प्राचीन भारत से लेकर मध्यकाल तक देश में कुछ ऐसे फोर्ट, महल या मकबरा का निर्माण हुआ, जिसके बारे में देश के लोग ही नहीं बल्कि विदेशी सैलानी भी जानते हैं। खासकर दिल्ली में मौजूद फोर्ट, महल और मकबरे के बारे में हर कोई जनता है। वैसे तो हुमायूं का मकबरा के बारे में हर कोई जानता है। लेकिन, क्या आप जमाली कमाली मकबरा के बारे में जानते हैं। अगर नहीं, तो आज इस लेख में हम आपको इस मकबरा के बारे में करीब से बताने जा रहे हैं। वैसे जानकारी के लिए बता दें कि यह मकबरा बाबर और हुमायूं के शासनकाल के दौरान बेहद ही फेमस रहा था, तो आइए जानते हैं।

मकबरा का इतिहास 

history about jamali kamali monument delhi inside

इस मकबरा का इतिहास भी बेहद दिलचस्प रहा है। कहा जाता है कि इस मकबरा का निर्माण मुग़ल सम्राट बाबर द्वारा साल 1528 के आसपास किया गया था। एक अन्य तथ्य यह है कि इसका निर्माण हुमायूं के शासनकाल के दौरान किया गया था। कहा जाता है कि इसी जगह फेमस सूफी हजरत जमाली अल्लाह की इबादत करते हैं और लगभग 1536 में जमाली की मृत्यु के बाद उन्हें इसी जगह दफनाया गया था।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली की इन सीक्रेट प्लेसेस में घूमी हैं आप? जानिए इनके बारे में

एक नहीं बल्कि दो कब्र है

about jamali kamali monument delhi inside

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस जगह एक नहीं बल्कि दो सूफी मौलाना को दफनाया गया था। हजरत जमाली के ठीक बगल में हजरत कमाली को भी दफनाया गया था, जिसके बाद इस जगह को जमाली कमाली मकबरा के नाम से जाना जाने लगा। लोगों का मानना है कि इस वीरान जगह में इन कब्रों से आज भी रात के समय दुआ की आवाजें आती हैं। (दिल्ली में भी मौजूद है जहाज महल)

Recommended Video

रहस्यमयी कहानियां 

history about jamali kamali monument delhi inside

ये फेमस मकबरा कई दिलचस्प भुतहा कहानियों के लिए भी प्रसिद्ध हैं। लोगों कि माने तो यहां किसी अंजान परछाई का साया है, जिसकी वजह से शाम होते ही बहुत से लोग जाने से डरते हैं। इसके अलावा कुछ लोगों का यह भी कहना है कि इस मकबरे और इसके आसपास की जगहों पर आज भी रात के समय में सूफी अंदाज में कुछ आवाजें सुनाई देती हैं।

इसे भी पढ़ें: आभानेरी में स्थित चांद बावड़ी के बारे में कितना जानते हैं आप? 

दिल्ली में किस जगह है यह मकबरा?

jamali kamali monument delhi inside

आपको बता दें यह दिल्ली के महरौली में मौजूद है। इस मकबरा के आसपास से डी.टी.सी बस की भी सुविधा है, जिसके द्वारा आप यहां घूमने के लिए जा सकते हैं। आपको यह भी बता दें कि महरौली मुग़ल साम्राज्य के पहले से ही बसा एक प्राचीन स्थल है। इसके आसपास ऐसे कई ऐतिहासिक स्थल मौजूद जहां घूमने के लिए जा सकते हैं।  

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit(@wikimedia.org,i.pinimg.com)