खुद पर विश्वास रखने वाली महिलाएं कुछ भी बदल सकती हैं। बहुत सी लड़कियां ऐसी हैं जो हर साल अपने सपनों को सच करने के लिए छोटे शहरों से बड़े शहरों में आकर बसती हैं। ऐसी ही एक लड़की थी सुचेता पाल। एक छोटे शहर की लड़की से लेकर भारत की ज़ुम्बा क्‍वीन तक, सुचेता ने एक ऐसी जर्नी शुरू की जो पुरुषों द्वारा अपरंपरागत और मुख्य रूप से कब्जा कर ली गई थी। 

वह अपनी आईटी की नौकरी करने के लिए मुंबई आई थी, लेकिन नियति ने उसके लिए कुछ और ही प्‍लानिंग बनाई थीं। एक बार उन प्‍लानिंग का खुलासा हो जाने के बाद सुचेता खुद को वह करने से नहीं कर रोक पाई, जो वह चाहती थी और उसमें से पेचेक का प्रबंधन भी करती थी।

हम में से बहुत से लोग केवल अपने जुनून का फॉलो करने और ऐसे जीवन जीने का सपना देखते हैं, लेकिन सुचेता पाल ने अपने सपने का फॉलो करते हुए सफल होने के लिए बहुत कुछ किया। इसलिए वह दूसरों को इंस्‍पायर करने वाली सही महिला हैं। आइए इस आर्टिकल के माध्‍यम से सुचेता की स्टोरी और उपलब्धियों पर एक नजर डालते हैं। जी हां हरजिंदगी से खास बातचीत में उन्‍होंने अपने जर्नी के बारे में कई रोचक बातें बताई।

जर्नी की शुरुआत

Sucheta Pal life journey

यहां नौकरी का मौका पाकर सुचेता रांची से मुंबई चली गई। लेकिन एक बार जब वह मुंबई चली गई तो वह अब आईटी प्रोफेशनल नहीं बनना चाहती थी। वह महिलाओं के फिटनेस ट्रेनिंग में डांस सीखना और अपने सपनों का पीछा करना चाहती थी। लेकिन दो साल तक उसने अपने पेरेंट्स को यह नहीं बताया कि यह सोचकर कि वे उससे क्या कहेंगे। उसने केवल उन्हें बताया कि यह केवल उसकी हॉबी था और वह इसे पार्ट-टाइम कर रही है।

इसे जरूर पढ़ें:सेक्‍स के मुद्दे पर बात करने से नहीं हिचकिचाती हैं अंजू किश, जानें इनकी सक्सेस स्टोरी

उसके बाद, जब उसने वास्तव में अपने पेरेंट्स को बताया कि वह जीवन में क्या चाहती है, तो उसे आश्चर्य हुआ क्‍योंकि उसके पेरेंट्स ने इसे बहुत सकारात्मक रूप से लिया और उसके सपने को आगे बढ़ाने के उस निर्णय का समर्थन किया।

करियर से जुड़ी बातें

Sucheta Pal life jouney

2010 से, सुचेता ने खुद को दुनिया भर के 17 देशों में प्रस्तुत किया है और इसके साथ ही, उसने 17+ लाइसेंस प्राप्त ट्रेनर्स और इन्स्ट्रक्टर को भी सिखाया है। बाद में 2012 में, वह संयुक्त राज्य अमेरिका से भारत लौटी और तब भारत को फिटनेस और ट्रेनिंग के लिए प्रेरित करने के लिए उत्सुक थी, विशेष रूप से महिलाएं को। 

उन्हें महिलाओं के कल्याण के लिए भारत के माननीय राष्ट्रपति से "फर्स्‍ट लेडी" पुरस्कार भी मिला है। इतना ही नहीं, बल्कि सुचेता को महिला और बाल विकास मंत्रालय द्वारा चयनित 112 महिलाओं में से 1 के रूप में भी चुना गया है, जिन्होंने बाधाओं को तोड़ दिया है और अपने क्षेत्र में पहले स्‍थान पर रही। सुचेता दुनिया भर में कई ब्रांडों के लिए टॉप फिटनेस प्रस्तुतकर्ता और वक्ता है।

Recommended Video

 

वह सेलिब्रिटी फिटनेस कोचिंग में भी रही हैं और उन्होंने गौरी खान, बिपाशा बसु, यामी गौतम आदि सेलिब्रिटी को ट्रेनिंग दी है। उनकी उपलब्धियों की लिस्‍ट यहीं समाप्त नहीं होती है, सुचेता का खुद का एक टीवी शो था जो ज़ूम टीवी पर प्रसारित होता था। साथ ही वह अन्य टीवी चैनलों जैसे एनडीटीवी गुड टाइम्स, टीएलसी माउंटन्स आदि से भी जुड़ी रही हैं।

वर्तमान जीवन

Sucheta Pal life jouney

38 साल की उम्र में, सुचेता ने एक बच्चे को जन्म दिया और अब वह मां है। महामारी और लॉकडाउन के कारण, सुचेता वर्तमान में बहुत सारी ऑनलाइन क्‍लॉसेस ले रही है, जहां वह अपने स्‍टूडेंट्स को ज़ुम्बा और डांस के माध्यम से फिटनेस लेने के लिए ट्रेन्‍ड करती है।

इसे जरूर पढ़ें:जानें कौन हैं मीनल खरे? इनकी कहानी है कई महिलाओं के लिए प्रेरणा

सुचेता वास्तव में एक बहुत मजबूत और शक्तिशाली महिला है जो अपने नियमों और शर्तों पर जीवन व्यतीत करती है और इसलिए यह साबित करते हुए कि किसी को उस रास्ते पर नहीं जाना चाहिए जहां रास्ता हो सकता है, बल्कि ऐसे जाना चाहिए जहां कोई रास्ता नहीं है और वह अपने निशान छोड़ दें। 

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसी ही और इंस्पायरिंग महिलाओं के बारे में जानने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।