भारत का ओडिशा राज्य समुद्री तट और कई बेहतरीन दर्शनीय स्थलों के लिए समूचे विश्व में प्रसिद्ध हैं। लगभग पांच सौ किलोमीटर लंबे समुद्र तट भी है, जिनमें से कुछ दुनिया के सबसे सुंदर समुद्र तटों में शामिल हैं। एशिया की सबसे बड़ी खारे पानी की झील 'चिल्का झील' भी इसी राज्य में मौजूद है। इसके अलावा प्राचीन, ऐतिहासिक और पवित्र जगन्नाथ मंदिर और कोणार्क सूर्य मंदिर भी इसी राज्य में मौजूद हैं।

उदयगिरी और खंडगिरी की गुफाएं भी ओडिशा में ही मौजूद है। भारत की प्राचीन और ऐतिहासिक गुफाओं में शामिल यहां हर साल लाखों पर्यटक घूमने के लिए जाते रहते हैं। भुवनेश्वर शहर से लगभग सात किलोमीटर की दूरी पर पहाड़ियों पर स्थित ये गुफाएं 350 ईस्वी पूर्व से भी प्राचीन मानी जाती हैं। आज इस लेख में हम आपको इन गुफाओं के बारे में करीब से बताने जा रहे हैं, तो आइए जानते हैं।

उदयगिरि और खंडगिरि गुफाओं का इतिहास

know udayagiri and khandagiri caves in odisha

भुवनेश्वर शहर में मौजूद इन गुफाओं का इतिहास गुप्त काल से भी प्राचीन का है। इतिहास के पन्नों पर नज़र डालें तो यह प्रतीत होता है कि जैन भिक्षुओं के रहने के लिए इन गफओं का निर्माण किया गया था। एक तरह उदयगिरि गुफा के अंदर में 18 गुफाएं/गुम्फा हैं, तो दूसरी तरह खंडगिरि गुफा में लगभग 15 गुफाएं/गुम्फा हैं। आपको बता दें कि इन प्राचीन गुफाओं की खोज पहली बार 19वीं शताब्दी में एक ब्रिटिश अधिकारी एंड्रयू स्टर्लिंग ने की थी। आज ये गुफाएं और इसके आसपास की जगहें सैलानियों के लिए एक बेहतरीन पर्यटक स्थल के रूप में काम करती है।

इसे भी पढ़ें: क्या आप जानती हैं कि ओडिशा की थाली में आपको क्या परोसा जाता है?

उदयगिरि गुफा के बारे में 

udayagiri caves in odisha

उदयगिरि गुफा पहाड़ी की दाई ओर मौजूद है। ये गुफा खंडगिरि की तुलना में अधिक सुन्दर और बेहतर मानी जाती है। कहा जाता है कि उदयगिरि गुफा जैन भिक्षुओं के गुरु का निवास स्थल हुआ करता था। उदयगिरि गुफा में कुल 18 गुफाएं हैं, जिनमें से रानी गुम्फा और बाजघर गुम्फा सबसे सुन्दर पर पवित्र मानी जाती हैं। इसके अलावा छोटा हाथी गुम्फा, अलकापुरी गुम्फा, पनासा गुम्फा और गणेश गुम्फा आदि ही बेहद प्रसिद्ध हैं। (भारत की रहस्यमयी गुफाएं)

Recommended Video

खंडगिरि गुफा के बारे में 

khandagiri caves in odisha

खंडगिरि की गुफा पहाड़ी की बाईं ओर मौजूद है। इस गुफा के आसपास मौजूद हरियाली पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। खंडगिरि गुफा के बारे में कहा जाता है कि यहां जैन धर्म के शिष्य रहते थे। खंडगिरि गुफा में कुल 15 गुम्फा हैं, जिनमें तातोवा गुम्फा, अनंत गुम्फा, ध्यान गुम्फा, अंबिका गुम्फा और नव मुनि गुम्फा आदि प्रमुख हैं। इस गुफा में 24 जैन तीर्थंकरों की मूर्तियां भी मौजूद हैं।

इसे भी पढ़ें: ओडिशा के 8 सबसे खूबसूरत समुद्र तटों के बारे में जानें

अन्य जानकारियां 

udayagiri and khandagiri caves history

उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं में पर्यटकों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह से लेकर शाम तक खुली रहती है। भारतीय पर्यटकों के लिए लगभग 15 रुपये, विदेशी पर्यटकों के लिए लगभग 300 रूपये हैं और 15 साल से छोटे बच्चों के लिए कोई भी टिकट नहीं है। यहां घूमने का सबसे अच्छा समय नवंबर और मार्च के महीनों के बीच माना जाता है।

आपको ये भी बता दें कि धौली हिल, रामचंडी बीच और चौसठ योगिनी मंदिर जैसी खूबसूरत जगहों पर भी घूमने के लिए जा सकते हैं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@sutterstocks)