• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile
  • Hema Pant
  • Editorial

दिल्ली के बेहद पास बसा है भारत का पहला हिल स्टेशन, जानें इसे किसने बसाया

वैसे तो भारत में कई हिल स्टेशन हैं, लेकिन मसूरी को पहाड़ों की रानी कहा जाता है। चलिए जानते हैं इसका इतिहास। 
author-profile
  • Hema Pant
  • Editorial
Published -19 May 2022, 18:30 ISTUpdated -19 May 2022, 19:28 IST
Next
Article
mussoorie the first hill station in india

भारत के हिल स्टेशन्स दुनिया भर में मशहूर है। अक्सर लोग हिल स्टेशन पर वेकेशन मनाने जाते हैं। ऊंचे-ऊंचे पहाड़, चारों तरफ हरियाली और सुहावनी हवाएं केवल पहाड़ों पर ही मिलती है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि केवल कुछ ही जगहों को हिल स्टेशन क्यों कहा जाता है? हिल स्टेशन कब और किसने बनाया? हिल स्टेशन उन्हें कहा जाता है जो जमीन से बहुत ऊंचाई पर स्थित हो। 

भारत में हिल स्टेशन की शुरुआत ब्रिटिशर्स ने की थी। वह गर्मियों के दौरान यहां रहने के लिए आते थे। साथ ही यहां उन्होनें रिजॉर्ट बनवाएं ताकि वह पैसे कमा सके और व्यवसाय शुरू कर सकें। हालांकि, ज्यादातर लोगों को लगता है कि भारत का पहला हिल स्टेशन शिमला है, लेकिन ऐसा नहीं है। भारत का पहला स्टेशन उत्तराखंड में बसा मसूरी शहर है। चलिए जानते हैं कब और कैसे इस शहर को हिल स्टेशन का दर्जा मिला।

1823 में बना था मसूरी हिल स्टेशन

mussoorie

 क्वीन ऑफ हिल्स कहे जाने वाला मसूरी भारत का पहला हिल स्टेशन है। 1823 में मसूरी हिल स्टेशन स्थापित हुआ था। यह शहर  6758 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। इससे आप यह पता सोच सकते हैं कि यह जगह कितनी खूबसूरत होगी। 

कैसे हुई हिल स्टेशन की शुरुआत?

पहले के समय में हर जगह केवल पहाड़ ही पहाड़ हुआ करते थे। लेकिन हिल्स स्टेशन की शुरुआत ब्रिटिश लोगों ने की थी। इसके कई कारण थे। हिल्स स्टेशन की स्थापना 19वीं सदी से शुरू हुई है। हिल्स स्टेशन बसाने का एक कारण गर्मियों के दौरान होने वाली बीमारी से बचना है। ब्रिटिशर्स ने साल 1820 में मसूरी में जमीन खरीदी थी। इसी के बाद से हिल्स स्टेशन का सिलसिला शुरु हुआ। 

कैप्टन यंग थे मसूरी के पहले ब्रिटिश वासी

मसूरी में सबसे पहले कैप्टन यंग और शोर ने अपना एक छोटा सा घर यानी झोपड़ी बनाई थी। इस झोपड़ी में वह कुछ समय तक रहे थे। कुछ समय बाद यंग ने मसूरी में अपना बड़ा घर बनवाया था। इसके बाद से ही ब्रिटिशर्स मसूरी की खूबसूरती से रूबरू हुए। साथ ही ऐसा भी कहा जाता है कि अंग्रेजो ने सबसे पहले मसूरी में सेब का पेड़ लगाया था। (मसूरी में घूमने की जगहें)

इसे भी पढ़ें: जानें केरल के श्री पद्मनाभ स्वामी मंदिर के दरवाजे के पीछे आखिर क्या है रहस्य

Recommended Video


क्यों है मसूरी खास?

best places to visit in mussoorie

मसूरी खास इसलिए है क्योंकि यह हर जगह से पास है। यहां आप कम पैसों में भी आनंद ले सकते हैं। (धारचूला में घूमने की बेस्ट जगहें)

इसे भी पढ़ें: अलकनंदा नदी के इतिहास और उद्गम स्थान के बारे में कितना जानते हैं आप

मसूरी में घूमने की जगहें

mussoori best places to visit

मसूरी में घूमने के लिए कैप्टी फॉल, नाग टिब्बा, मसूरी लेक जैसे कई जगहें हैं। समय के साथ यहां आवाजाही के साधन उपलब्ध होने लगे जिसके कारण यहां हजारों की संख्या में लोग घूमने आते हैं। गर्मियों से बचने के लिए लोग इस शहर में कुछ दिन शांति के बिताने के लिए जाते हैं। इस दौरान यहां का मौसम बेहद सुहावना होता है। अगर आपको बर्फ पसंद है तो आप यहां स्नोफॉल का आनंद उठा सकते हैं। सर्दियों के दौरान यहां जमकर बर्फबारी होती है। अगर आप अपने पार्टनर के साथ रोमांटिक डेट पर जाना चाहती हैं तो मसूरी हिल्स स्टेशन जरूर जाएं। 

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ। 

Image Credit: freepik.com

 
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।