हर साल 25 जून को वर्ल्ड विटिलिगो डे मनाया जाता है। एक रिसर्च के मुताबिक दुनिया-भर में कम से कम 1-2 प्रतिशत लोग विटिलिगो से प्रभावित हैं। विटिलिगो एक लॉन्ग टर्म स्किन कंडीशन है जिससे स्किन पर सफेद रंग के धब्‍बे दिखाई देते हैं। विटिलिगो का मुख्य कारण स्किन में मेलानिन नाम के स्किन पिगमेंट की कमी होना है। विटिलिगो जिसे कुछ लोग सफेद दाग के नाम से भी जानते हैं, यह समस्‍या बॉडी के किसी भी हिस्से में हो सकती है। लेकिन शरीर के उन हिस्सों जैसे हाथ, पैर, चेहरे और लिप्स में सबसे ज्‍यादा दिखाई देती है जो सूरज की हानिकारक किरणों के संपर्क में ज्‍यादा रहते हैं। 

विटिलिगो डे के मौके पर हम आपको विटिलिगो को कम करने के टिप्‍स के बारे में बता रहे हैं। अगर आप चाहें तो इसे कम करने के लिए कुछ आसान से टिप्स अपना सकती हैं। इन टिप्‍स की सबसे अच्‍छी बात यह है कि इसके बारे में हमें डर्मेटोलॉजिस्ट और एस्थेटिक फिजिशियन आईएलएएमईडी के संस्थापक और निदेशक, डॉक्‍टर अजय राणा जी बता रहे हैं।

पानी का अधिक सेवन और पोषक तत्‍वों से भरपूर डाइट

drinking water inside

आप जितना हो सके उतना पानी पिएं। पानी आपके शरीर के इम्यून सिस्टम को ठीक करता है जो आपको विटिलिगो होने के चांसेज से दूर रखेगा। साथ ही आप अपनी डाइट में ऐसी चीजें शामिल करें जिनमें विटामिन-सी और विटामिन-बी की मात्रा हो। ऐसी डाइट लें जिसमें अमीनो एसिड और फोलिक एसिड हो, जो विटिलिगो के कारण होने वाले सफेद पैचेज को नहीं होने देती है।

इन चीजों से दूरी बनाकर रखें 

आप एल्कोहल, कॉफी, मछली और रेड मीट खाने से बचें। यह विटिलिगो के कारण होने वाले पैचेज को कम करते हैं।

इसे जरूर पढ़ें:सफेद दाग के कारण ना हों डिप्रेस, मुमकिन है इसका इलाज

सूरज की हानिकारक किरणों से बचाव करें

sunscreen lotion inside

विटिलिगो से बचने का सबसे आसान उपाय है अपने शरीर को जितना हो सके, उतना सूरज की हानिकारक किरणों से बचा कर रखना है। अगर आप बाहर जा भी रही हैं तो शरीर के ऐसे हिस्से जो सूरज की किरणों से संपर्क में आ रहे हैं उनमें सनस्क्रीन लगाएं

पपीते का इस्‍तेमाल

पपीता एक ऐसा फल है जिसके कई हेल्थ बेनिफिट्स हैं। पपीता विटिलिगो के लिए बहुत फायदेमंद होता है। पपीते में कैरोटीन की अधिक मात्रा होती है, जो वैसे तो स्किन की हेल्थ के लिए बेस्ट होती है लेकि‍न विटिलिगो से लड़ने में खासतौर पर मदद करती है। हर दिन पपीता खाने से यह डैमेज्ड स्किन सेल्स को वापस से बनाने, उसे रिपेयर करने और स्किन के डैमेज्ड मेलानिन सेल्स को फिर से ज़िंदा करने में मदद करती है। आप पपीतेे को विटिलिगो वाले हिस्से में अच्छे से रगड़ें। कुछ देर इसे सूखने दें फिर जब यह सूख जाए तो इसे अच्छे से धो लें। यह विटिलिगो को कम करता है।

रेड क्ले का इस्‍तेमाल

vitiligo treatment coconut inside  ()

रेड क्ले भी विटिलिगो से राहत पाने का एक अच्छा और सिंपल उपाय है। रेड क्ले में कॉपर की अधिक मात्रा होती है जो विटिलिगो के लिए फायदेमंद होती है। इसके लिए आप 2 बड़े चम्‍मच रेड क्ले में 1 बड़ा चम्‍मच अदरक का रस मिलाएं। फिर इस पेस्‍ट को अच्छे से विटिलिगो वाली त्‍वचा पर लगाएं। इसका प्रयोग हर दिन नियमित रूप से करने में यह सफेद पैचेज वाले एरिया में ब्लड फ्लो को फिर से शुरु कर देता है और विटिलिगो की समस्या से राहत मिलती है।

स्‍ट्रेस से बचें

जरूरत से ज्यादा स्ट्रेस लेना भी शरीर के लिए अच्छा नहीं होता है। लेकिन यह साथ ही विटिलिगो जैसी समस्‍या का कारण भी बनता है। इसके अलावा विटिलिगो के कारण होने वाले सफेद पैचेज को और ज्यादा बढ़ाने का एक मुख्य कारण हो सकता है आपका जरूरत से ज्यादा स्ट्रेस लेना।

 

Recommended Video

तुलसी के पत्ते

vitiligo treatment tulsi inside

तुलसी के पत्ते अपने एंटी-एजिंग और एंटी-वायरल प्रॉपर्टीज के लिए तो जाने जाते हैं। साथ ही साथ इसमें विटिलिगो को कम करने के लिए भी अनेक प्रकार के औषधीय गुण होते हैं। इसके लिए आप तुलसी के पत्तों को नींबू के रस के साथ पीस लें, फिर इस पेस्‍ट को अच्छी तरह से विटिलिगो के कारण होने वाले सफेद पैचेज पर लगाएं। रोजाना इस पेस्‍ट को लगाने से आपको विटिलिगो से राहत मिलेगी। यह आपके स्किन में मेलानिन के प्रोडक्शन को बढ़ाता है।

इसे जरूर पढ़ें:सफेद दाग क्‍या हैं? इसके कारण, लक्षण और उपचार के बारे में जानें

अखरोट का इस्‍तेमाल

अखरोट एक ऐसा ड्राई फ्रूट है जिसके अनेक तरह के फायदे होते हैं, जो आपकी हेल्थ के लिए सही होता है। अखरोट विटिलिगो को भी कम करने के लिए सबसे आसन और अच्छा उपाय माना जाता है। इसके लिए आपको दिन में कम से कम 5 अखरोट खाने चाहिए। आप चाहें तो अखरोट को पीस कर पेस्ट बना लें, फिर इस पेस्ट को विटिलिगो के कारण होने वाले सफेद पैचेज पर लगाएं। इस पेस्ट को दिन में कम से कम 3-4 बार कम से कम 15 -20 मिनट के लिए लगाएं।

नारियल का तेल

vitiligo treatment coconut inside  ()

नारियल का तेल भी विटिलिगो को कम करने और स्किन में रिपिग्मेंटेशन को बढ़ाने के लिए सही माना जाता है। नारियल के तेल में सूदिंग और हीलिंग गुण होते हैं। इसमें एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होते हैं, जो विटिलिगो के लिए बेस्ट माने जाते हैं। इसके लिए आप नारियल के तेल को कम से कम दो दिन में एक बार सफेद पैचेज वाले हिस्से में लगाएं। यह विटिलिगो को कम करने में मदद करेगा।

आप भी इन टिप्‍स को आजमाकर सफेद दाग से राहत पा सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।