धामपुर झील, जो 10 एकड़ क्षेत्र में फैली हुई है, यह महाराष्ट्र राज्य के तरकरली में देखने के लिए प्रमुख स्थानों में से एक है। खासतौर पर ये उन लोगों के लिए एक मुख्य गंतव्य स्थान है जो पानी, झील और बीचेज़ से प्यार करते हैं। पहाड़ियों से घिरी यह झील साल 1530 में राजा नागेश देसाई द्वारा बनाई गई थी। यह झील अरे और कट्टा गांवों के बीच स्थित है। झील का पानी क्रिस्टल क्लीयर है, जिसके पास ही भगवती मंदिर स्थित है जो यहां की खूबसूरती को बढ़ाकर इस झील को महाराष्ट्र के विशिष्ट पर्यटक स्थलों में से एक बनाता है। आइए जानें इस झील की ख़ास बातों और इसके आस-पास के आकर्षणों के बारे में। 

ऐतिहासिक संरचनाओं में से एक

dhampur lake

महाराष्ट्र की धामपुर झील को 2020 के लिए विश्व धरोहर सिंचाई संरचना (WHIS) का पुरस्कार मिला। यह महाराष्ट्र राज्य में सिंधुदुर्ग जिले की सबसे बड़ी झीलों में से एक है। धामपुर झील इस साल एक पुरस्कार पाने के लिए भारत से चुनी गई चार भारतीय ऐतिहासिक संरचनाओं में से एक है। भारत से प्रदान की जाने वाली तीन अन्य झीलें आंध्र प्रदेश से हैं, जिसमें कांबुन टैंक, पुरुममिला टैंक और केसी नहर शामिल हैं।

क्यों प्रमुख है धामपुर झील

धामपुर झील से प्रत्येक वर्ष 237 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई की जाती है। इस झील को जल कावड़ेवाड़ी और गुरुमवाड़ी बांध से निकलने वाली दो धाराओं से मिलता है। यह स्थल धामपुर और काल्से के ग्रामीणों द्वारा वर्ष 1530 में बनाया गया था। धामपुर झील भारत में शीर्ष 100 आर्द्रभूमि में से एक है, जिसकी पहचान केंद्र सरकार ने तेज़ी से बहाली और सुधार के लिये की है। इसके आस-पास की भूमि में 193 पुष्प और 247 पशुवर्गीय प्रजातियाँ पाई जाती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: खूबसूरत झीलें और हरी भरी वादियों से भरी सिक्किम की ये जगहें दिसम्बर में घूमने के लिए हैं बेस्ट

Recommended Video


पांच एकड़ के क्षेत्र में फैली हुई है

धामपुर मालवन तालुका में एक दर्शनीय स्थान है। इसके आस-पास घने सदाबहार झाड़ियाँ और सदाबहार वृक्ष मौजूद हैं। यह दोनों तरफ एक पहाड़ के बीच में एक ऐतिहासिक झील है। इस झील के किनारे श्री भगवती का एक प्राचीन मंदिर स्थित है। पाँच एकड़ के क्षेत्र में फैली, विशाल झील का जलाशय बहुत साफ है और यहाँ नौका विहार का आनंद भी उठाया जा सकता है। 

खूबसूरत पहाड़ियों के बीच स्थित है 

dhamapur lake

धामपुर झील के किनारों पर दो खूबसूरत पहाड़ियाँ हैं और जहाँ आपको कोकुम मिलता है, वहाँ से मैंगोस्टीन पेड़ों का घना बागान है। आप झील के आसपास आम के पेड़ और नारियल के वृक्ष भी देख सकते हैं। झील का पानी शीशे की तरह साफ़ है और धूप के दिन आप झील के पानी की खूबसूरती को देख सकते हैं। झील 10 एकड़ के क्षेत्र है में स्थित है। झील में नौका विहार जैसी कई एक्टिविटीज़ की जा सकती हैं। कई प्रकार के पक्षियों जैसे मालाबार पाइंड हॉर्नबिल, कॉर्मोरेंट और किंगफ़िशर की कुछ किस्मों को भी यहां पा सकते हैं।

इसे जरूर पढ़ें: मुंबई के कुछ खूबसूरत सनसेट पॉइंट्स जहां लोग देखने पहुंचते हैं डूबते सूरज का नज़ारा

धामपुर झील तक कैसे पहुंचे

धामपुर मालवन कुडल रोड पर स्थित है। आप क्षेत्र में महाराष्ट्र राज्य परिवहन बस सेवा पा सकते हैं। निकटतम रेलवे स्टेशन कुडल है और निकटतम हवाई अड्डा बेलगाम है। आप मुंबई और बैंगलोर से आसानी से यहां के लिए उड़ानें प्राप्त कर सकते हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: wikipedia