नमक हमारे खाने की सबसे बड़ी जरूरत है। नमक की कमी से बीपी लो भी हो जाता है और इसकी अधिकता से बीपी बढ़ भी जाता है। इसलिए ना नमक छोड़ सकते हैं और ना ज्यादा खा सकते हैं। इसलिए तो हर किसी को मालूम होना चाहिए कि एक दिन में कितना नमक लेना जरूरी होता है?

अगर आपको मालूम है कि आपको एक दिन में कितना नमक लेना चाहिए तो ये अच्छी बात है और अगर नहीं मालूम है कि एक दिन में कितना नमक लेना चाहिए तो ये आर्टिकल पढ़ेँ। 

ऊपर से नमक डालने की आदत

हम लोगों में से कई की आदत सब्जी में ऊपर से नमक डालने की आदत होती है। कई लोग तो ऐसे होते हैं कि सब्जी में नमक सही होने के बाद भी सब्जी में ऊपर से नमक डालते हैं। बिना ये जाने कि ऐसा करना स्वास्थ्य के लिए अच्छा है कि नहीं? खाने में नमक की मात्रा को लेकर हाल ही में पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया ने चौंकाने वाली रिपोर्ट पेश की है।

salt in food inside

पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पीएचएफआई) ने एक स्टडी कराई थी जिसके अनुसार परिणामों के अनुसार वयस्क भारतीयों में ज्यादा नमक खाने की आदत है, जो डब्ल्यूएचओ द्वारा निर्धारित की गई मात्रा से कहीं ज्यादा है। 

ज्यादा नमक लेना नुकसानदायक

ज्यादा नमक खाना नुकसानदायक होता है। लेकिन फिर भी लोग ज्यादा नमक खाते हैं। स्टडी के अनुसार दिल्ली और हरियाणा में नमक का सेवन प्रतिदिन 9.5 ग्राम और आंध्र प्रदेश में प्रतिदिन 10.4 ग्राम था। विशेषज्ञों के अनुसार खाने में ज्यादा नमक लेने से हाई बीपी की समस्या होती है। खाने में ऊपर से नमक लेने या फिर ज्यादा नमक खाने से ब्लड प्रेशर पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है जिससे समय के साथ भविष्य में कार्डियोवैस्कुलर की समस्या हो सकती है। 

salt in food inside

कम नमक लेने से नहीं होती दिल की बीमारियां

नमक कम खाने से दिल की बीमारियां नहीं होती हैं। वहीं ज्यादा नमक खाने से कई सारी बीमारियां होती हैं। खाने में नमक को सीमित करने से दिल की बीमिरियों में 25 प्रतिशत तक की कमी आ सकती है और दिल की बीमारियों से मरने का खतरा 20 प्रतिशत तक कम हो सकता है। 

हेल्थकेयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा, "अधिकतर भारतीय खाने में सोडियम काफी मात्रा में लेते हैं जिससे नमक की अधिक खपत गैर-संक्रमणीय बीमारियों का कारण बनती है। समय के साथ अधिक नमक लेने से गुर्दे को काफी मात्रा में क्षति पहुंचती है जिसे ठीक करना मुश्किल होता है।  ज्यादा नमक लेने से हाइपरटेंशन की भी समस्या होती है।"  

ज्यादा नमक से बढ़ती है उम्र

डॉ. अग्रवाल ने कहा कि "हाई बीपी से धमनियां कठोर हो सकती हैं, जिससे रक्त और ऑक्सीजन के प्रवाह में कमी आती है। इससे चेहरे में ऑक्सीजन का ब्लड सर्कुलेशन कम हो जाता है और स्किन सूखने लगती है। जिससे झुर्रियां समय से पहले आने लगती हैं। इससे व्यक्ति उम्र से ज्यादा बड़ा दिखता है और हेल्थ पर भी कई सारे हानिकारक असर पड़ते हैँ।"  

5 ग्राम से ज्याद नमक ना लें

salt in food inside

डब्ल्यूएचओ के अनुसार एक इंसान को एक दिन में 5 ग्राम से ज्याद नमक नहीं लेना चाहिए। इसलिए दुनियाभर के विशेषज्ञ दुनिया के हर कोने में कम नमक लेने के लिए लोगों को जागरूक कर रहे हैं। 

आप भी कम मात्रा में नमक लें और लंबे समय तक जिएं। 

Recommended Video