भारतीय महिला क्रिकेट टीम की स्टार स्मृति मंधाना आज किसी पहचान की मोहताज नहीं है। स्मृति ने अपने टैलेंट का डंका पूरे भारत में बजाया है। आज वे बेहतरीन क्रिकेट खिलाड़ियों की लिस्ट में शुमार में हैं। लेकिन क्या आपने कभी उनसे जुड़ी बातें जानने की कोशिश की है। बता दें कि महज 9 साल की उम्र में टीम में सेलेक्शन से लेकर इंडियन वीमेन क्रिकेट टीम की स्टार बनने तक उनका सफर बेहद ही उतार-चढ़ाव भरा रहा है। इसलिए आज हम आपको स्मृति मंधाना से जुड़ी कुछ रोचक बातें बताएंगे। चलिए जानते हैं स्मृति मंधाना के बारे में। 

 

क्रिकेट खेलने की इंस्पिरेशन फैमिली से मिली

smriti mandhana

स्मृति मंधाना के घर में उनके पिता, मां और भाई रहते हैं। लेकिन बता दें कि स्मृति मंधाना के पिता और भाई भी क्रिकेटर है। उनके भाई और पिता ने सांगली के लिए जिला स्तर पर क्रिकेट खेला है और स्मृति मंधाना को भी क्रिकेट खेलने के लिए इंस्पिरेशन अपने भाई से मिली है। दूसरे शब्दों में कहें तो क्रिकेट मंधाना के खानादान की रगो में बसा हुआ है। 

करियर की शुरुआत

smriti mandhana lesser known facts

स्मृति मंधाना को बचपन से ही क्रिकेट खेलने का शौक था। मजह 9 साल की उम्र में उन्हें  महाराष्ट्र की अंडर-15 टीम में चुना गया था। इसके बाद वह 11 साल की उम्र में अंडर -19 टीम के लिए चुनी गई थीं। लेकिन पहली सफलता उन्हें साल 2013 में डोमैस्टिक क्रिकेट में मिली और वह वन डे मैच में गुजरात के खिलाफ डबल सेंचुरी बनाने वाली पहली महिला क्रिकेटर बनी थी। 

इसके साथ ही स्मृति मंधाना ने सिर्फ नेशनल ही नहीं इंटरनेशन मैच भी खेले हैं। साल 2013 में उन्होनें बांग्लादेश के खिलाफ वनडे मैच खेला था। यहीं से उनके इंटरनेशन मैच खेलने की शुरुआत हुई थी। इसके बाद साल 2014 में स्मृति मंधाना ने इंग्लैंड के खिलाफ मैच खेला था। इसके बाद साल 2017 में दोबारा स्मृति मंधाना ने इंग्लैंड के खिलाफ खेलते हुए 90 रन बनाएं। उनके इस बेहतरीन बल्लेबाजी के बाद ही इंडियन वीमने क्रिकेट टीम वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची थी। 

इसे भी पढ़ें: स्मृति मंधाना 2019 आईसीसी महिला वनडे और टी20 टीम ऑफ द ईयर में हुई शामिल

स्मृति मंधाना की शिक्षा

smriti mandhana lesser known facts in hindi

स्मृति ने अपनी शुरुआती शिक्षा माधवनगर से पूरी की थी। बता दें कि स्मृति मंधाना को वर्ल्ड टी20 कप 2014 के लिए अपनी 12वीं की परीक्षा छोड़नी पड़ी थी। इसके बाद वह कॉलेज में भी नहीं जा पाई क्योंकि उन्हें इंग्लैंड दौरे के लिए जाना था। इसके अलावा स्मृति मंधाना 10वीं कक्षा के बाद साइंस की फील्ड में पढ़ना चाहती थी, पर उनकी मां ने उन्हें कॉमर्स लेने के लिए कहा, क्योंकि उन्हें लगता था कि स्मृति क्रिकेट खेलने के साथ-साथ पढ़ाई को बैलेंस नहीं कर पाएंगी। 

 इसे भी पढ़ें: आयरन क्वीन आशा रानी ने अपने बालों से खींची 12,216 किलो की गाड़ी, बनाया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

Recommended Video


क्रिकेटर कुमार संगकारा को करती हैं फॉलो

बता दें कि स्मृति मंधाना कुमार संगकारा को अपनी इंस्पिरेशन मानती हैं। अक्सर स्मृति को नेट में खेलने के दौरान कुमार संगकारा के खेलने के स्टाइल को कॉपी करते हुए देखा गया है। वह कुमारा संगकारा के खेलने के स्टाइल की इतनी कॉपी करती हैं कि उन्हें कोच द्वारा कई बार टोका गया है कि वह ऐसा न करें।

अरजीत सिंह है फेवरेट सिंगर

smriti mandhana intresting facts

हम सभी को गाने सुनना पसंद होता है और हम सभी अलग-अलग सिंगर्स को पसंद करते हैं, लेकिन बात करें मंधाना कि तो उन्हें अरजीत सिंह बेहद पसंद है। वह सिंगर्स में सिर्फ अरजीत सिंह के ही गाने सुनना ज्यादा पसंद करती है। हालांकि, अरजीत सिंह सिर्फ स्मृति के ही नहीं पूरे भारत की जनता के पंसदीदा सिंगर है। गाने सुनने के अलावा उन्हें किताबे पढ़ना , स्ट्रीट फूड खाना भी पसंद है। उन्हें सबसे ज्यादा भेल खाना पसंद है। 

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: Instagram.com