कर्नाटक राज्य भारत के मैप पर एक सुंदर छाप छोड़ता है। एक ओर, राज्य के चारों ओर खूबसूरत हरियाली के साथ हिल स्टेशन पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। वहीं दूसरी ओर, राज्य के कई हिस्सों में ऐतिहासिक कलाकृतियाँ और संरचनाएं लोगों का ध्यान आकर्षित करती हैं। कर्नाटक राज्य हमारे देश के मौजूदा पारंपरिक गुणों के साथ वैश्वीकरण का एक आदर्श मिश्रण है। बेंगलुरु के आईटी हब से लेकर महाराजाओं के मैसूर पैलेस तक, कर्नाटक में कई अनसुलझे तथ्य हैं जो आपको हैरान कर देंगे। यह एक ऐसा राज्य है, जहां सिर्फ भारत के विभिन्न हिस्सों से ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया से लोग घूमने आते हैं। हो सकता है कि आपने भी इस राज्य का दौरा किया हो या फिर घूमने का प्लॉन कर रही हों। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कर्नाटक राज्य से जुड़े कुछ बेहद इंटरस्टिंग फैक्ट्स के बारे में बता रहे हैं, जो यकीनन आपको भी काफी पसंद आएंगे-

Karnataka travel tips in hindi

यहां रानी चेन्नम्मा ने किया अंग्रेजों का मुकाबला

कर्नाटक का इतिहास देश को एक ऐसी रानी की बहादुरी की कहानी प्रदान करता है, जिसने रानी लक्ष्मीबाई के उदय से दशकों पहले ब्रिटिश औपनिवेशिक सत्ता से लड़ाई लड़ी थी। रानी चेन्नम्मा, जिसे कित्तूर चेन्नम्मा के नाम से भी जाना जाता है, पूर्व रियासत कित्तूर की रानी थी। उन्होंने ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ एक सशस्त्र विद्रोह का नेतृत्व किया और कप्पा टैक्स का विद्रोह किया।

इसे जरूर पढ़ें: जानिए दक्षिण भारत में स्थित ऐसे गांव के बारे में जहां सिर्फ संस्कृत में की जाती है बात!

Karnataka amazing facts

विभिन्न भाषाओं का घर

कर्नाटक राज्य 13 अलग-अलग भाषाओं का मेजबानी करता है जैसे कि तुलु, कोंकणी, कोडवा और बेरी आदि। राज्य के भीतर व्यापक रूप से बोली जाने वाली कुछ बोलियाँ हैं जिनमें कन्नड़ सर्वोपरि है।

Karnataka amazing facts in hindi

ज्ञानपीठ पुरस्कारों का घर

क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि कर्नाटक राज्य प्रतिष्ठित ज्ञानपीठ साहित्यिक पुरस्कारों की अपनी जीत को बनाए रखता है, जिसमें राज्य से नामांकित अधिकतम पुरस्कार विजेता हैं। कर्नाटक ने कुल 8 ज्ञानपीठ साहित्यिक पुरस्कार जीते हैं।

कर्नाटक ने पहले प्राइवेट रेडियो सेट को होस्ट किया

कर्नाटक सिंगल कमर्शियल रेडियो स्टेशन की स्थापना करने वाले पहले राज्यों में से एक था। 2001 के वर्ष में, रेडियो सिटी 91.1 एफएम पहली बार बैंगलोर शहर में सुना गया था। वर्तमान में, रेडियो स्टेशन में 50 से अधिक चैनल चल रहे हैं।

इसे जरूर पढ़ें: सिरसी का सहस्रलिंग तीर्थ: जहां नदी के भीतर मौजूद हैं हजारों शिवलिंग

Karnataka facts

पहले मैसूर राज्य के रूप में जाना जाता था

 कर्नाटक राज्य का अपनी स्थापना का एक लंबा इतिहास है, जिसमें यह पता चलता है कि इस लैंड का निर्माण 1 नवंबर 1956 की तारीख को हुआ था और इसे पहले ’मैसूर राज्य’ के रूप में जाना जाता था। 1973 में ही इसका नाम संशोधित किया गया था और अब लोग इसे कर्नाटक के नाम से जानते हैं।  

Karnataka facts in hindi

देश का सबसे बड़ा कॉफी एक्स्पॉर्टर

कर्नाटक देश का सबसे बड़ा कॉफी एक्स्पॉर्टर है। खूबसूरत चाय बागानों के साथ, कर्नाटक राज्य में भी बड़ी संख्या में कॉफी उपभोक्ता हैं। इस लिहाज से भी कर्नाटक देश में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है।

Amazing facts about Karnataka

केवल यहां होता है खादी ध्वज का निर्माण

कर्नाटक खादी ग्रामोद्योग संयुक्त संघ (केकेजीएसएस) के पास भारत के ध्वज के निर्माण और आपूर्ति के लिए विशेष अधिकार और प्राधिकरण है। इस संघ की स्थापना 1957 में हुई थी।

Amazing facts about Karnataka in hindi

भारत के सबसे पुराने अस्पतालों में से एक

आज भले ही हॉस्पिटैलिटी के मामले में भारत किसी से कम नहीं है। लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ है कि कर्नाटक में भारत के सबसे पुराने अस्पतालों में से एक स्थित है। विक्टोरिया अस्पताल का औपचारिक उद्घाटन 8 दिसंबर, 1900 को भारत के वायसराय और लॉर्ड कर्जन द्वारा किया गया था। इस अस्पताल का निर्माण महारानी विक्टोरिया के 60 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में किया गया था।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।