हमारे देश की महिलाओं ने हर एक क्षेत्र में अपना नाम रोशन किया है। शिक्षा हो या करियर हर जगह महिलाओं की पहुंच पुरुषों के बराबर ही है। देश की महिलाएं निरंतर आगे बढ़ती जा रही हैं और हम सभी के लिए प्रेरणास्रोत बनती जा रही हैं। ऐसी ही महिलाओं में से एक हैं हाल ही में एक बड़ा मुकाम हासिल करने वाली नीना सिंह, जिन्होंने राजस्थान पुलिस के इतिहास में पहली महिला पुलिस DG बनकर इतिहास कायम कर दिया है।

आईपीएस नीना सिंह को हाल ही में पहली महिला DG होने का सम्मान दिया गया है। आपको बता दें नीना सिंह राजस्थान पुलिस की पहली महिला आईपीएस भी रही हैं। आइए जानें कौन हैं नीना सिंह और इनसे जुड़ी बातें -

कौन हैं नीना सिंह 

नीना सिंह मूल रूप से पटना की निवासी हैं। वह वर्ष 1989 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं। पटना विमेंस कॉलेज से ग्रेजुएशन के बाद उन्होंने दिल्ली के जेएनयू से मास्टर्स किया। 1989 में यूपीएससी में उन्हें मणिपुर कैडर मिला और शादी के बाद इन्हें राजस्थान कैडर मिला। उसके बाद वो एक और मास्टर्स डिग्री के लिए यूके की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी गईं। नीना के पति रोहित कुमार सिंह राजस्थान के सीनियर IAS अफसर हैं।  

नीना सिंह की उपलब्धियां 

nina singh police officer

  • नीना सिंह अक्टूबर 2020 में पेशेवर उत्कृष्टता के लिए गृह मंत्रालय द्वारा अति उत्कृष्ट सेवा पदक प्राप्त करने वाली राजस्थान की पहली एडीजी स्तर की अधिकारी बनीं।
  • उन्होंने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई), नई दिल्ली में संयुक्त निदेशक के रूप में काम किया है। अपने कार्यकाल के दौरान, उन्होंने भ्रष्टाचार विरोधी, आर्थिक अपराध, बैंक धोखाधड़ी और खेल अखंडता से संबंधित कई हाई-प्रोफाइल मामलों की निगरानी की। वह पीएनबी घोटाले और नीरव मोदी सहित महत्वपूर्ण मामलों की जांच का हिस्सा रही हैं।
  • एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, वह राजस्थान राज्य महिला आयोग की सदस्य-सचिव भी थीं और उन्होंने महिलाओं के अधिकारों और हितों की रक्षा के लिए काम किया।
  • उन्होंने अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार विजेताओं, अभिजीत बनर्जी और एस्थर डुफ्लो के साथ शोध पत्रों का सह-लेखन भी किया है।

मिले हैं कई सम्मान 

  • नीना सिंह को राष्ट्रपति पुलिस पदक सहित विशिष्ट सम्मान मिल चुके हैं। नीना सिंह अपनी उत्कृष्ट कार्यशैली के लिए राजस्थान और देश में हमेशा चर्चित रही हैं। 
  • नीना सिंह 6 वर्ष तक CBI में Joint Director के पद पर रहीं और इस दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण केस सुलझाए।  

बनीं पहली महिला DG 

1989 बैच की आईपीएस अधिकारी नीना सिंह रविवार 1 अगस्त 2021  को राज्य में महानिदेशक (डीजी) रैंक हासिल करने वाली पहली महिला अधिकारी बन गई हैं। इससे पहले, अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) रैंक के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान, उन्होंने पिछले साल पेशेवर उत्कृष्टता के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा अति उत्कृष्ट सेवा पदक प्राप्त किया था। वास्तव में नीना सींग हम सभी के लिए प्रेरणास्रोत हैं और उनका ये जज्बा इस बात की मिसाल है कि अगर व्यक्ति ठान ले तो कोई भी काम मुश्किल नहीं है। 

Recommended Video

महिलाओं के लिए किये ये काम 

नीना सिंह शुरुआत से ही महिलाओं के प्रति काफी संवेदनशील रही हैं। राजस्थान में राज्य महिला आयोग की सदस्य सचिव रहते हुए नीना सिंह ने महिलाओं के लिए कई सुरक्षा प्रणालियां बनाईं। राजस्थान के महिला आयोग का प्रशासनिक ढांचा तैयार करने का श्रेय भी आईपीएस नीना सिंह को ही जाता है।   

इसे जरूर पढ़ें:Tokyo Olympics 2021: जानें हॉकी टीम से ओलंपिक के लिए क्वालीफाई होने वाली सुशीला चानू के जीवन से जुड़ी बातें 

इस प्रकार पुरुष प्रधान सोच को नकारते हुए नीना सिंह ने इस बात को सही साबित कर दिया है कि देश की महिलाएं भी हर एक काम में विजय हासिल करने का जज्बा रखती हैं और सभी को उनसे प्रेरणा लेने की जरूरत है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।