भारत में कई ऐसी जगहें हैं, जहां सूर्यास्त के बाद लोगों का जाना मना है। हालांकि इनमें से कई ऐसी जगहें भी हैं जो अब लोगों के बीच टूरिस्ट प्लेस बन चुकी हैं। आज हम एक ऐसी शापित जगह के बारे में बताएंगे जो एक मंदिर है, लेकिन सूर्यास्त होने के बाद लोग यहां नहीं जाते हैं। यह माता दुर्गा का एक मंदिर है, जिसके बारे में इंटरनेट पर कई तरह की बातें बताई गई हैं। लोगों के अनुसार सूर्यास्त के बाद जो भी व्यक्ति यहां आया है, उसके साथ अजीबोग़रीब घटनाएं घटी हैं।

लोगों ने इस मंदिर को तोड़ने की भी कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए। हालांकि इस मंदिर से भी लोगों की आस्था जुड़ी हुई है, साथ ही, इसे लेकर कई अजीब तरह की मान्यताएं हैं। प्रचीन और ऐतिहासिक दुर्गा माता का ये मंदिर मध्य प्रदेश के देवास ज़िले में स्थित है। शाम होते ही इस मंदिर में लोग जाने से डरते हैं। स्थानीय लोगों के अनुसार यहां कुछ ऐसी घटनाएं घटी हैं, जिसकी वजह से लोग सूर्यास्त होने के बाद यहां जाने से डरते हैं।

दुर्गा मंदिर का निर्माण

durga mandir

पौराणिक कथाओं के अनुसार इस मंदिर का निर्माण देवास के महाराजा ने करवाया था, लेकिन मंदिर बनने के बाद यहां कई अशुभ घटनाएं होती रहती थीं। इस मंदिर से जुड़ी कई कहानियां है, माना जाता है कि राजघराने के सेनापति और महाराजा की बेटी यानी राजकुमारी के बीच प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। राजा इस रिश्ते के लिए तैयार नहीं थे और उनकी शादी के ख़िलाफ़ थे। उन्होंने अपनी बेटी को बंधक बना लिया। सेनापति से दूर वह राजकुमारी यह ग़म बर्दाश्त नहीं कर पाई और उसकी मृत्यु हो गई। राजकुमारी की मौत की ख़बर सुनकर सेनापति ने भी मंदिर में प्राण त्याग दिए थे। सेनपति की मौत के बाद मंदिर के पुरोहितों ने महाराजा को बताया कि यह मंदिर अपवित्र हो चुका है। ऐसे में इस मंदिर की पुरानी मुर्तियों को हटाकर नई मुर्तियों को स्थापित किया जाए। जिसके बाद से ही अजीबोग़रीब घटनाएं शुरू होने लगीं। आज भी इस मंदिर को लोग शापित मानते हैं।

इसे भी पढ़ें: छोटी पहाड़ी पर बना है रामटेक मंदिर, वनवास के दौरान भगवान राम रुके थे यहां

आसपास के लोगों के बीच मंदिर की होती है चर्चा

dewas mata

स्थानीय लोगों के अनुसार इस मंदिर में देवी दुर्गा के भोग में बलि दी जाती है। वहीं ऐसा कहा जाता है कि यहां ग़लत इरादे से आने वाले लोगों को हमेशा परेशानी ही होती है। शाम ढलते ही यह जगह भूतहा नज़र आने लगती है। हालांकि इस मंदिर में किसी की मौजूदगी का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं मिला है। यह सिर्फ़ स्थानीय लोगों द्वारा कही गई बातें हैं। मध्य प्रदेश के मालवा क्षेत्र का एक शहर है देवास। इस मंदिर के अलावा यहां अन्य भी कई चर्चित मंदिर हैं, जहां लोग दर्शन के लिए आना पसंद करते हैं।

इसे भी पढ़ें: खूबसूरत पहाड़ियों और मंदिरों से घिरा हुआ मध्यप्रदेश का अमरकंटक, घूमने के लिए है बेस्ट

Recommended Video

मध्य प्रदेश का पॉपुलर शहर है देवास

devi mandir dewas

दुर्गा मंदिर के अलावा देवास में कई ऐसी जगहें हैं जो प्राकृतिक नज़ारों के लिए मशहूर हैं। यही नहीं सोयाबीन के बड़े उत्पादन के कारण देवास को भारत की सोया राजधानी के रूप में भी जाना जाता है। मध्य प्रदेश के मालवा क्षेत्र के सबसे पुराने स्थानों में से एक होने के नाते, यहां कई प्राचीन मंदिर और इमारत मौजूद हैं, जो यात्रियों को आकर्षित करती हैं। अगर आप भोपाल जाने का प्लान कर रही हैं तो देवास शहर घूमना ना भूलें। देवास शहर घूमने के लिए उचित समय अक्टूबर से लेकर मार्च तक है। इस दौरान यहां मौसम सबसे अच्छा होता है जहां आप आसानी से घूम सकती हैं।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। साथ ही ऐसे अन्य आर्टिकल के पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।