अमेरिका दुनिया का सबसे प्रगतिशील देश है और उसके राष्ट्रपति को दुनिया के सबसे ताकतवर इंसान के रूप में देखा जाता है। अगर आपसे कहें कि इस बार 2020 में जो राष्ट्रपति के चुनाव होने वाले हैं उसमें कमला हैरिस डोनाल्ड ट्रंप को टक्कर दे रही हैं। ये कैलिफोर्निया से जूनियर यूएस सिनेटर (जैसे यहां सांसद होते हैं.) हैं। कमला अमेरिकी डेमोक्रेटिक पार्टी की सदस्य हैं और 2020 में राष्ट्रपति की रेस में शामिल हैं। उनकी मां भारतीय हैं और पिता जमैका से। 

बचपन से पढ़ाई में तेज़ और होनहार रही हैं कमला- 

कमला हैरिस का जन्म 1964 में कैलिफोर्निया में हुआ था। उनकी मां श्यामला गोपालन हैरिस ब्रेस्ट कैंसर साइंटिस्ट हैं, जो 1960 में ही अमेरिका चली गई थीं. पिता भी जमैका से अमेरिका 1961 में पहुंच गए थे। कमला और उनकी बहन माया को संस्कृत नाम दिए गए क्योंकि उनकी मां चाहती थीं कि उनके बच्चे भारतीय संस्कृति से जुड़े रहें। कमला के माता-पिता का तलाक तब हो गया था जब कमला 7 साल की थीं। उन्होंने अपनी मां से संघर्ष करना सीखा है। वो एक ऐसे स्कूल में जाती थीं जहां 95% लोग गोरे थे और रंगभेद से लड़कर कमला आगे बढ़ीं। कमला ने अपनी जिंदगी इसी के लिए लगा दी और वो अब भी अमेरिका में इसके लिए काम कर रही हैं। वो स्कूल के समय से ही फंडरेज़र कर रही हैं जो कम खुशकिस्मत लोगों के लिए पैसा इकट्ठा करने का काम करता है।  

इसे जरूर पढ़ें- इस ‘अमेरिकन चायवाली’ की कहानी है लाजवाब 

काबिल वकील और राजनीतिज्ञ हैं कमला- 

कमला ने पॉलिटिकल साइंस और लॉ की डिग्री ली है। ये एक अमेरिकी अटॉर्नी हैं, राजनीतिज्ञ हैं और डेमोक्रेटिक पार्टी की सदस्य हैं। 2010 में वो कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल चुनी गई थीं। 2014 में एक बार फिर वो चुनी गईं और 2016 में वो कैलिफोर्निया की सिनेटर बन गईं। पहली ब्लैक महिला जो अमेरिका में इस पद पर पहुंची हैं वो कमला ही हैं। कमला ने हर लड़ाई लड़ी है। वो Medicare-for-all आंदोलन को सपोर्ट कर रही थीं और उसके बाद DREAM Act पास करने में सफल रहीं। ये दोनों ही स्वास्थ्य सला और उससे संबंधित सेवाओं से जुड़े एक्ट रहे हैं। साथ ही, उन्होंने वर्किंग और मिडिल क्लास अमेरिकियों के टैक्स कम कर, अमीरों के टैक्स बढ़ाने के लिए भी काम किया।

Kamala Harris biography

धर्म के मामले में पारंगत- 

कमला की शादी कैलिफोर्निया के ही वकील डग्लस एमहॉफ से हुई है। वो यहूदी धर्म के हैं। ऐसे में देखा जाए तो कमला को कई धर्मों की जानकारी है। कमला की मां भारत के तमिलनाडु से थीं और हिंदू थीं, उनके पिता जमैकन ईसाई। कमला खुद बैप्टिस्ट ब्लैक चर्च में जाती हैं ऐसे में वो ईसाई धर्म की हैं। उनके पति यहूदी हैं। उनकी बहन माया भी पॉलिटिकल एनालिस्ट हैं। कुल मिलाकर पूरा परिवार  

Kamala Harris Family

जनवरी 2019 से ही वो राष्ट्रपति की दौड़ में शामिल हैं और जगह-जगह जाकर प्रचार कर रही हैं। वैसे तो इस दौड़ में डेमोक्रेटिक पार्टी की ही तुलसी गब्बार्ड भी शामिल हैं जो हिंदू हैं, लेकिन वो भारतीय नहीं हैं बल्कि वो कनवर्ट होकर हिंदू बनी हैं। 

Kamala Harris facts

क्या होगा अगर कमला हैरिस बनती हैं अमेरिकी प्रेसिडेंट- 

कमला हैरिस अल्पसंख्यकों के लिए काफी कुछ करती हैं ऐसे में अगर कमला अमेरिकी प्रेसिडेंट बनती हैं तो भारतीयों पर ट्रंप के लगाए हुए कई प्रतिबंध खत्म हो सकते हैं। ये वैसा अमेरिका बन सकता है जैसा बराक ओबामा के समय था। अभी भारतीयों को अमेरिकी वीज़ा मिलना मुश्किल हो गया है। कमला हैरिस अपने आप में काफी सशक्त महिला हैं और वो बहुत से लोगों को प्रेरणा दे सकती हैं। कोई ऐसा जो जिंदगी भर लड़ता रहा हो और संघर्ष करता रहा हो वो यकीनन काफी बुद्धीमान होगा। सबसे अच्छी बात तो यही लगती है कि वो भारतीय मूल की हैं। 

इसे जरूर पढ़ें- यूरोप और अमेरिका जाने के लिए 14000 में करें ट्रेवल, शुरू होने जा रही हैं ये सुविधा

अमेरिका में कब होंगे चुनाव?

अभी कमला को बहुत लंबी लड़ाई लड़नी है अमेरिकी प्रेसिडेंट बनने के लिए। अमेरिका में 2020 की शुरुआत में चुनाव होंगे और उस समय तक अगर वो टिकी रहीं तो ट्रंप से वन टू वन उनकी लड़ाई होगी। अब देखना ये है कि कमला किस हद तक आगे जाती हैं।

अगर वो राष्ट्रपति बन जाती हैं तो वो कई कीर्तिमान गढ़ देंगी जैसे वो पहली महिला राष्ट्रपति होंगी, वो पहली भारतीय मूल की अमेरिकी राष्ट्रपति होंगी, पहली जमैकन मूल की राष्ट्रपति होंगी। पहली ऐसी महिला होंगी जो अलग-अलग धर्मों की जानकारी रखती हैं और अमेरिकी राजनीति में इतने ऊंचे ओहदे में हैं।