क्या आप कभी कोलकाता गए हैं ? यदि हां तो कोलकाता की सबसे खूबसूरत चीज़ क्या लगी ? मुझे तो जब भी कोलकाता का जिक्र होता है एक ही चीज़ याद आती है और वो है कोलकाता का हावड़ा ब्रिज। वास्तव में अपनी अद्भुत खूबसूरती की वजह से कोलकाता की सबसे ख़ास जगहों में से एक ये ब्रिज न सिर्फ अपनी खूबसूरती को प्रस्तुत करता है बल्कि लोगों के बीच मुख्य आकर्षण का केंद्र भी है जिसे देखने विदेशों तक से पर्यटक आते हैं।

आखिर क्या ख़ास है इस हावड़ा ब्रिज में और क्यों इसकी अद्भुत खूबसूरती अपनी और आकर्षित करती है। आइए जानें हावड़ा ब्रिज से जुड़ी कुछ ऐसी रोचक बातें जो आपने पहले नहीं सुनी होंगी। 

बिना नट बोल्ट के बना पुल 

hawra bridge facts

हावड़ा ब्रिज एक कैंटिलीवर पुल है जो पश्चिम बंगाल में हुगली नदी पर फैला है। यह एक ब्रैकट ब्रिज एक कैंटिलीवर का उपयोग करके बनाया गया है, संरचनाएं जो क्षैतिज रूप से अंतरिक्ष में प्रोजेक्ट करती हैं, केवल एक छोर पर समर्थित हैं। दूर से देखने में इस ब्रिज की संरचना किसी गणितीय संरचना को प्रस्तुत करती है। सामान्यतः कोई भी ब्रिज कई खम्बों पर टिका होता है लेकिन यह एक ऐसा पुल है जो केवल चार खम्बों पर टिका हुआ है जिसमें दो नदी के इस तरफ और दो नदी के उस तरफ दिखाई देते हैं। पुल में नट और बोल्ट नहीं हैं और इसे पूरी संरचना को चीर कर बनाया गया था।

इसे जरूर पढ़ें:फेस्टिव सीजन में कोलकाता के इन बेहतरीन हॉलीडे डेस्टिनेशन्स पर जरूर जाएं

कब पड़ा रवीन्द्र सेतु नाम 

ravindra setu howra

इस पुल के निर्माण के लिए तत्कालीन बंगाल सरकार के द्वारा एक एक्ट पारित किया गया,जिसे हावड़ा ब्रिज एक्ट 1926 के नाम से जाना जाता है। बहुत कम लोगों को ये जानकारी है कि द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानियों द्वारा इस ब्रिज को नष्ट करने की कोशिश की गई थी, हालांकि उन्हें सफलता नहीं मिल पाई।  14 जून 1965 को महान राष्ट्रीय कवि गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर के नाम पर पुल का नाम बदलकर रवींद्र सेतु रखा गया। हालांकि, यह अभी भी हावड़ा ब्रिज के रूप में अधिक लोकप्रिय है।

ब्रिज पर चलते हैं लाखों यात्री 

beautiful bridge howra

इस पुल से प्रतिदिन लगभग 100000 वाहन एवं लगभग 150000 पैदल यात्री हुगली नदी को पार करते है, जो पश्चिम बंगाल के दो प्रमुख शहरों कोलकाता एवं हावड़ा को जोड़ता है। पुल का उपयोग करने वाला पहला वाहन पहले ट्राम था। इसके निर्माण के समय, यह तीसरा सबसे लंबा कैंटिलीवर पुल था। अब, यह दुनिया में अपने प्रकार का आठवां सबसे लंबा पुल है।

इसे जरूर पढ़ें:क्या आप जानते हैं हिमाचल की कमरुनाग झील से जुड़े ये रहस्यमयी तथ्य

Recommended Video

बॉलीवुड फिल्मों के बीच आकर्षण का केंद्र 

कई बॉलीवुड फिल्मों और फिल्म निर्माताओं के बीच ये पुल मुख्य आकर्षण का केंद्र है। रात के समय इसकी खूबसूरती देखते ही बनती है। कई फिल्मों की शूटिंग इस पुल पर हो चुकी है। बॉलीवुड ही नहीं बल्कि  मलयालम, बंगाली, तमिल सभी फिल्मों की शूटिंग भी इसी पुल में कई बार हुई है। 

पश्चिम बंगाल का यह खूबसूरत पुल न सिर्फ वहां के स्थानीय लोगों के बीच बल्कि विदेशों तक के पर्यटकों के बीच मुख्य आकर्षण का केंद्र है। यह पुरे विश्व में अपनी ख़ास बनावट के लिए विख्यात है। यदि आप कोलकाता की यात्रा की प्लानिंग कर रहे हैं तो एक बार इस पुल की खूबसूरती देखने जरूर जाएं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: unsplash