मैसूर, कर्नाटक राज्य के दक्षिणी भाग में स्थित एक शहर है और यह सांस्कृतिक राजधानी होने के साथ-साथ कर्नाटक के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। यह 1399 से 1956 तक मैसूर साम्राज्य की राजधानी हुआ करता था, जहां वाडियार राजवंश का शासन था। इस दौरान कम ही समय के लिए लेकिन हैदर अली और टीपू सुल्तान यहां 1760 और 70 के दशक के बीच सत्ता में आए थे। चूंकि वाडियार कला और संस्कृति के संरक्षक थे, इसी कारण मैसूर को सांस्कृतिक राजधानी बनाया गया।

दिलचस्प बात यह है कि कई चीजों को मैसूर ने अपना नाम दिया है और वे चीजें दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं। इनमें से कुछ मशहूर चीजों में मैसूर पाक, मैसूर सिल्क साड़ी, मैसूर मसाला डोसा, मैसूर पेंटिंग आदि हैं। अगर ये सब जानकर इस शहर को घूमने का मन करे, तो इस आर्टिकल को पढ़कर जानें कि आप यहां कहां-कहां घूम सकते हैं।

मैसूर पैलेस

mysore palace

कर्नाटक में मैसूर के केंद्र में स्थित इस पैलेस का निर्माण वाडियार के राजा ने कराया था, जो देश की सबसे शानदार संरचनाओं में से एक है। इसे अंबा विलास के नाम से भी जाना जाता है। द्रविड़, पूर्वी और रोमन कला के अद्भुत संगम से बने इस महल का डिजाइन प्रसिद्ध ब्रिटिश वास्तुकार हेनरी इरविन ने तैयार किया था। स्लेटी रंग के पत्थरों से बने महल पर गुलाबी रंग के गुंबद इसकी खूबसूरती को बढ़ाते हैं। इसकी टाइमिंग सुबह 10 बजे से शाम 5:30 बजे तक है। 

फोकलोर म्यूजियम

folklore museum mysore

मैसूर में यह संग्रहालय लोक कला, शिल्प, संगीत, साहित्य और नाटक से संबंधित 6500 से अधिक कलाकृतियों को प्रदर्शित करता है। संग्रहालय की स्थापना 1968 में की गई थी और कर्नाटक की लोक कथाओं और विरासत के बारे में जानने के लिए इससे बेहतर जगह नहीं हो सकती है। उनकी प्रदर्शनी में मास्क, डॉल्स, पपेट्स, कई प्राचीन म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट, राजाओं, रानियों, भगवान और सिपाहियों के मिनिएचर, पारंपरिक बर्तन,आदि देख सकते हैं। यह म्यूजियम सोमवार से रविवार सुबह 8;30 बजे से शाम 6 बजे तक खुलता है।

ललिता महल पैलेस

lalitha mahal palace

यह महल मैसूर का दूसरा सबसे बड़ा महल है, जिसका निर्माण महाराज कृष्णराज वाडियार चतुर्थ ने करवाया था। कहा जाता है यह महल लंदन के सेंट पॉल कैथेड्रल की तर्ज पर बना हुआ है। वर्तमान में इसे भारत सरकार के पर्यटन विभाग ने पांच सितारा होटल में तब्दील कर दिया है। हालांकि इसका रॉयल एंबिएंस आज भी मेंटेन किया गया है। इस महल की बालकनी से बाईं ओर चामुंडी पहाड़ और महल के सामने मैसूर शहर का सुंदर दृश्य दिखाई देता है।

सोमनाथपुरा मंदिर

somanathapura mandir mysore

सोमनाथपुरा मंदिर कावेरी नदी के तट पर स्थित है। होयसल वास्तुकला के बेहतरीन स्मारकों में से एक, प्रसिद्ध प्रसन्ना चेन्नाकेशव मंदिर भगवान कृष्ण के तीन रूपों को समर्पित है। हालांकि इस मंदिर की मूर्तियां क्षतिग्रस्त होने के कारण यहां पूजा-अर्चना नहीं की जाती है। इस मंदिर की दीवारें रामायण, भागवत पुराण और महाभारत किंवदंतियों और आध्यात्मिक कहानियों को दर्शाती हैं। 

इसे भी पढ़ें :नेपाल के पोखरा में घूमने के लिए हैं कई दिलचस्प जगहें, आप भी जानें

चामुंडेश्वरी मंदिर

chamundeshwari mandir mysore

यह चामुंडी पहाड़ियों की चोटी पर स्थित है। इस मंदिर का नाम शक्ति के उग्र रूप चामुंडेश्वरी के नाम पर रखा गया ता। इसे कर्नाटक के स्थानीय लोग नादा देवी कहकर बुलाते हैं, जिसका मतलब है राज्य की देवी। कहा जाता है कि चामुंडी चोटी पर देवी दुर्गा ने महिषासुर का अंत किया था। यहां कई सारे लोकप्रिय उत्सव मनाए जाते हैं। आषाढ़ के महीने में यहां चामुंडी जयंती के नाम से भी एक उत्सव मनाया जाता है। अगर आप मैसूर जाएं तो इस भव्य मंदिर के दर्शन करना न भूलें।

इसे भी पढ़ें :कर्नाटक से जुड़े कुछ अमेजिंग फैक्ट्स जानिए

देवराज मार्केट

devaraj market mysore

यह मैसूर में स्थित एक बड़ा बाजार है, जिसका निर्माण 1886 में किया गया था। इसका नाम सन 1925 में डोडा देवराज वाडियार के नाम पर रखा गया था, इसलिए इसे डोडा बाजार के नाम से भी जाना जाता है। इस बाजार में 1100 से ज्यादा दुकानें हैं और आप यहां फूल, फल, कुमकुम, मसाले, सिल्क की साड़ियां, एसेंशियल ऑयल्स आदि सब कुछ पा सकते हैं। यहां स्थित मिठाई की दुकानों से आप फेमस मैसूर पाक का स्वाद ले सकते हैं।

Recommended Video

कैसे पहुंचे मैसूर

दिल्ली से मैसूर पहुंचने का सबसे बेहतर तरीका है कि आप दिल्ली से बैंगलोर के लिए डायरेक्ट फ्लाइट ले सकते हैं। इसके बाद आपको बैंगलोर से बस या टैक्सी करनी पड़ेगी। चूंकि मैसूर का अपना कोई हवाई अड्डा नहीं है, तो आप दिल्ली से मैसूर के लिए सीधी फ्लाइट नहीं ले सकते हैं और इसलिए आप डायरेक्ट या कनेक्टिंग फ्लाइट्स के जरिए मैसूर पहुंच सकते हैं।

बस, अब अपनी कुर्सी की पेटी बांध निकल चलिए एक नए सफर के लिए, जहां आप बहुत मजा कर सकेंगे। इस आर्टिकल को दूसरों तक पहुंचाने में हमारी मदद करें और आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक करें। ऐसी ही रोचक जगहों के बारे में जानने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

 

Image Credit : unsplash.com, keralafolkloremuseum.org, yatra.com, wikipedia.com, treebo.com