महिलाओं के लिए घर खरीदना सबसे चैलेंजिंग कामों में से एक होता है। अगर आप भी अपना घर खरीदने के बारे में सोच रही हैं तो जान लीजिए, कुछ ऐसी बातें, जिनसे आपको होम लोन मिलना हो जाएगा आसान। 

आमतौर पर घर खरीदना महिलाओं के लिए सबसे मुश्किल कामों में से एक होता है। आज के महंगाई के जमाने में घरों की बेतहाशा ऊंची कीमतों के मद्देनजर ज्यादातर मामलों में होम लोन के जरिए ही घर खरीदना मुमकिन हो पाता है। अगर आप भी बैंकों से होम लोन पाने के लिए मशक्कत कर रही हैं तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे तरीके, जिनके जरिए आपको होम लोन मिलने की राह आसान हो जाएगी-

1. बनाएं बेहतर क्रेडिट रिपोर्ट 

get home loan easily with these steps inside

अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड का बिल ड्यू डेट पर नहीं भर पातीं तो इससे आपको होम लोन मिलने में मुश्किल हो सकती है। यह आदत आप जितनी जल्दी सुधार लें, उतना आपके लिए बेहतर है। ऐसा नहीं होने पर आपका क्रेडिट स्कोर खराब हो सकता है। दरअसल देरी से क्रेडिट कार्ड बिल जमा होने से आपकी उधार लेने और चुकाने की क्षमता के बारे में नेगेटिव छवि बनती है। इससे यह इंप्रेशन जाता है कि आपके पास समय पर उधार चुकाने के लिए पैसे नहीं होते। 

Read more : सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करते हुए इन अहम बातों को जानें और उठाएं स्कीम का पूरा फायदा

2. चुका दें पुराने कर्ज 

अगर आपने कार लोन, पर्सनल लोन और इस तरह के कोई अन्य कर्ज लिए हैं तो होम लोन के लिए अप्लाई करने से पहले उन्हें चुका दें। इससे आपकी प्रोफाइल बेहतर बनेगी। होम लोन दूसरे लोन्स की तुलना में सस्ता लोन होता है। अगर आपने पहले से ही कई लोन ले रखे हैं तो बैंक आपको कम होम लोन देगा। नियम के अनुसार आपके सभी कर्जों की EMI ( मासिक किस्त ) आपकी मासिक आमदनी के 50 फीसदी से ज्यादा नहीं हो सकती।

3. चेक बाउंस ना हों

जब आप कोई लोन चुकाते हैं तो यह आपके बैंक स्टेटमेंट में नजर आता है। लोन देने वाला बैंक आपसे बैंक स्टेटमेंट मांगता है, ताकि वह तीन-छह महीने की बैंकिंग हैबिट को समझ सके। अगर आपके अकाउंट में कम बैलेंस के कारण कोई चेक बाउंस हुआ है या कोई पेमेंट टाइम पर नहीं हो पाई तो लोन देने वाला बैंक इसे नेगेटिव तरीके से देखता है। 

4. जरूरी दस्तावेज तैयार रखें

get home loan easily with these steps inside

होम लोन के लिए अप्लाई करते समय आपको कुछ खास दस्तावेजों जैसे कि पहचान और पते का प्रमाण पत्र, पिछले महीने का सैलरी स्लिप, फॉर्म 16, पिछले छह महीने का बैंक स्टेटमेंट आदि की जरूरत पड़ती है। इनके अलावा आपको होम लोन लेने के लिए प्रॉपर्टी से जुड़े दस्तावेज भी बैंक को देने होते हैं। इस दस्तावेजों की पहले से ही तैयारी करके रखें ताकि आगे की प्रक्रिया में आपको किसी तरह की परेशानी ना आए।

5. ऑफिस और निवास की जानकारी

बैंक आपकी इनकम, बैंकिंग आदतें और प्रॉपर्टी के कागजात के साथ यह भी देखते हैं कि आप कहां नौकरी करती हैं और कहां रहती हैं। अगर आप हर छह महीने या एक साल में जॉब बदलती हैं तो बैंक आपके  लोन चुकाने की क्षमता पर संदेह कर सकता हैं। इसके साथ ही अगर आप किसी एक इलाके में दो-तीन साल से अधिक नहीं रहतीं तो भी बैंक इसे नेगेटिव तरीके से देखता है।

Read more : पीएफ और पीपीएफ में क्या है फर्क और कितना फायदा होता है इनसे, जानिए

6. प्री-अप्रूव्ड लोन के लिए करें अप्लाई

अगर आप प्रॉपर्टी जल्द खरीदना चाहती हैं तो प्री-अप्रूव्ड होम लोन के लिए अप्लाई कर सकती हैं। आजकल बहुत से बैंक प्री-अप्रूव्ड होम लोन देते हैं। अगर आपको अपने बैंक से इस तरह का ऑफर मिल रहा है तो आप बैंक से इस बारे में बात कर सकती हैं। साथ ही आप दूसरे बैंकों से भी पूछताछ कर सकती हैं। आजकल कई बिल्डरों के साथ भी बैंक प्री अप्रूव्ड होम लोन के लिए करार करते हैं, जिसका आप फायदा उठा सकती हैं।

7. समझ लें लोन लेने की प्रक्रिया

जब भी आप होम लोन के लिए अप्लाई करें तो फोन, ईमेल और विजिट के लिए तैयार रहें। लोन देने वाले बैंक की बहुत सी प्रक्रियाएं आउटसोर्स होती हैं, जिस वजह से आपको कई तरह के वेंडर से बात करनी पड़ सकती है। वेंडर से डील करते हुए व्यवहार सही होना चाहिए नहीं तो उनकी तरफ से मिले नेगेटिव कमेंट आपका होम लोन रिजेक्ट हो सकता है। आपके अप्लाई करने के 4-8 दिन में आपका लोन मंजूर होता है। 

Read more : इंश्योरेंस से महिलाएं सुरक्षित कर सकती हैं अपना भविष्य, पोस्ट ऑफिस से भी कराया जा सकता है इंश्योरेंस

8. लोन से पहले ऑनलाइन रिसर्च है जरूरी

होम लोन लेने से पहले आपको ब्याज दर, सारी औपचारिकताओं और अन्य सुविधाओं (जीरो प्रोसेसिंग फीस आदि) के लिए ऑनलाइन रिसर्च जरूर करनी चाहिए। बाजार में आपकी जरूरत के हिसाब से होम लोन के कई बहुत उपलब्ध हैं। आपको सोच-समझकर होम लोन के लिए बैंक में अप्लाई करना चाहिए।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

सर्टीफाइड फाइनेंशियल प्लानर पंकज मठपाल बताते हैं, 'अधिकतर बैंक महिलाओं के लिए ब्याज की दरें पुरुष ग्राहकों के मुकाबले कम रखती हैं। हालांकि यह अंतर 0. 05 प्रतिशत से 10 प्रतिशत के बीच रहता है, लेकिन लंबी अवधि में यह फर्क कुल ब्याज और लोन की राशि पर बड़ा फर्क डालता है।' यानी खुद लोन के लिए अप्लाई करने पर आप 3-6 लाख रुपये आसानी से बचा सकती हैं।