हर साल हम अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को मनाते हैं और इस दौरान अलग-अलग ऑफिस में अलग-अलग तरह से महिलाओं को अच्छा महसूस करवाया जाता है, एनजीओ की तरफ से प्रोटेस्ट होते हैं, कई जगह महिला दिवस पर पार्टी होती है। कुल मिलाकर महिला दिवस काफी प्रोत्साहित करता है, लेकिन इस बार ये और भी ज्यादा अच्छा होने वाला है। इस बार भारत सरकार भी इसमें बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रही है और साथ ही साथ पूरे 10 दिन का खास कैम्पेन भी प्लान किया गया है।  

इस साल के कैम्पेन की थीम रहेगी 'Each for Equal' यानी हर कोई समान है। ये लैंगिक समानता के ऊपर आधारित है। ये पहली बार है जब केंद्र सरकार इस तरह की कोई पहल कर रही है।  

indian women celebrating international womens day

क्या प्लान किया गया है? 

महिला दिवस मनाने के प्लान में 10 दिनों का कैम्पेन शामिल है। इसमें टेड टॉक, वर्कशॉप, सेमिनार आदि का आयोजन किया जाएगा। देश की कई मिनिस्ट्री और रीजनल सेंटर में इस तरह के प्रोग्राम ऑर्गेनाइज होंगे। सरकार अपने हिसाब महिला सशक्तिकरण के लिए कदम भी उठाएगी।  

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- Women Achievers: भारत का नाम ऊंचा करने वाली महिलाओं के बारे में कितना जानती हैं आप? खेलें ये क्विज और जानें 

मार्च के पहले हफ्ते के 7 दिन अलग-अलग थीम में बांटे गए हैं। इसमें महिला सशक्तिकरण, शिक्षा, स्वास्थ्य और न्यूट्रीशन, कौशल एवं रोजगार, ग्रामीण महिलाएं और खेती, शहरी महिलाएं, खास काम (दिव्यांग, नॉर्थईस्ट, आदिवासी) आदि में इन्हें विभाजित किया गया है। इसमें महिला सशक्तिकरण थीम में ISRO की महिलाएं, पुलिस और सैन्य दलों में महिलाएं, माइनिंग, सुरक्षा और लीडरशिप में महिलाओं के लिए खास प्रोग्राम तैयार किए जाएंगे। 

international womens day in india 

महिला दिवस के दो दिन पहले यानी 6 मार्च को रूरल वुमेन यानी ग्रामीण महिलाओं के लिए खास थीम ऑर्गेनाइज होगी। इस दिन सर्वाइकल कैंसर पर आधारित प्रोग्राम किया जाएगा, इसके अलावा, आयुष्मान भारत के हिसाब से भी प्रोग्राम होगा, ऑर्गेनिक फूड प्रोसेसिंग, इन्वेंशन बाई वुमेन, कैश बेनेफिट्स और प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए कई स्कीम भी बताई जाएंगी। इसके अगले दिन शहरी महिलाओं के लिए इस तरह का प्रोग्राम होगा। उसमें महिला सुरक्षा अहम माना जाएगा।  

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का कहना है, 'ये पहली बार है जब सरकार इस तरह का प्रोग्राम कर रही है और महिला दिवस को इतने बड़े पैमाने पर मना रही है। हर मिनिस्ट्री के अपने अलग फंक्शन होंगे। सांसदों को भी महिला दिवस के मैसेज देने और ट्वीट करने की जिम्मेदारी है। ये 1 से लेकर 10 मार्च तक होगा। अलग-अलग प्रोग्राम्स के साथ-साथ महिलाओं के मुद्दे पर न्यूजपेपर आर्टिकल भी पब्लिश किए जाएंगे।' 

इसे जरूर पढ़ें- Exclusive Interview : 74 साल की निर्मला गोखले बनीं लोगों के लिए मिसाल, वायरल वीडियो में देखें कैसे सिखा रही हैं ट्रैफिक रूल्स

इसके लिए नॉर्थ, ईस्ट, नॉर्थईस्ट, साउथ और वेस्ट जोन निर्धारित किए गए हैं और हर ज़ोन के लिए 10 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। इसके लिए 15 राउंड टेबल डिस्कशन भी किए जाएंगे। 

साथ ही ये कैम्पेन कैसा रहा उसकी रिपोर्ट भी मिनिस्ट्री को 11 मार्च तक दी जाएगी।