जब भी राजस्थान घूमने की बात होती है तो उदयपुर का नाम अवश्य लिया जाता है। यह राज्य का प्रमुख पर्यटन स्थल है। यहां पर कई विरासत स्थल, झीलें और अरावली पर्वत श्रृंखलाएं इस जगह की सुंदरता में चार चांद लगाती हैं। पिछोला झील, उदयपुर सिटी पैलेस, कुंभलगढ़ किला आदि उदयपुर के कुछ वर्ल्ड फेमस टूरिस्ट प्लेस हैं। इस शहर को उदयपुर के महाराणा उदय सिंह द्वारा बनाया गया था और बाद में यह मेवाड़ साम्राज्य की राजधानी बन गया। राजवंश के कई शासकों के अधीन यह शहर फला-फूला। इसका समृद्ध इतिहास इसे अन्य राज्यों से काफी अलग बनाता है। यही कारण है कि इस शहर से जुड़े ऐसे कई फैक्ट्स है, जिसके बारे में लोग अभी तक नहीं जानते हैं। हो सकता है कि आप राजस्थान के इस शहर में घूम चुकी हों या फिर घूमने जाना चाहती हों। तो आपको इससे जुड़े कुछ अमेजिंग फैक्ट्स के बारे में जरूर जानना चाहिए- 

rajasthan border with pakistan

संत के आशीर्वाद से अस्तित्व में आया

एक बार 15वीं शताब्दी में, जब मेवाड़ वंश के महाराणा उदय सिंह द्वितीय पिछोला झील के पास शिकार करने के लिए जा रहे थे, तो उन्हें एक ऋषि मिले जिन्होंने उन्हें एक विशेष स्थान पर एक महल बनाने की सलाह दी और उन्हें आशीर्वाद दिया कि यह उसके और उसके लोगों के लिए एक सुरक्षित जगह हो। इसके बाद उदयपुर राज्य अस्तित्व में आया।

बना मेवाड़ की राजधानी

सिसोदिया वंश के महाराजा उदय सिंह ने उदयपुर शहर की स्थापना की थी। बाद में उनके राज्य की राजधानी को चित्तौड़गढ़ से उदयपुर स्थानांतरित कर दिया गया। इस तरह प्राचीन काल में उदयपुर का अपना एक अलग महत्व था।

इसे जरूर पढ़ें: इन संग्रहालयों में छिपा है राजस्थान का सम्पूर्ण इतिहास

rajasthan travel package

सबसे लंबी दीवार

उदयपुर का कुंभलगढ़ किला एक महत्वपूर्ण विरासत स्थल है। किला शहर से 80 किमी से अधिक दूर स्थित है, और चीन की महान दीवार के बाद दुनिया की दूसरी सबसे लंबी दीवार है। किले की दीवार 36 किमी तक फैली हुई है। कुम्भलगढ़ किला मेवाड़ के शासकों द्वारा निर्मित प्रमुख किलों में से एक है। यह दुश्मन के आक्रमणों के खिलाफ एक कवच की तरह काम करता था। किंवदंती यह भी है कि मेवाड़ के प्रसिद्ध शासक महाराणा प्रताप का जन्म कुंभलगढ़ किले में हुआ था।

झीलों का शहर

उदयपुर को झीलों के शहर के रूप में भी जाना जाता है। दरअसल, इस शहर में कई झील स्थित है। इतना ही नहीं, शहर में एक इंटरकनेक्टेड लेक सिस्टम है जो ग्राउंड वाटर के रिजेनरेशन में मदद करती है और जलवायु परिस्थितियों को नियंत्रित करती है। फतेह सागर झील, जयसमंद झील, पिछोला झील, बड़ी झील आदि पर यहां पर मौजूद कई प्रसिद्ध झीलें हैं।

इसे जरूर पढ़ें: Travel Tips: क्या आप जानते हैं जोधपुर के प्रसिद्ध उम्मेद भवन पैलेस से जुड़े ये रोचक तथ्य

rajasthan travel documentary

दुनिया का सबसे रोमांटिक होटल

लेक पैलेस या जग निवास झील पिछोला में ताज समूह द्वारा संचालित एक विरासत होटल है। यह कभी सिसोदिया शासकों का ग्रीष्मकालीन महल था। इसे दुनिया और भारत में सबसे रोमांटिक होटल के रूप में देखा जाता है। तो अगर आप उदयपुर में हैं तो आपको एक बार इस होटल को जरूर देखना चाहिए।

Recommended Video

एशिया की दूसरी सबसे बड़ी आर्टिफिशियल लेक

जयसमंद झील या ढेबर झील को एशिया की दूसरी सबसे बड़ी आर्टिफिशियल लेक माना जाता है। इसका निर्माण 17वीं शताब्दी में राणा जय सिंह के शासन काल में हुआ था। झील का निर्माण गोमती नदी पर बांध बनाते समय किया गया था। झील पूर्ण होने पर 87 किमी² के क्षेत्र को कवर करती है, और यह 102 फीट गहरी है।

rajasthan travel expenses

कॉपर और जिंक का प्रमुख स्त्रोत

भारत को कॉपर और जिंक जैसी धातुओं का आयात करने की आवश्यकता नहीं है जब उसके पास अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए उदयपुर है। वास्तव में, उदयपुर मध्ययुगीन काल से भारत के लिए कॉपर और जिंक का एक प्राथमिक स्रोत रहा है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अनय लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- travel websites