आजकल स्मार्टफोन के अलावा कई ऐसे डिवाइस हैं जो हमारी जिंदगी का मुख्य हिस्सा बन चुके हैं। हर छोटी-बड़ी चीजों के लिए हम इन डिवाइस पर निर्भर हैं। उदाहरण के लिए पावर बैंक, जो डिवाइस को चार्ज रखता है। आप इसकी मदद से एक-दूसरे से कनेक्ट रहते हैं, क्योंकि जब भी फोन डिस्चार्ज हो हम पावर बैंक का इस्तेमाल कर इसे आसानी से चार्ज कर सकते हैं। मार्केट में आपको कई तरह के पावर बैंक मिल जाएंगे, जो चीप रेट में मिलते हैं।

हालांकि डिवाइसेस खरीदते वक्त जिस तरह आप दाम के साथ-साथ क्वालिटी चेक करते हैं, ठीक उसी तरह पावर बैंक खरीदते वक्त भी कुछ बातों का ध्यान जरूर रखें। दरअसल पावर बैंक के फीचर्स अगर अच्छे हैं तो यह लंबे समय तक चलते हैं। आइए जानते हैं पावर बैंक खरीदने के लिए किन-किन बातों का खास ध्यान रखना चाहिए।

कितने डिवाइस को कर सकते हैं चार्ज

charger port

अगर आप पावर बैंक खरीदने जा रही हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि यह एक साथ कई डिवाइसेस को चार्ज करें तो बेस्ट रहेगा। मार्केट में आपको अलग-अलग क्वालिटी के पावर बैंक मिल जाएंगे, जो अलग-अलग तरह के चार्जिंग पोर्ट के साथ आते हैं। अगर आप फोन के साथ-साथ टैबलेट या फिर लैपटॉप (लैपटॉप की सफाई) रखती हैं तो दो चार्जिंग वाला पोर्ट आपके लिए बेस्ट रहेगा। इससे आपका ना सिर्फ समय बचेगा बल्कि हर वक्त डिवाइस के जरिए काम या फिर लोगों से कनेक्ट रहेंगे।

बैटरी स्ट्रेंथ करें चेक

पावर बैंक की बैटरी स्ट्रेंथ कम से कम स्मार्टफोन जितनी जरूर होनी चाहिए या फिर उससे अधिक है तो बेस्ट है। इसके लिए सबसे पहले अपने फोन की बैटरी बैकअप की जानकारी रखें। वहीं अगर पावर बैंक का बैटरी बैकअप आपके फोन से ज्यादा है तो टैबलेट और लैपटॉप भी आसानी से चार्ज कर सकेंगे। इसलिए जब भी पावर बैंक खरीदें, बैटरी स्ट्रेंथ जरूर चेक कर लें। इसके अलावा यह भी ध्यान रखें कि पावर में ऑटो कट फीचर हो, इससे वो ओवरचार्ज नहीं होगा और ज्यादा दिन चलेगा।

इसे भी पढ़ें: फोन का हेडफोन जैक नहीं कर रहा काम तो आजमाएं ये ट्रिक्स

ब्रांडेड पावर बैंक ही खरीदें

brander power bank

डिवाइस लंबे वक्त तक चले, इसके लिए अच्छी क्वालिटी और ब्रांडेड पावर बैंक खरीदें। दरअसल ब्रांडेड पावर बैंक के फीचर्स को आप आसानी से चेक कर सकते हैं, लेकिन लोकल के फीचर्स का पता लगाना मुश्किल होता है। कम और सस्ते दाम के चक्कर में हम लोकल पावर बैंक खरीद लेते हैं। वहीं ब्रांडेड पावर बैंक वारंटी भी देते हैं, ऐसे खराब होने पर इसे रिप्लेस भी किया जा सकता है। इसके अलावा पावर बैंक में मौजूद एलईडी लाइट से भी आप पावर बैंक की क्वालिटी का पता लगा सकते हैं। एलईडी इंडिकेटर की मदद से बैटरी लेवल और चार्जिंग स्थिति का पता लगाया जा सकता है। इसलिए जब भी पावर बैंक खरीदें, यह चेक करें कि एलईडी इंडिकेटर की लाइट पूरी तरह से जल रही है या नहीं।

Recommended Video

सेफ्टी ऑप्शन को ना करें नजरअंदाज

बात जब मोबाइल चार्ज की हो तो सेफ्टी का खास ध्यान रखना चाहिए। कई स्मार्टफोन यूजर्स रात में सोते समय अपने फोन को चार्ज करते हैं, इससे समस्याएं उत्पन्न हो सकती है। कुछ पावर बैंक के अंदर लगे खराब क्वालिटी वाले पावर सेल ओवरचार्जिंग के कारण फट सकते हैं। यह आपके डिवाइस को ना सिर्फ खराब कर सकते हैं बल्कि दुर्घटना भी हो सकती है। इसलिए जब भी इसे खरीदने जाएं उच्च ग्रेड लिथियम-पॉलिमर बैटरी वाले पावर बैंक को ही खरीदें। हालांकि, लिथियम-पॉलिमर बैटरी वाले पावर बैंक महंगे होते हैं, लेकिन सुरक्षा के लिहाज से अन्य पावर बैंक की तुलना में यह बेहतर होते हैं।

इसे भी पढ़ें: WhatsApp मैसेज को बिना ओपन किए पढ़ने के लिए आप भी अपना सकती हैं ये आसान टिप्स

पावर बैंक की क्वालिटी करें चेक

power bank battery power

यह बहुत जरूरी है कि जब आप पावर बैंक खरीदने जाएं तो उसकी बिल्ड क्वालिटी को जरूर चेक कर लें। इसकी क्वालिटी ना केवल इसके फंक्शन को निर्धारित करती है बल्कि यह भी तय करती है कि इससे चार्ज किए जा रहे डिवाइस कितनी तेजी और सटीकता से एनर्जी ट्रांसफर करते हैं। अच्छी क्वालिटी का पावर बैंक डिवाइस को ना सिर्फ तेजी से चार्ज करता है बल्कि उसे सुरक्षित भी रखता है, लेकिन कम गुणवत्ता वाला पावर बैंक डिवाइस को अनुचित तरीके से चार्ज करेगा और उसे नुकसान भी पहुंचा सकता है।

जब भी नया पावर बैंक खरीदने जाए, यहां बताए गए जानकारी के अनुसार एक बार चेक जरूर कर लें। साथ ही, ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।