍य के नाम पर बनवा दें। इतना ही नहीं मकान के कामकाज में दखल भी न दें। ऐसा करने से मकान आपको फलेगा। 

Recommended Video

  •  जिन जातकों की कुंडली में शनि खाना नंबर 9 में हो और मकान बनाते समय घर की कोई महिला गर्भवती तो उस जातक को अपने कमाए हुए धन से मकान नहीं बनवाना चाहिए। बल्कि पूर्वजों के धन का इस्‍तेमला करना चाहिए। अगर शनि खाना नंबर 10 में हो तो भी जातक को अपनी कमाई से मकान नहीं बनाना चाहिए। ऐसा करने से आपको कभी आर्थिक तंगी नहीं होगी। 
  • शनि खाना नंबर 11 में हो तो  जातक को कभी भी अपना मकान दक्षिण दिशा में नहीं बनवाना चाहिए। आपको अपनी उम्र के 55 साल के बाद ही अपना मकान बनवाना चाहिए । इसी तरह यदि शनि खाना नंबर 12 में हो तो मकान बनवाएं मगर ज्‍यादा दखल न दें। तब ही वह मकान आपको फलेगा। 

इसे जरूर पढ़ें: पैसों की हैं तंगी या नहीं हो रही शादी, अपनाएं कपूर से जुड़े ये 5 उपाय