साल 1945 से 16 अक्टूबर का दिन विश्वभर में World Food Day के नाम से जाना जाता है। विश्व खाद्य संगठन की रिपोर्ट में लिखा है कि दुनिया में हर सातवां व्यक्ति भूखा सोता है। विश्व में भूखा सोने वाले लोगों में भारत का नंबर 67वां है। सर्वे के मानें तो भारत का हर चौथा इंसान भूखा सोता है। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन की रिपोर्ट में लिखा है कि भारत में हर साल करोड़ो टन अनाज और सब्जियां बर्बाद होते हैं। विश्व खाद्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार 50 हज़ार करोड़ का खाना हर साल भारत में बर्बाद होता है अगर इस बर्बादी को किसी तरह से रोका जा सके तो भारत में कोई भूखा नहीं सोएगा। इसलिए ये जानना बहुत जरूरी है कि खाने को बर्बाद होने से कैसे रोका जाए। 

जितनी जरूरत हो उतना खाना बनाएं

खाना हमेशा उतना ही बनाना चाहिए जितने की जरूरत हो। ज्यादा खाना बनाएंगें तो वो बच जाएगा और बाद में आपको उसे फेंकना पड़ेगा। ज्यादातर लोग खाना खाते समय प्लेट में भी जरूरत से ज्यादा खाना परोस लेते हैं और जब पेट भर जाता है तो खाना छोड़कर टेबल से उठ जाते हैं यानि उनकी थाली में बचा हुआ खाना बर्बाद हो जाता है। ये आदत आप खुद भी बनाएं और अपने आसपास वालों को भी सीखाएं कि जितने खाने की जरूरत हो थाली में उतना ही खाना परोसें और खाना बनाते समय भी लोगों की भूख को ध्यान रखकर आप उनके लिए खाना बनाएं।

बचे हुए खाने को दोबारा भी इस्तेमाल कर सकते हैं 

अकसर लोग सुबह या रात का बचा खाना फेंक देते हैं। कई बार वो उसे खराब समझते हैं तो कई बार वो उसे खाकर ऊब चुके होते हैं इस वजह से वो उसे फेंक देते हैं। सुबह या रात के बचे खाने को आप दोबारा इस्तेमाल कर सकते हैं। रात की बची रोटी को सुबह ऑयल लगाकर खा सकते हैं नहीं तो दूध में डालकर खा लें ये हेल्दी भी होता है। इसी तरह रात की बची हुई सब्जियों को आटे में भरकर उसका परांठा बना सकते हैं, रात की बची दाल को आटे में गूंथ कर उसकी रोटी, पूरी या परांठा बनाकर खा सकते हैं। चावल को भी आप दोबारा इसी तरह इस्तेमाल कर सकत हैं।

NGO का नंबर रखें और पार्टी में बचा हुआ खाना उन्हें दें

भारत में ऐसे कई NGO हैं जो गरीब और जरूरतमंद लोगों के खाने के लिए काम करते हैं। Just Dial या Internet पर इनके नंबर आपको आसानी से मिल जाते हैं। अकसर लोगों के घर की बड़ी पार्टीयों में, फंक्शनों में खाना बच जाता है। लोग इस बात का ध्यान भी नहीं रखते कि खाना बचने के बाद कहां बर्बाद हुआ। जिन्हे इस बात के बारे में जानकारी होती है कि खाना बर्बाद हो रहा है उन्हे उसकी बर्बादी से फर्क नहीं पड़ता लेकिन आप ध्यान दें कि दुनिया में ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें आपके बचे हुए खाने की परवाह है और उनका पेट आपका बचा हुआ खाना भर सकता है। ऐसे लोगों तक खाना पहुंचाने के  लिए आप अगर खुद नहीं जा सकते तो ऐसी कई NGO हैं जिन्हे आप एक फोन कॉल करके बुला सकते हैं वो आपके घर से खाना भी ले जाएंगें और जरूरतमंद लोगों को खिला भी देंगे। 

बचा हुआ खाना किसी जरूरतमंद को दें

अकसर लोग बचे हुए खाने के बर्बाद कर देते हैं लेेकिन अगर आप अपने आसपास में देखेंगे तो कई ऐसे जरूरतमंद लोग हैं जिन्हे इनकी जरूरत है। अगर रात में खाना ज्यादा बन जाए तो आप उसे अपने घर काम करने वाले लोगों को दे सकते हैं और अगर उन्हें जरूरत ना हो तो घर से बाहर जाकर देखें कई ऐसे गरीब लोग हैं जो आज भी रात को भूखा सोते हैं। खाने की बर्बादी से बेहतर होगा कि आप उसे किसी जरूरतमंद को खाने के लिए दे दें।  

अनाज और सब्जियों को सही तरीके से स्टोर करें

अकसर लोग राशन में जरूरत से ज्यादा सामान खरीद लाते हैं और फिर उसे ठीक तरीके से स्टोर नहीं करते जिसकी वजह से वो बर्बाद हो जाता है। आटा, दाल, चावल, जैसे अनाज को सही से स्टोर ना किया जाए तो उनमे कीड़ा लग जाता है और अगर सब्जियों, फलों और ऐसे सामान को फ्रिज में ठीक से स्टोर ना किया जाए तो वो सड़ जाती हैँ। 

Read more: दिन में बने चावल से इस तरह से शाम में बनाएं फ्राईड राइस