भारतीय महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलती हैं। आज के दौर में कोई भी क्षेत्र क्यों न हो महिलाएं अपना परचम लहरा रही हैं, ऐसा ही एक उदाहरण प्रस्तुत किया है क्रिकेट के क्षेत्र में भारतीय महिला मिताली राज ने।

मिताली राज ने क्रिकेट के क्षेत्र में एक शानदार उपलब्धि हासिल की है और वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10,000 रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बन गई हैं। यह उपलब्धि वास्तव में सराहनीय है और भारत की हर एक महिला के लिए प्रेरणादायी है। आइए जानें मिताली राज से जुड़ी कुछ ख़ास बातें। 

प्रारंभिक जीवन

mitali raj cricketer

मिताली राज का जन्म 3 दिसम्बर 1982 को जोधपुर, राजस्थान में हुआ था। उन्होंने 'भरतनाट्यम' नृत्य में भी ट्रेंनिग प्राप्त की लेकिन क्रिकेट के प्रति उनकी रूचि उन्हें क्रिकेट से दूर नहीं रख सकी और उनके नृत्य अध्यापक ने उसे क्रिकेट और नृत्य में से एक चुनने की सलाह दी और मिताली ने क्रिकेट को चुना।  उनके पिता धीरज राज डोराई राज बैंक में नौकरी करने के पूर्व एयर फोर्स में थे। वे स्वयं भी एक क्रिकेटर थे , उन्होंने मिताली को प्रोत्साहित करने के लिए हर संभव प्रयत्न किया। उसकी मां लीला राज ने भी बेटी को आगे बढ़ाने के लिए कई कुर्बानियां दीं। 

इसे जरूर पढ़ें:शतरंज चैम्पियन कोनेरू हम्पी ने जीता BBC स्पोर्ट्स वुमन ऑफ द ईयर का खिताब

कैसे बनाया क्रिकेट में करियर 

mitali raj story

मिताली राज ने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में पहली बार 1999 में हिस्सा लिया । यह मैच मिल्टन कीनेस, आयरलैंड में हुआ था जिसमें मिताली ने नाबाद 114 रन बनाए। उन्होंने 2001-2002 में लखनऊ में इंग्लैंड के विरुद्ध प्रथम टैस्ट मैच खेला। उन्होने 4 वर्षों के अंतराल के पश्चात जुलाई 2006 में मिताली राज के नेतृत्व में महिला क्रिकेट टीम ने पुनः इंग्लैंड का दौरा किया। हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मिताली ने 10,000  रन बनाए और सर्वाधिक रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला बल्लेबाज बन गई हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चल रहे तीसरे एकदिवसीय मैच में मिताली ने यह उपलब्धि हासिल की।

इसे जरूर पढ़ें:Women's Day Special: गीता टंडन हैं कुछ ख़ास, पढ़ें बॉलीवुड की स्टंट वूमेन की ये कहानी

Recommended Video

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बनाए सर्वाधिक रन 

mitali raj wins

मिताली राज सभी प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10,000 रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं। मिताली लखनऊ में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चल रहे तीसरे एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैच में मील के पत्थर तक पहुंची। ऐनी बॉश के आउट होने से पहले भारतीय वनडे कप्तान ने 36 रन बनाए। मिताली ने एकदिवसीय मैचों में 6974 रन बनाए हैं जबकि टी 20 आई में उनके नाम पर 2,364 रन हैं। 38 वर्षीय दाएं हाथ के बल्लेबाज ने 10 टेस्ट मैचों से 663 रन भी बनाए हैं। मिताली अब दूसरे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं जिन्होंने पूरे फॉर्मेट में 10,000 रन बनाए हैं। इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स एकमात्र महिला क्रिकेटर हैं जिन्होंने यह उपलब्धि हासिल की है।

लोगों ने दी बधाई

mithali raj cricket 

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने चैंपियन क्रिकेटर मितली को उनकी उपलब्धि पर ट्वीट करते हुए बधाई दी है। वहीं मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने भी मिताली को बधाई देते हुए ट्वीट किया है। उनकी इस जीत पर क्रिकेट के बड़े -बड़े दिग्गजों ने बधाई भरे मैसेज किये हैं। 

इस तरह की बड़ी उपलब्धि वास्तव में पूरे क्रिकेट जगत ही नहीं बल्कि सभी के लिए प्रेरणादायी है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: twitter @mithali raj