भारत में कई ऐसी गुफाएं हैं जो अपनी अनोखी खूबसूरती और रहस्यमयी कहानियों से दुनियाभर में मशहूर हैं। हर साल हजारों सैलानी यहां घूमने आते हैं, भारत की इन विशाल गुफाओं में कई तरह की कला और मूर्तिकला हैं जो लोगों को काफी आकर्षित करती हैं। बात जब गुफाओं की होती है तो सबसे पहला नाम अजंता और एलोरा का आता है, लेकिन इसके अलावा भी कई ऐसी गुफाएं जो न सिर्फ खूबसूरत हैं बल्कि घूमने के लिए परफेक्ट डेस्टिनेशन भी हैं। 

हालांकि साल 2020 में कोरोना महामारी आने की वजह से लोगों ने घूमना-फिरना कम कर दिया है। लोग वेकेशन के लिए आसपास की जगहों पर ही जा रहे हैं, लेकिन स्थिति सामान्य होने पर एक बार फिर से टूरिस्ट अपनी फेवरेट जगहों के एक्सप्लोर कर पाएंगे। वहीं अगर आप गुफाएं को जानने में रुचि रखती हैं तो आज हम बताएंगे भारत की 5 ऐसी मशहूर गुफाओं के बारे में जो अपनी कलात्मक परंपराओं की वजह से पसंद की जाती हैं। आप इन जगहों के लिए ट्रिप प्लान कर सकती हैं।

  • बादामी गुफा 

Badami Caves

चालुक्य स्थापत्य कला के महान प्रेमी थे और बादामी गुफाएं इसका एक उदाहरण हैं। इन गुफाओं में एक बहुत बड़ा धार्मिक महत्व है। एक खड्ड के मुहाने पर स्थित ये गुफाएँ 6 ठी और 7 वीं शताब्दी ईस्वी की हैं। बादामी गुफाएं कुल चार हैं, जिनमें से तीन ब्राह्मणवादी मंदिर और चौथी एक जैन मंदिर हैं। खास बात है कि ये गुफाएं अति सुंदर मूर्तियों से सजी हैं और इनमें हिंदू देवताओं, महावीर और अन्य जैन तीर्थकारों के चित्र हैं। अगर आप इतिहास को जानने में रुचि रखती हैं तो इन गुफाओं को एक्सप्लोर करना आपके लिए बेस्ट रहेगा। 

  • उंडवल्ली गुफाएँ 

Undavalli Caves

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा से लगभग 8 किमी की दूरी पर कृष्णा नदी के तट पर स्थित है उंडवल्ली गुफाएँ। भारत की मशहूर गुफाओं में से एक हैं उंडवल्ली गुफाएँ, क्योंकि वे उत्कृष्ट रॉक-कट वास्तुकला का एक बेहतरीन उदाहरण है। इन गुफाओं को ठोस बलुआ पत्थर से तराश कर विष्णुकुंडिन राजाओं को समर्पित किया गया है। यहां की एक गुफा में भगवान विष्णु की एक विशाल मूर्ति है जो एक वैराग्य मुद्रा में है। इसकी एक जगह जो आपको काफी मंत्रमुग्ध कर देगी वो है त्रिमूर्ति यानी ब्रह्मा, विष्णु, और महेश को समर्पित मंदिर। अगर आप घूमना पसंद करती हैं और कुछ समय शांति से बिताना चाहती हैं ये जगह आपके लिए बेस्ट है।

  • खंडगिरि गुफाएं

Khandagiri Caves

खंडगिरी गुफाएं भुवनेश्वर के काफी नजदीक हैं। खंडगिरी 15 गुफाओं का एक समूह है, वे जैन रॉक-कट संरचनाओं के शुरुआती उदाहरणों में से एक हैं और माना जाता है कि राजा खारवेल के शासन के दौरान इसका इस्तेमाल किया गया था। खंडगिरी में सबसे महत्वपूर्ण गुफा अनंत गुफा है और इसमें महिलाओं, एथलीटों और हाथियों को दर्शाया गया है। ओडिशा अगर आप ट्रिप प्लान कर रही हैं तो इस जगह पर एक बार जरूर घूमें।

इसे भी पढ़ें: एशिया का सबसे साफ गांव है भारत में, पेड़ों से बने ब्रिज और डस्टबीन का इस्तेमाल करते हैं लोग

Recommended Video

  • बोर्रा गुफाएं 

Borra Caves

बोर्रा गुफाएं आंध्र प्रदेश में विशाखापट्टनम के उत्तर में लगभग 90 किमी की दूरी पर स्थित हैं। यह गुफाएं एक प्राकृतिक आश्चर्य है जो लगभग हजारों साल पुराना है। इसकी खोज 1807 में ब्रिटिश भूविज्ञानी विलियम किंग ने की थी। बोर्रा गुफाओं में एक प्राकृतिक रूप से निर्मित शिवलिंग है और इस कारण से, गुफाओं के आसपास के गांवों में निवास करने वाले आदिवासी लोगों द्वारा अत्यधिक श्रद्धेय हैं। वहीं यहां कई ऐसी चीजें हैं जो टूरिस्टों का ध्यान अपनी तरफ खींचतीं हैं। अगर आप प्राकृतिक चीजों से लगाव रखती हैं तो इस जगह को एक्सप्लोर कर सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: अलमोड़ा की पहाड़ियों के बीच छुपा है ये 1000 साल पुराना सूर्य मंदिर

  • मावसई गुफाएं 

Mawsmai Caves,

मावसई गुफाएं पूर्वोत्तर भारत की सबसे खूबसूरत गुफाओं में से एक हैं। मेघालय में आने वाले पर्यटक अक्सर इन गुफाओं की यात्रा करने के लिए एक बिंदु बनाते हैं। गुफाओं में प्राकृतिक चूना पत्थर की संरचनाएँ हैं जो सालों पहले से बनी हुई हैं। यह जानना दिलचस्प है कि गुफाएँ पूरी तरह से रोशन हैं और इसमें कई प्रभावशाली मार्ग और कक्ष हैं। यहां स्टैलैक्टाइट और स्टैलैग्माइट फॉर्मेशन देखना काफी पसंद किया जाता है।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।