गुजरात एक ऐसा शहर है जहां आपको विभिन्न संस्कृतियां देखने को मिल जाएंगी। ऐसे ही गुजरात का एक शहर है भुज, जो एक ऐतिहासिक महत्व रखता है। साथ ही, भुज में बसी कई ऐसी जगहें पूरे विश्व भर में मशहूर हैं, जहां की अद्भुत संस्कृति, भाषा और कला पर्यटकों का मन मोह लेती हैं। आपको बता दें कि भुज का एक लंबा इतिहास रहा है। कहा जाता है कि लगभग 8वीं से 16वीं सदी तक भुज पर सिंध के सम्मा राजपूतों ने राज किया था।

उसके बाद इस शहर पर लगभग 16वीं शताब्दी के अंत में मुगलों ने शासन किया था। फिर मुगलों के बाद में लखपतजी राजा और अंग्रेजों ने भी काफी समय तक राज किया था। इसलिए यहां आपको घूमने के साथ-साथ कई ऐतिहासिक स्थान भी मौजूद हैं। आज जब भी गुजरात की सैर करने आएं तो एक बार कच्छ जिला क्षेत्र की राजधानी भुज की इन जगहों पर जरूर घूमें। 

सफेद रेगिस्तान, कच्छ

kutch registan

कच्छ के महान रण के रूप में भी जाना जाता है, सफेद रेगिस्तान प्राचीन सफेद नमक रेगिस्तान का एक विशाल क्षेत्र है जिसे अक्सर इसकी प्राकृतिक सुंदरता और पारिस्थितिक महत्व के लिए खोजा जाता है। इसे दुनिया का सबसे बड़ा नमक रेगिस्तान भी कहा जाता है, जो सिंधु नदी के मुहाने से लेकर कच्छ की खाड़ी तक फैला हुआ है।

स्वामीनारायण मंदिरों, भुज 

mandir

मूल रूप से वर्ष 1822 में निर्मित, यह कई संप्रदाय स्वामीनारायण मंदिरों में से पहला था। आध्यात्मिक वातावरण में शांति और शांति पाने के लिए मंदिर का हरा-भरा परिवेश एक बेहतरीन जगह है। मंदिर चुनिंदा दण्ड से मुक्ति के साथ आकर्षक भांग व्यंजनों का स्वाद लेने के लिए एक बेहतरीन जगह है। इसके अलावा, त्योहारों के मौके पर आप अपने पूरे परिवार के साथ इस मंदिर का दर्शन कर सकते हैं। 

इसे ज़रूर पढ़ें- नैनी झील: सात पहाड़ियों से घिरी एक बेहद ही खूबसूरत झील

हमीरसर झील, भुज 

jheel

यह झील भुज के पश्चिमी छोर में स्थित है। इसका जल स्तर वर्ष के समय पर निर्भर करता है। झील का पानी मौसम के हिसाब से घटता और बढ़ता रहता है। यहां की खूबसूरती और झील का आसपास का खूबसूरत नज़ारा आपको बहुत पसंद आने वाला है। यह उन पर्यटकों के लिए बेस्ट है, जो प्राकृतिक दृश्य से प्रेम करते हैं। यहां का शांत वातावरण और शाम को ठंडी हवाएं आपको बखूबी पसंद आएंगी। 

Recommended Video

आइना महल 

aina mehal

आइना महल महल, या 'दर्पणों का हॉल' 18 वीं शताब्दी के मध्य में लखपतजी के शासन के दौरान बनाया गया था। इस खूबसूरत महल में एक हस्तशिल्प संग्रहालय भी है, जहां कच्छ के विभिन्न हिस्सों के शिल्प रखे जाते हैं। इस महल के इतिहास पर गौर करें तो शुरुआती दौर में इसे मिट्टी और चट्टान से निर्मित किया गया था। फिर बाद में नए-नए राजाओं ने अपने-अपने शासन काल में इस किले की बेहद अनोखे और खूबसूरत अंदाज में मरम्मत करवाई, शायद यही वजह है कि यह महल आज भी उतना ही विशाल और खूबसूरत नजर आता है और मजबूती के साथ वर्षों से खड़ा है। 

इसे ज़रूर पढ़ें- मानसून में भारत के इन 5 ऑफबीट हाइकिंग डेस्टिनेशन्स को जरूर करें ट्रैवल

 

इन जगहों के अलावा आप यहां भुजिया किला, भुज हिल गार्डन, प्राग महल, मांडवी बीच आदि भी घूम सकते हैं। आपको ये लेख पसंद आया हो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। साथ ही जुड़ी रहें हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Travel website)