बेशक पुराणों और शास्त्रों में महिलाओं को भगवान शनि देव को छूने और उन पर तेल चढ़ाने कि अनुमति न हो मगर, महिलाएं भगवान शनि देव को प्रसन्न रखने और उनका आशीर्वाद पाने के लिए कुछ बातों का ध्यान रख कर उनकी अराधना कर सकती हैं। आपका बता दें कि भगवान शनि सूर्य देवता के पुत्र हैं। उनके क्रोध से स्वयं उनके पिता भी नहीं बच सके थे। इसलिए लोगों में हमेशा इस बात का डर होता है कि भगवान शनि देव कहीं उनसे नाराज न हो जाएं। ऐसे में बहुत जरूरी है कि आप भगवान शनि देव की अराधना करते वकत इन 6 सावधानियों को जरूर बरतें। 

 इसे जरूर पढ़ें:शनि देव के ऐसे 5 मंदिर जहां दर्शन के लिए हमेशा होती हैं लम्बी लाइनें

बार्तन की धातु का रखें ध्यान 

अगर आप भगवान शनि देव की अराधना कर रही हैं तो आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उनकी पूजा सामग्री को आप को किस बर्तन पर रखना है। शनि देव की पूजा सामग्री को भूल से भी तांबे के बर्तन में न रखें। दरअसल, शनि देव अपने पिता सूर्यदेव से दूर रहते हैं और तांबा सूर्य देव की पूजा के दौरान इस्तेमाल किया जाता है। शनिदेव को धातुओं में लोहा अतिप्रिय है और इस लिए उनकी पूजा यहां तक की दीपक तक लोहे की धातु से बने दिए में ही जलाएं। महिलाएं भगवान शनि देव के सामने दीपक जला सकती हैं। मगर, उन्हें टच किए बिना। 

शनिदेव को प्रिय है यह रंग 

भगवान शनि देव के आगे दीपक जलाना जलाना शुभ होता है। अगर आप भी उनके आगे दीपक चाहती हैं तो आपको ऐसा करने से पहले खुद साफ सुथरा करना होगा। आप स्नान करके के साफ वस्त्र पहन कर ही ऐसा करें। भगवान शनि देव को साफ सफाई बहुत अधिक प्रिय है और इसी के साथ भगवान शनिदेव को काले और नीले रंग से बहुत प्रेम है। इसलिए अगर आप उनके पसंद के रंग वाले वस्त्रों में उनकी अराधना करेंगी तो यह आपको लाभ पुंचाएगा। 

इसे जरूर पढ़ें:ईश्‍वर पर है अटूट विश्‍वास तो मंदिरों से जुड़े इन रोचक सवालों का दें जवाब

shani ki puja kaise kare

दिशा का रखें ध्यान 

शनि देवे की पूजा के दौरान दिशा का खास ध्यान रखें। वैसे भगवान शनि देव की पूजा के लिए सबसे शुभ दिशा पूर्व की है। लेकिन आप वेस्ट की ओर मुख करके भी भगवान शनिदेव की पूजा कर सकती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि भगवान शनि देव को पश्चिम दिशा का स्वामी माना गया है। 

शनिदेव के दर्शन सिर झुका कर करें 

अमूमन देवी देवताओं के दर्शन करते वक्त या पूजा विधि निभाते वक्त हम उनके मुख की ओर देखते हैं। एकाएक हमारी आंखें भगवान की नजरों से मिल भी जाती हैं। मगर, जब आप भगव शनि देव के दर्शन करें तो ध्यान रखें कि आपको अपनी नजरें झुका कर ही उनकी पूजा करनी हैं। ऐसा केवल महिलाओं के लिए ही नहीं बल्कि पुरुषों के लिए भी हैं। ऐसा कहा गया है कि भगवान शनि देव की दृष्टि से अपकी दृष्टि मिलती है तो आपको उनके कोप का भागी होना पड़ता है। 

शनिदेव का भोग 

भगवान शनिदेव को अगर आप खुश करना चाहती हैं तो आपको उनके लिए हर शनिवार को काले तिल के लड्डू और खिचड़ी का भोग लगाना चाहिए। आप चाहें तो खाली काले तिल का भोग भी लगा सकती हैं।