बॉलीवुड में जब भी कोई स्टंट सीन शूट होता है, देखने वालों के जेहन में किसी स्ट्रांग स्टंट मैन की क्षवि सामने आती है, एक ऐसा स्टंट मैन जो कभी भी पहाड़ों से छलांग लगा सकता है, फुल स्पीड में अपनी बाइक को घुमा सकता है और जी हां जरूरत पड़ने पर ऊंची बिल्डिंग से छलांग लगाकर दूसरों की मदद भी कर सकता है। लेकिन यदि आपसे कहा जाए कि ये सारे काम एक महिला भी बखूबी कर सकती है, तो शायद आपको यकीन नहीं होगा।

लेकिन वास्तव में यह बात सच है कि बॉलीवुड में एक ऐसी महिला है जिसे स्टंट वूमेन के नाम से जाना जाता है। हम बात कर सही हैं बॉलीवुड की स्टंट वूमेन गीता टंडन के बारे में। आइए जानें गीता के जीवन से जुड़ी कुछ ख़ास बातें। 

कैसे आए ज़िन्दगी में उतार चढ़ाव 

geeta tandon story

गीता बताती हैं कि जब वो बहुत छोटी थीं तभी उनकी मां की मृत्यु हो गई। उनकी मां की मृत्यु के बाद से ही उनके जीवन का संघर्ष शुरू हो गया। कभी किसी रिश्तेदार के घर में काम करना और जितना काम करती थीं उतना ही पैसा मिलता था, गोबर उठाना, घास निकालना जैसे काम भी गीता ने अपने बचपन में किए। जब वो 13 या 14 साल की हुईं तभी सबने उनके पिता पर उनकी शादी के लिए दबाव डालना शुरू कर दिया। गीता एक टॉम बॉय की तरह थी और उनकी 14 साल की कम उम्र में ही शादी कर दी गई। गीता को लगा कि शादी के बाद उनका एक घर और दो वक्त की रोटी तो होगी, लेकिन शादी के बाद उनका जीवन और ज्यादा संघर्षों से भर गया। रोज़ -रोज़ मारने पीटने का सिलसिला शुरू हुआ और इसी बीच उनके दो बच्चे भी हुए। बच्चों के जन्म के बाद गीता को लगा कि उन्हें नई यात्रा की शुरुआत करनी चाहिए। 

इसे जरूर पढ़ें:HZ women's Day Special : एक महिला ही दूसरी महिला को आगे बढ़ने की प्रेरणा देती है

कैसे हुए नई जर्नी शुरू 

journey starts geeta

गीता अपने बच्चों की परवरिश अच्छे ढंग से और इस खराब माहौल से दूर रहकर करना चाहती थीं। इसलिए उन्होंने उस माहौल से बाहर निकलने का फैसला किया। उस समय लोगों ने उन्हें रोकने की बहुत कोशिश की और इसी तरह जीवन बिताने के लिए उन पर दबाव भी डाला। लेकिन गीता घर छोड़ने का फैसला और कुछ बड़ा करना का इरादा लेकर निकल गईं। गीता ने उस समय यही कहा " 50 रुपए में बिकने की जगह ज़िन्दगी में कुछ करूंगी। " गीता ने कभी भी दूसरी शादी के बारे में नहीं सोचा। गीता को कई तरह के लोगों ने गलत रस्ते पर जाने की सलाह दी। लेकिन गीता सबसे अलग करना चाहती थीं। 

इसे जरूर पढ़ें:जागरण न्यू मीडिया की हेल्थ एंड लाइफस्टाइल हेड मेघा मामगेन को मिला Best Business Head In Media Sector अवार्ड

कैसी बनीं बॉलीवुड स्टंट वूमेन 

bollywood stunt woman

गीता बताती हैं कि जीवन में कुछ करने के लिए कठिन परिश्रम बहुत जरूरी है। गीता इस प्रश्न के जवाब में थोड़ी इमोशनल हो गईं और उन्होंने कहा कि दुनिया में कुछ अच्छे लोग भी हैं लेकिन उन्हें कोई अच्छा नहीं मिला। गीता ने कई तरह के काम किये महिलाओं की मालिश की और घरों में रोटियां बनाईं। लेकिन अंत में उन्होंने ठान लिया कि किसी से दबने के जगह कठिन परिश्रम करूंगी और बहुत आगे जाएंगी। सबसे पहले गीता ने शादी में डांस करना शुरू किया। फिर बॉलीवुड में डांस करना शुरू किया। किसी ने उन्हें उस समय स्टंट वुमन बनने की सलाह दी और इस काम में पैसे भी थोड़े ज्यादा थे। इस काम में गीता का मुंह भी जला और उन्हें स्पाइन फ्रैक्चर भी हुआ। लेकिन गीता ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और बच्चों को अच्छी परवरिश दी। 

Recommended Video

कब किया पहला बॉलीवुड स्टंट 

एक सीरियल की शुरुआत में एक किले में केबल का शूट किया था। गीता को ससुराल छोड़ने के बाद से कभी किसी चीज़ से डर नहीं लगा। उन्हें लगता है कि डर के आगे जीत है और वो तब से आगे ही बढ़ती जा रही हैं। 

shell india ने बनाई उन पर मूवी 

stunt woman geeta

गीता के इतने प्रयासों को देखकर shell india ने उनके लिए एक कैम्पेन चलाते हुए एक मूवी भी बनाई है। जिसकी वजह से उन्हें बहुत सफलता मिली है। 

महिलाओं के लिए सन्देश 

गीता महिलाओं को सन्देश देते हुए कहती हैं " चलते चलो बहुत सी मुश्किलें आएंगी ,आग भी होगी, डरने की जगह आग की भाप लेकर आगे बढ़ो। डरना है तो कर्मों और खुदा से डरो। महिलाओं में बहुत ताकत है और हर काम को बखूबी निभा सकती हैं। " 

बॉलीवुड की स्टंट वूमेन गीता टंडन वास्तव में हम सभी के लिए प्रेरणास्रोत हैं और उनकी संघर्षों भरी कहानी हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit: Geeta Tandon#geetatandon (@geetastunt)