मुंबई को देश के फाइनेंशियल और कमर्शियल सेंटर के रूप में देखा जाता है। भारत में आने वाला हर पर्यटक मुंबई जरूर घूमना चाहता है। इसे विश्व के सर्वोच्च दस वाणिज्यिक केन्द्रों में गिना जाता है। इतना ही नहीं, मुम्बई को भारत का प्रवेशद्वार व सपनों का शहर भी कहा जाता है। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि मुंबई शहर कितना महत्वपूर्ण है। हालांकि, मुंबई मनोरंजन उद्योग का केंद्र बनने से पहले, यह मराठा साम्राज्य का घर हुआ करता था। सह्याद्रि पर्वतमाला से घिरे, मराठों ने इस क्षेत्र में कई किले बनवाए थे जो उनकी वीरता, रक्षा रणनीति और कलाकारों के बारे में बोलते हैं। इनमें से कुछ अद्भुत वास्तुकला शहर के शीर्ष पर्यटक आकर्षणों में से हैं। ऐसे में अगर कोई पर्यटक मुंबई आता है तो उन्हें इन किलों को जरूर देखना चाहिए। तो चलिए आज हम आपको मुम्बई में स्थित कुछ फोर्ट्स के बारे में बता रहे हैं, जो एक ऑफबीट ट्रेवलर को जरूर पसंद आएंगे-

कैस्टेला डी अगुआडा (बांद्रा किला)

inside  hotel in mumbai

शहर की सीमा के भीतर, बांद्रा के उपनगर में, कैस्टेला डी अगुआडा, एक पुराना किला है जो अब आंशिक रूप से खंडहर में स्थित है। इसे बांद्रा का किला भी कहा जाता है। इस किले का निर्माण पुर्तगालियों ने वर्ष 1640 में करवाया था और कई सालों तक वॉच टावर के रूप में काम किया। आज इस किले को स्थानीय लोगों द्वारा देखा जाता है, जहां पर लोग ना केवल आराम के पल बिताने आते हैं, बल्कि कपल्स के लिए भी यह वक्त बिताने के लिए बेहतर स्थान है। यह किला अरब सागर और पड़ोसी बांद्रा-वर्ली सी लिंक का मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है। इतना ही नहीं, यह किला बॉलीवुड का पसंदीदा शूटिंग स्थल है, यहाँ कई फिल्मों की शूटिंग हुई है।

वर्ली का किला

inside  fort in mumbai

अंग्रेजों द्वारा निर्मित, वर्ली किला शहर में शायद उतना प्रसिद्ध नहीं है। किले के अंदर एक छोटा कुआं और मंदिर है। किले की सीमाओं पर चट्टान से बनी बड़ी तोपें हैं जो एक बार क्षेत्र में प्रवेश करने वाले दुश्मनों को रोकने के लिए हथियारों के रूप में उपयोग की जाती थीं। एक बार जब आप किले का दौरा कर रहे होते हैं, तो पास के गोल्फा देवी मंदिर भी जरूर जाएं, इसे वर्ली में एक लोकप्रिय धार्मिक स्थल माना जाता है।

इसे ज़रूर पढ़ें-मैडम तुसाद ही नहीं, लंदन में स्थित हैं यह फेमस म्यूजियम्स भी

सेवरी किला

inside  saveri kila

1600 के दशक में पुर्तगालियों द्वारा निर्मित, सेवरी किले को बाद में ब्रिटिश सेनाओं ने अपने कब्जे में ले लिया और इसे वॉचटॉवर के रूप में इस्तेमाल किया। किले को रणनीतिक रूप से दुश्मनों द्वारा हमले का सामना करने के लिए डिज़ाइन किया गया था। किले के आंगन में एक बड़ा पेड़ है। फरवरी के महीने में, किले में पिंक फ्लेमिंगो को देखा जा सकता है।

Recommended Video

सायन का किला

inside  sayan ka kila

मुंबई में सायन फोर्ट, सायन रेलवे स्टेशन के करीब स्थित है। किले के बेस पर पंडित जवाहरलाल नेहरू उद्यान नामक एक पार्क स्थित है। किले में जाने के लिए, सीढ़ियों चढ़नी पड़ती है। सीढ़ियों से किले के शीर्ष तक पहुंचने के लिए आपको लगभग 10 मिनट लग सकते हैं। एक बार जब आप वहां पहुंचेंगे, तो आपको बर्बाद कमरों और पुराने कैनन का एक जोड़ा मिलेगा। किले के एक तरफ से आप कुछ इमारतों और कारखानों को देख सकते हैं। यह मुंबई के सबसे शानदार किलों में से एक है।

इसे ज़रूर पढ़ें-लिंगराज मंदिर में एक साथ बसते हैं भगवान शिव और विष्णु, जानिए इससे जुड़ी रोचक बातें

 

बेलापुर किला 

inside  belapur ka kila

बेलापुर किला एक ऐसी साइट है जिसे आप नवी मुंबई के बेलापुर टाउनशिप में देख सकती हैं। इसका निर्माण 16 वीं शताब्दी में जंजीरा की सिद्धियों द्वारा किया गया था। बाद में किले को पुर्तगालियों के साथ-साथ उस क्षेत्र में मौजूद अंग्रेजों को सौंप दिया गया। इस किले का अतीत में बहुत महत्व था। हालांकि, यह अब खंडहर में बदल चुका है। लेकिन सैकड़ों साल से पहले शानदार वास्तुकला देखने के लिए पर्यटक इस साइट पर जा सकते हैं। आसपास के क्षेत्र सुंदर और शांतिपूर्ण हैं क्योंकि आपको यहां पर बहुत हरियाली देखने को मिलेगी।

अभी कोरोना संक्रमण के कारण आपके लिए मुम्बई घूम पाना शायद संभव ना हो, लेकिन एक बार स्थिति सामान्य होने के बाद आप इन फोर्ट्स को देखने के लिए मुंबई जरूर जाएं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

image credit- indianexpress.com,treebo.com,astrolika.com,whatshot.in and travel websites