गोवर्धन का त्योहार पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार जैसे भारत के कई राज्यों में मनाया जाता है। इस दिन भगवान कृष्ण की पूजा होती है उन्होंने गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी उंगली पर उठाकर वृंदावन के लोगों की बारिश और तुफान से उनकी जान बचायी थी। तब से भगवान कृष्ण को गोवर्धन पूजा के दिन 56 भोग लगाने की परंपरा है। खासतौर पर इस दिन शाही रबड़ी वाले मावा मालपुआ जरूर बनाएं जाते हैं। और इसे घर पर बनाकर भगवान कृष्ण को भोग लगाने के बाद सबको खिलाते हैं। इसे आप भी अपने घर पर बना सकते हैं।

शाही रबड़ी वाले मावा मालपुआ की सामग्री

खोया/ मावा- 250 ग्राम मैश किया हुआ 

मैदा- 200 ग्राम 

सूजी- 50 ग्राम 

चीनी- 1 किलो

देसी घी- 600 ग्राम 

ड्रायफ्रूट्स- मिक्स थोड़े से

शाही रबड़ी की सामग्री

दूध- 1 किलो

चीनी- 150 ग्राम

केसर- 8-10 पत्ते

इलायची- 5-6 ग्राम पाउडर 

ड्रायफ्रूट- बारीक कटे हुए पिस्ता और बादाम

शाही रबड़ी वाले मावा मालपुआ की विधि

शाही रबड़ी वाले मावा मालपुआ बनाने के लिए सबसे पहले आप मैदे, खोए और सूजी को मिक्स करें। 

अब इस मिश्रण को पानी डालकर नर्म गूंध लें। 

कड़ाही में देसी घी डालकर उसे गैस पर रखकर गर्म करें। 

अब गूंधे हुए मिश्रण की लोइयां बनाकर उसे गोल-गोल बेल लें। 

जब कड़ाही में घी गर्म हो जाए तब आप उसमें इसे एक-एक करके डालें और उसे दोनो तरफ से सुनहरा होने तक तलें। मालपुआ पक गए हैं इन्हें प्लेट में निकाल कर रख दें। 

चाशनी बनाने के लिए- एक पैन में 2-3 गिलास पानी डालकर उसे गर्म करें और उसमें 1 किलो चीनी डाल दें। एक तार बनने तक चाशनी को पकाएं। जब चाशनी पक जाए तब उसमें मालपुआ डालें। 

रबड़ी बनाने के लिए- एक कड़ाही में दूध डालें फिर इसमें चीनी डालकर इसे आधा घंटे तक धीमी आंच पर हिलाते हुए पकाएं। फिर इसमें इलायची पाउडल डालें। और ड्रायफ्रूट्स भी डालकर इसे थोड़ी देर तक पकाएं। दूध गाढ़ा होकर रबड़ी बन जाएगा। इसमें आप केसर भी डालें। रबड़ी को ठंडा करके आप इसे थोड़ी देर फ्रिज में जरूर रखें इससे इसका स्वाद और भी बढ़ जाएगा।

Read more: वेज़ सीख कबाब बनाने सीखें

ऐसे गार्निश करें

चाशनी में भीगे मालपुआ को एक प्लेट में डालकर उस पर ठंड़ी रबड़ी डालें। अब इस पर ऊपर से ड्रायफ्रूट्स डालकर इसे सर्व करें। 

Read more: राजस्थानी शाही मावा कचौड़ी बनाना सीखें