प्राचीन भारत से लेकर मध्यकाल भारत तक कुछ ऐसे महल, फोर्ट, भवन और पैलेस का निर्माण हुआ जो आज भी भारतीय इतिहास के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण माना जाता है। लाल किला, क़ुतुब मीनार, ताजमहल, शनिवार वाड़ा,  मैसूर पैलेस, उम्मेद भवन पैलेस आदि हजारों महल, फोर्ट, इमारत और पैलेस इस कतार में शामिल है। महाराष्ट्र के पुणे शहर में मौजूद आगा खान पैलेस भी कुछ इसी तरह का है।

भारत की स्वतंत्रता के कई निर्णायक क्षणों के लिए आज भी इस पैलेस को महत्वपूर्ण माना जाता है। महात्मा गांधी, उनकी पत्नी कस्तूरबा गांधी और सरोजिनी नायडू जैसे कई महान व्यक्तियों के सन्दर्भ में भी इस पैलेस को याद किया जाता है। आज ये पैलेस पुणे में एक प्रमुख पर्यटक स्थल भी है। इस लेख में हम आपको आगा खान पैलेस के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे जानने के बाद आप भी यहां घूमने जाना पसंद कर सकते हैं।

आगा खान पैलेस का इतिहास

aga khan palace history in pune inside

पुणे के शासक मोहम्मद शाह आगा खान 3rd ने भारत के साथ-साथ महाराष्ट्र शहर में कई भवनों का निर्माण करवाया था। लेकिन, सभी भवनों में से सबसे अधिक चर्चा आगा खान पैलेस की होती है। इस पैलेस का निर्माण साल 1892 के आसपास किया गया था। ये इमारत लगभग 19 एकड़ से भी अधिक क्षेत्र में फैली हुई है। ये पैलेस इतालवी मेहराब और विशाल लॉन का एक अनूठा संयोजन है। 

इसे भी पढ़ें: शनिवार वाड़ा किले की रहस्यमयी कहानी है अजीबो-गरीब, आप भी जानें

ऐतिहासिक महत्व 

aga khan palace history in maharashtra inside

इस पैलेस को भारत की स्वतंत्रता के संबंध में कई बार जोड़कर देखा जाता है। कहा जाता है कि ये वो स्थान है जहां महात्मा गांधी, उनकी पत्नी कस्तूरबा गांधी, सरोजिनी नायडू और महादेव देसाई को बंदी बना के रखा गया था। इसके अलावा ये वो पैलेस है जहां कस्तूरबा गांधी और महादेव देसाई की मृत्यु भी हुई थी। तक़रीबन दो साल तक कई स्वतंत्रता सैनानियों को यहां कैद करके रखा गया था। (चौमहल्ला पैलेस) आपको बता दें कि स्वतंत्रता प्राप्ति के कुछ वर्षों बाद आगा खान ने इस महल को भारत सरकार को दे दिया था।

Recommended Video

महल के अंदर क्या है खास?

aga khan palace history inside

इस पैलेस के कुछ ही हिस्सों में घूमने की अनुमति है। पैलेस में घूमने के लिए सबसे प्रमुख स्थलों में से एक है 'कस्तूरबा गांधी स्मृति भवन'। कस्तूरबा गांधी की पुण्यतिथि के मौके पर यहां हर साल कई कार्यक्रमों का आयोजन होता है। इसके अलावा पैलेस में एक भव्य गांधी संग्रहालय भी है, जो सैलानियों के लिए बेहद ही खास है। इस संग्रहालय में मध्यकालीन चित्रों, मूर्तियों और महात्मा गांधी की कई निजी चीजें भी मौजूद है। इस संग्रहालय में सरोजिनी नायडू की भी कुछ चीजें आज भी मौजूद है।

इसे भी पढ़ें: चंदेरी फोर्ट: आज भी हर साल लाखों सैलानियों के स्वागत में है खड़ा

पैलेस में घूमने का समय और आसपास घूमने की जगह 

aga khan palace inside

इस पैलेस में सुबह 9 बजे से लेकर शाम 5 बजे के बीच कभी भी घूमने के लिए जा सकते हैं। भारतीय पर्यटक 5 रुपये और विदेशी पर्यटक 100 रुपये की टिकट लेकर घूमने के लिए जा सकते हैं। इसके आसपास घूमने के लिए एक से एक बेहतरीन जगहें हैं। पार्वती हिल ,शिवनेरी किला और राजगढ़ किला जैसी कई बेहतरीन जगहें हैं। मानसून में घूमने के लिए ये एक बेस्ट जगह हो सकती हैं। (फलकनुमा पैलेस)

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@upload.wikimedia.org,www.mkgandhi.org)