आपके गढ़वाली दोस्तों या आस-पड़ोस वालों के यहां आपने एक बार तो जरूर थिच्वाणी खाई होगी। दरअसल, थिच्वाणी गढ़वाल का पारंपरिक भोजन है। आपको सुनने में जरूर अलग लग सकता है, मगर यह असल में मूली का साग ही है। इसे कुछ लोग तरी वाली मूली भी कहते हैं। इसे बनाते वक्त मूली को पहले भूना जाता है, ताकि उसका तीखापन थोड़ा कम हो जाए और वह स्वाद में और बेहतर हो जाए। इसे बनाने के दौरान यह ध्यान रखना जरूरी होता है कि मूली को काटा नहीं जाता बल्कि बीट करते या कूटते हैं, जिसे स्थानीय भाषा में थींचना कहते हैं। इसे खूब चटपटा बनाया जाता है और इसका सूप भी पिया जाता है। अगर आपको हल्की-फुल्की सर्दी जुकाम हो, तो इसका सूप आपको राहत दे सकता है। पारंपरिक रूप से इसे भात (पका चावल) के साथ खाते हैं। कुछ लोग इसे सब्जी की तरह बनाते हैं। इस स्वादिष्ट रेसिपी को बनाने का तरीका जानना हो, तो यह आर्टिकल पूरा पढ़ें।

बनाने का तरीका

making mooli saag garhwali dish

  • मूली की थिच्वाणी बनाने के लिए आपको मूली के साथ 2-3 आलू की जरूरत भी पड़ेगी। सबसे पहले 3-4 मोटी-मोटी मूली को छीलकर अच्छी तरह धो लें। मूली को धोने के बाद एक तरफ रख दें, जिससे उसका पानी निथर जाए। अब मूली को अलग-अलग हिस्सों में बड़ा-बड़ा काट लें। अब इन टुकड़ों को क्रश या थींच लें। ध्यान रहे कि आपको मूली के छोटे-छोटे टुकड़े नहीं करने हैं। इसी तरह आलू को भी थींच लें।
  • अब एक कढ़ाही लें। उसमें दो चम्मच तेल डालकर गर्म कर लें। आधा छोटा चम्मच जीरा डालें और फिर -आलू डाल दें। दो मिनट आलू मीडियम आंच पर भून लें। अब इसमें थींची हुई मूली डालें और मूली को भी 3-4 मिनट भून लें। ध्यान रखें कि मूली और आलू को एकदम न पका दें।
  • इसमें अदरक और लहसुन डाला जाता है, मगर उसका पेस्ट डालने की बजाय उसे भी कूटकर डाला जाता है। इसके लिए एक कूटनी में 1 इंच अदरक, 3-4 कली लहसुन और 2-3 हरी मिर्चों को अच्छी तरह से कूट लें। इसे कढ़ाही में डालें और कुछ देर चलाने के बाद आंच को धीमा कर लें।
  • अब 2 बड़े टमाटर धोकर काट लें और इन्हें कढ़ाही में डालकर सभी चीजों को बराबर मिक्स कर लें। एक मिनट ढक्कन रखकर टमाटर को थोड़ी पकने दें। जब टमाटर पक जाएं तो उसमें हल्दी, धनिया, लाल मिर्च पाउडर, दो कूटी हुई सूखी लाल मिर्च और स्वादानुसार नमक डालें और सभी मसालों के साथ आलू और मूली को भून लें। इसे कुछ 3-4 मिनट पकने दें ताकि सभी मसाले मूली पर अच्छी तरह से बैठ जाएं।
  • अब इसमें दो ग्लास पानी डालें और तेज आंच पर लगभग 2 मिनट के लिए थड़कने या पकने दें। अगर पानी कम लगे तो आप जरूरत के हिसाब से पानी डाल सकती हैं। इसे ढककर 5-7 मिनट के लिए और पकाएं।
  • आपकी चटपटी मूली की थिच्वाणी एकदम तैयार है। बारीक कटी धनिया डालकर इसे गर्मागर्म चावल के साथ सर्व करें। यह डिश आपके परिवार को भी जरूर पसंद आएगी।

 

Image Credit : Cookwithaishwaryanegi

मूली की थिच्वाणी Recipe Card

घर पर बनाएं स्वादिष्ट मूली की थिच्वाणी और अपने परिवार के साथ इस रेसिपी का लें आनंद। इसे बनाने का पूरा तरीका जानें।

Total Time :
45 min
Preparation Time :
15 min
Cooking Time :
30 min
Servings :
4
Cooking Level :
Low
Course:
Main Course
Calories:
200
Cuisine:
Indian
Author:
Ankita Bangwal

सामग्री

  • 2-3 मीडियम आलू
  • 2-3 मीडियम मूली
  • एक इंच अदरक
  • 3-4 कली लहसुन
  • 2-3 हरी मिर्च
  • आधा कप तेल
  • दो बड़े टमाटर कटे हुए
  • एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर
  • एक छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • एक छोटा चम्मच धनिया पाउडर
  • दो कूटी हुई सूखी लाल मिर्च
  • दो कप पानी और नमक स्वादानुसार

विधि

Step 1
आलू और मूली को धोकर कूट या थींच लें। अब एक कढ़ाही में तेल गर्म कर आलू डालकर दो मिनट तक भून लें।
Step 2
अब इसमें मूली डालकर इसे भी भून लें। एक कूटनी में अदरक, लहसुन और हरी मिर्च डालकर कूट लें और इसे कढ़ाही में डालकर थोड़ी देर चलाएं।
Step 3
इसके बाद कटे हुए टमाटर डालें। एक मिनट चलाने के बाद इसमें सभी मसाले डालें और पकने के लिए ढककर रख दें।
Step 4
इसमें दो कप पानी डालकर तेज आंच पर पकने दें फिर इसे 5 मिनट के लिए ढककर और पकाएं।
Step 5
आपकी मूली की थिच्वाणी तैयार है। बारीक हरी धनिया से सजाकर सर्व करें।