नार्थ-ईस्ट का राज्य नागालैंड कई मायनों में देश के अन्य राज्यों से काफी अलग है। यहां उनके उत्सवों और रंग-बिरंगे त्योहारों से लेकर खाने के विकल्प काफी अलग है। नागालैंड में 16 जनजातियां पाई जाती हैं। नागालैंड भारत के उन तीन राज्यों में से एक है, जहाँ ईसाई धर्म के अनुयायी जनसंख्या में बहुमत में हैं। इसके अलावा, नागालैंड में चारों ओर फैली पहाड़ियां और घाटियां यहां के प्राकृतिक सौंदर्य में इजाफा करती हैं। 

नागालैंड एक बेहद ही खूबसूरत राज्य है, हालांकि यहां पर जाने के बारे में लोग कम ही विचार करते हैं। आपको शायद पता ना हो लेकिन नागालैंड में घूमने के लिए एक इनर लाइन परमिट की जरूरत होती है। हालांकि इस परमिट को प्राप्त करना काफी आसान होता है। जिसके बाद आप नागालैंड की खूबसूरती को एक्सप्लोर कर सकती हैं। तो चलिए आज हम आपको इस लेख में नागालैंड में घूमने की कुछ बेहतरीन जगहों के बारे में बता रहे हैं, जिसे जानने के बाद आपको भी इस राज्य से प्यार हो जाएगा-

कोहिमा 

नागालैंड की राजधानी कोहिमा हर किसी की ट्रेवल लिस्ट में जरूर होना चाहिए। यह समुद्र तल से 1500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह बेहद ही खूबसूरत पहाड़ों और जंगलों से घिरा हुआ है। अगर आप यहां हैं तो ट्रेकिंग, हाइकिंग और कैंपिंग जैसी एडवेंचर्स एक्टिविटीज कर सकती हैं। यह स्थान अंगामी जनजाति का घर है। इसके अलावा, यहां पर राष्ट्रमंडल युद्ध कब्रिस्तान है, जिसमें 1400 से अधिक सैनिकों की कब्रें हैं जो द्वितीय विश्व युद्ध में बर्मा से जापानी आक्रमणकारी भारत से लड़ते हुए शहीद हो गए। अन्य प्रमुख आकर्षणों में जाफू पीक और नागा हेरिटेज विलेज शामिल हैं।

. kohima

इसे जरूर पढ़ें- नागालैंड के हॉर्नबिल फेस्टिवल से लेकर नागा मिर्च तक के बारे में, जानें क्या है खास 

दीमापुर

आपको नागालैंड में प्रवेश करने के लिए दीमापुर से होकर जाना होगा, क्योंकि यहां हवाई अड्डा स्थित है। शीर्ष नागालैंड पर्यटन स्थलों में गिना जाने वाला यह स्थान प्रकृति और इतिहास प्रेमियों दोनों को समान रूप से आनंद प्रदान करता है। अगर आप यहां पर हैं तो 10 वीं शताब्दी से कचहरी के खंडहरों को देखें। इसके अलावा डाइज़ेफ़े क्राफ्ट विलेज, रंगपहाड़ रिजर्व फ़ॉरेस्ट, दीमापुर एओ बैपटिस्ट चर्च, कूकी डोलोंग विलेज आदि यहां के प्रमुख आकर्षण है।

. dimapur

मोकोकचुंग 

यह सुंदर परंपराओं और त्योहारों और जीवंत एओ जनजाति के आतिथ्य के कारण नागालैंड का सबसे जीवंत जिला है। यहां पर आप मंत्रमुग्ध करने वाली पहाड़ियों और धाराओं की सुंदरता की साक्षी बन सकती हैं। मोकोकचुंग के पास और आसपास कई अद्भुत स्थान हैं जो आपको एक अविस्मरणीय अनुभव करवाएंगे। अगर आप यहां पर हैं तो लोंगखुम, मोकोकचुंग गांव और पार्क, चांगटोंग्या, चुचुइमलंग, उंगमा गांव आदि घूम सकती हैं। 

.mokuchang

मोन 

मोन कोन्याक नागों का है, जो खुद को नूह का वंशज मानते हैं। मोन समुद्र तल से 897.64 मीटर की ऊँचाई पर है। पूरे नागालैंड राज्य में, मोन को सबसे समृद्ध और रहस्यमय स्थान माना जाता है। यहां की हवा में कुछ ऐसा है जो आपको अपनी ओर खींचता है। अगर मोन के मस्ट-व्यू अट्रैक्शन की बात की जाए तो वह वेदा चोटी, शंगय्यू विलेज, लोंगवा विलेज, चुई विलेज हैं। 

.mon

वोखा 

जैसे-जैसे आप वोखा तक पहुँचती हैं, पहाड़ियों और हरे-भरे परिदृश्य आपके मन को लुभाएंगे। यहां पर आपको बहुरंगी फूलों, रसदार और ताजे फलों के साथ स्वतंत्र रूप से बहने वाली नदियां देखने को मिलेगी। यहाँ रहने वाली जनजाति लोथा जनजाति है। अगर आप यहां पर हैं तो माउंट तियि, दोआंग नदी, टोट्सू क्लिफ, तेहरंग घाटी आदि में घूमना ना भूलें। 

. vokha

इसे जरूर पढ़ें- भारत का वो राज्य जहां भारतीयों को भी जाने के लिए लेना पड़ता है परमिट  

मेलुरी 

मेलूरी एक छोटा और विचित्र गाँव है। यह गाँव पोचरी जनजाति का घर है, जो अपने असाधारण हंटिंग स्किल्स के लिए जाना जाता है। यह गाँव नागालैंड में न केवल अपनी सुंदरता के कारण बल्कि अपने आकर्षक रॉक संरचनाओं के लिए भी जाना चाहिए। अगर आप यहां पर हैं तो दज़ुडू लेक, ज़ानीबु पीक, शिलोई लेक आदि में घूमना ना भूलें। 

.melura

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।