कहा जाता है कि स्किन-केयर  रूटीन आपकी उम्र के अनुसार होना चाहिए। क्योंकि  हर उम्र में स्किन की जरूरत और परेशानियां दोनों ही अलग होती हैं। इसलिए बढ़ती उम्र में  एंटी-एजिंग क्रीम का इस्तेमाल कब से शुरू करना चाहिए? इसकी सही उम्र क्या है? यह जानना बहुत ज़रूरी है। कायाकल्प वैलनेस स्टूडियो कि एक्सपर्ट प्रगति सहगल का कहना है कि उम्र बढ़ने का सबसे पहला असर अंदर से होता है, जो फाइन लाइन्स के रूप में बाहर दिखाई देने लगता है और ऐसे समय में एंटी एजिंग क्रीम से स्किन को काफी हद तक झुर्रियों से बचाया जा सकता है। आइए जानतें है कि इस क्रीम को कब लगाना शुरू करना चाहिए?

30+ से लगाएं एंटी एजिंग क्रीम

anti aging cream ()

महिलाओं को 30 साल की उम्र से एंटी एजिंग क्रीम लगाना शुरू कर देना चाहिए क्योंकि चेहरे पर फाइन लाइन्स 35 से 40 के बाद त्वचा पर नज़र आने लगती हैं। प्रगति सहगल कहती हैं कि अगर आप एंटी एजिंग क्रीम उम्र बढ़ने से पहले ही लगाना शुरू कर देंगी तो चेहरे पर पड़ने वाली झुर्रियां देर से दिखाई देंगी।

Recommended Video

जानें क्रीम के तत्व

anti aging cream ()

एक्सपर्ट प्रगति सहगल का कहना है कि एंटी एजिंग क्रीम्स  में एक या एक से ज्यादा तत्व हो सकते हैं। इसलिए ये जानना जरूरी है कि इन तत्वों का क्या काम है और आपकी त्वचा को इनकी जरूरत क्यों है। इसमें मौजूद विटामिन सी  त्वचा को सन-डैमेज से बचाती है और रिंकल्स को कम करती है। हाइड्रॉक्सी एसिड्स त्वचा की अपर लेयर को हटाकर इसे मुलायम और रेडिएंट बनाते हैं। रेटिनॉल स्किन से फाइन लाइन और रिंकल्स को कम करने में मदद करता है साथ ही स्किन में कोलेजन के प्रोडक्शन को बढ़ाता है। इसके अलावा टी एक्सट्रैक्ट्स स्किन को ढीला  होने से बचाते हैं और एजिंग साइन्स को कम करते हैं (पानी है बेस्ट एंटी एजिंग )। विटामिन ई स्किन सेल को ऑक्सीडेटिव डैमेज से बचाता है और कोलेजन को हानि पहुंचाने से बचाता है। इसके अलावा, यह विटामिन सी के साथ मिलकर ज्यादा अच्छी तरह काम करता है।

इसे जरूर पढ़ें : Skin Care: ये हैं बेस्ट एंटी-एजिंग क्रीम्स, उम्र से कई साल जवां दिखाने का करती हैं दावा

त्वचा के प्रकार के अनुसार खरीदें  क्रीम

anti aging cream

यह बात सच  है कि सभी की त्वचा एक समान नहीं होती है, इसीलिए  एंटी-एजिंग क्रीम खरीदते वक्त अपनी त्वचा का प्रकार भी जानना बहुत ज़रूरी है। प्रगति सहगल कहतीं हैं कि अगर आपकी स्किन नॉर्मल है तो इसके लिए आपको उन तत्वों से युक्त क्रीम खरीदनी चाहिए जो आपके स्किन के बैलेंस को बनाए रखे। वहीं ड्राई स्किन के लिए उन क्रीम का चुनाव करें जो स्किन को प्रोटेक्ट करने के साथ-साथ मॉइश्चराइज़ भी करें।

एंटी एजिंग क्रीम के फायदे

anti aging cream ()

  • एंटी एजिंग क्रीम की मदद से आप झुर्रियों से पूरी तरह से छुटकारा तो नहीं पा सकती हैं ,लेकिन झुर्रियों को कम जरूर कर सकती हैं।
  • एंटी एजिंग क्रीम से बढ़ती उम्र में त्वचा पर दाग पड़ने की समस्या भी दूर हो सकती है।
  • एंटी एजिंग क्रीम से मृत कोशिकाएं साफ होती हैं इसलिए रोजाना क्रीम का इस्तेमाल करें।
  • एंटी एजिंग क्रीम लगाने से आपकी त्वचा हमेशा हइड्रेटेड रहेगी साथ ही त्वचा में कसाव आता है।
  • एंटी एजिंग क्रीम से  त्वचा कोमल लगने लगती है और आप जवान दिखने लगती हैं।

 

आप जब भी एंटी एजिंग क्रीम का इस्तेमाल करें इन बातों को ध्यान में रखें तभी आपकी त्वचा की खूबसूरती बरकरार रह सकती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:free pik