• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

नवरात्रि में मां दुर्गा के इस मंदिर में मांगी मुरादें हो जाती हैं पूरी, आप भी पहुंचें

इस लेख में उस मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जहां सच्चे दिल से मांगी सभी मुरादें हो जाती हैं पूरी। आप भी नवरात्रि में पहुंचें।
author-profile
Published -19 Sep 2022, 15:39 ISTUpdated -19 Sep 2022, 16:20 IST
Next
Article
know all about maa brahmacharini temple

हिन्दू धर्म में मां दुर्गा सबसे पूजनीय देवी में से एक हैं। भक्तों के लिए मां दुर्गा कष्ट हरणी, पाप नाशनी आदि कई शक्तियों के रूप में पूजनीय हैं। नवरात्रि के पावन दिनों में भक्त मां दुर्गा के दर्शन के लिए फेमस और प्राचीन मंदिरों में भी दर्शन करने के लिए पहुंचते हैं। 

इस लेख में हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जहां जो भी भक्त सच्चे मन से दर्शन करने के लिए जाता है उनकी सभी मुरादें पूरी हो जाती हैं। आइए इस मंदिर के बारे में में जानते हैं। 

मां ब्रह्मचारिणी दुर्गा का मंदिर 

maa brahmacharini temple history 

जी हां, जिस मंदिर के बारे में हम आपसे जिक्र कर रहे हैं उस पवित्र मंदिर का नाम है 'मां ब्रह्मचारिणी दुर्गा का मन्दिर'। यह पवित्र और फेमस मंदिर किसी और स्थान नहीं बल्कि भारत की पवित्र नगरी यानी वाराणसी में है। कहा जाता है कि मां दुर्गा की नवशक्ति का दूसरा स्वरूप ब्रह्मचारिणी है।

इसे भी पढ़ें: IRCTC Tour: नवरात्रि में वैष्णो देवी के दर्शन के लिए 3 बेहतरीन टूर पैकेज, पढ़ें पूरी जानकारी

मां ब्रह्मचारिणी दुर्गा की पौराणिक मान्यता 

मां ब्रह्मचारिणी मंदिर की पौराणिक कथा बेहद ही रोचक है। उनके बारे में कहा जाता है कि वो हिमालय पर्वत और मैना की पुत्री थी। भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए उन्होंने अभूतपूर्व तपस्या की थी।

मां ब्रह्मचारिणी के बारे में यह भी कहा जाता है कि कई वर्षों तक तपस्या करने के कारण उनका शरीर क्षीण हो गया था और इस तपस्या को देवताओं और ऋषि-मुनियों ने भी अद्वितीय बताया था।

एक अन्य पौराणिक कथा है कि उन्होंने वर्षों तक फल-फूल खाकर और जमीन पर रहकर घोर तपस्या की थी। (दुर्गा पूजा के लिए फेमस हैं कोलकाता की ये जगहें)

सुबह से ही लग जाती हैं भक्तों की भीड़ 

maa brahmacharini temple in hindi

काशी के गंगा किनारे बालाजी घाट पर स्थित मां ब्रह्मचारिणी दुर्गा मंदिर में भक्तों की भीड़ सुबह से ही लग जाती हैं। खासकर नवरात्रि के दिनों में भक्त लोग 2 बजे रात से ही दर्शन के लिए प्रसाद लेकर लाइन में लग जाते हैं।

नवरात्रि के दिनों में यहां कई कार्यक्रम का भी आयोजन होता है। कहा जाता है कि काशी में रामलीला का भी आयोजन होता है। मान्यता है कि जो भी भक्त सच्चे मन से मां की पूजा करते हैं तो उनकी मुरादें पूरी हो जाती हैं।

मां ब्रह्मचारिणी मंदिर कैसे पहुंचें?  

know about maa brahmacharini temple

भारत के किसी भी शहर से आसानी से मां ब्रह्मचारिणी मंदिर पहुंचा जा सकता है। इसके लिए मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, दिल्ली आदि किसी भी शहर से ट्रेन के माध्यम से वाराणसी रेलवे स्टेशन पहुंच सकते हैं। वाराणसी रेलवे स्टेशन में आप टैक्सी या कैब लेकर आसानी से मंदिर पहुंच सकते हैं। (वाराणसी में घूमने की जगहें)

अगर आप हवाई सफर से मां ब्रह्मचारिणी मंदिर पहुंचना चाहते हैं तो सबसे पास में लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। यहां से आप टैक्सी या कैब लेकर मंदिर घूमने के लिए जा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: नवरात्रि में मां दुर्गा के इन 8 मंदिरों में आप भी दर्शन करने पहुंचें, मुरादे होंगी पूरी

वाराणसी में रुकने की लिए जगहें 

वाराणसी में ठहरने के लिए एक से एक बेहतरीन होटल या गेस्ट हाउस मिल जाएंगे। मोहित पेइंग गेस्ट हाउस, बुद्धा गेस्ट हाउस, यात्री निवास, ओम गेस्ट हाउस जैसे होटल में आप 300-400 के अंदर कमरे बुक कर सकते हैं।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@googleusercontent,.wp.com)

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।