भारत में कई ऐसी जगहें हैं, जिन्हें काफी रहस्यमयी बताया जाता है। यहां की परंपरा और लोगों के रहन-सहन अन्य दूसरे लोगों को आश्चर्य में डालते हैं। इन जगहों की सच्चाई आज भी लोगों के सामने नहीं आ सकी है। इसी कड़ी में आज एक ऐसी जगह के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं, जिसे काला जादू का गांव बताया जाता है। यहां के लोग विरासत में अपने बच्चों को काले जादू का ज्ञान देते हैं। हम बात कर रहे हैं असम की राजधानी गुवाहाटी से 40 किलोमीटर दूर स्थित मायोंग गांव की।

ऐसा कहा जाता है कि मायोंग गांव के लोग काला जादू का उपयोग समाज की रक्षा के लिए करते हैं। काले जादू के लिए मशहूर इस जगह को लेकर ऐसी कई बातें कहीं जाती हैं, जिस पर विश्वास करना काफी मुश्किल है। तो चलिए जानते हैं इस गांव से जुड़ी कुछ ऐसी दिलचस्प बातों के बारे में, जिसकी जानकारी हर किसी को नहीं हैं।

काला जादू का गढ़ है ये गांव

mayong in assam

मायोंग गांव को काला जादू का गढ़ माना जाता है, यहां के लोगों को इंसान से जानवर बनाने की कला मालूम है। यही नहीं ऐसा भी कहा जाता है कि अपनी जादुई शक्ति से लोगों को यहां हवा में गायब कर दिया जाता है। इन्हीं रहस्यमय बातों के कारण यात्री यहां आना पसंद करते हैं। एडवेंचर के शौकीन लोग इस जगह को एक्सप्लोर करना पसंद करते हैं। हालांकि, इस जगह को काला जादू के अलावा प्राकृतिक खूबसूरती की वजह से काफी पसंद किया जाता हैं। इस गांव से जुड़ी ऐसी कई कहानियां हैं, जिसका अनुसरण आज भी वहां के लोग करते हैं। 
 

मायोंग गांव से जुड़ा इतिहास

प्रारंभिक आधुनिक काल तक इस गांव में शक्ति पूजा की जाती थी, जहां लोगों की बलि दी जाती थी। मायोंग गांव का इतिहास महाभारत से जुड़ा है। ऐसा कहा जाता है कि ये गांव भीम के बेटे घटोत्कच का है। उसे इस गांव का राजा माना जाता है। वहीं मायोंग का नाम संस्कृत शब्द माया से पड़ा है, जिसका अर्थ भ्रम होता है। इसके अलावा कुछ लोग यह भी मानते हैं कि मणिपुर के मोइरंग के मूल निवासी इस गांव में बसे हुए थे, जिसके कारण इसे मायंक(मायोंग) कहा जाने लगा। इस गांव में जाते ही यात्रियों को काला जादू से जुड़ी कहानियां सुनने को मिल जाएंगी। यही नहीं यहां के लोग तांत्रिकों का होने का दावा करते हैं, जो मंत्रों के सहारे से खोई हुई चीजों को ढूंढ लेते हैं।

मायोंग घूमने का प्लान बनाएं

mayong assam

अविश्वसनीय जादू के टोटके और अजीब कहानियों को सुनने के अलावा आप यहां कई चीजें एक्सप्लोर करते सकते हैं। मायोंग अभी भी उन जादूगरों का घर है, जिन्हें मंत्रों के जरिए ना सिर्फ काला जादू बल्कि आयुर्वेद, हस्तरेखा और भविष्यवाणी का ज्ञान है। इन सभी चीजों में रुचि रखते हैं तो इस गांव में घूमने जरूर आएं। यह प्राचीन भूमि वन्य जीवन में भी समृद्ध है। मायोंग के लोग अपनी इस कला पर गर्व करते हैं। यही नहीं यहां पर Mayong Black Magic And Witchcraft नामक संग्रहालय भी है, जिसे गुवाहाटी में सहेज कर रखा गया है। खास बात है कि इस संग्रहालय को नेशनल जियोग्राफिक ने दुनिया के 10 अनोखे म्यूजियम की लिस्ट में रखा है। मायोंग से नजदीक पोबितोरा वन्यजीव अभयारण्य भी है, जो यात्रियों के लिए आकर्षण का केंद्र हैं। गांव में ट्रैकिंग और कई वॉटर स्पोर्ट्स हैं जिसका लुत्फ़ यात्री उठा सकते हैं।
 

Recommended Video

कैसे पहुंचे मायोंग गांव

मायोंग गांव पहुंचने के लिए आपको गुवाहाटी आना होगा। इसके लिए आप ट्रेन या फिर फ्लाइट दोनों का सहारा लें सकते हैं। गुवाहाटी से कई लोकल गाड़ियां या फिर बस मिल जाएंगे, जो आपको मायोंग गांव तक छोड़ देंगे। वहीं रोमांच और ऐसी रहस्यमयी कहानियों में दिलचस्पी रखती हैं तो इस गांव को घूमने का प्लान बना सकती हैं।

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। साथ ही, आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें कमेंट कर जरूर बताएं और इसी तरह के अन्य आर्टिकल के लिए जुड़ी रहें हर जिंदगी के साथ।