पिछले कुछ समय से स्किन केयर रूटीन में एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल काफी बढ़ने लगा है। यह स्किन की लगभग हर समस्या जैसे एक्ने से लेकर फाइन लाइन्स व झुर्रियों आदि से आसानी से निपटा जा सकता है। जहां एसेंशियल ऑयल स्किन के लिए काफी अच्छे होते हैं, लेकिन उन्हें इस्तेमाल करते समय सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसे कभी भी सीधे ही स्किन पर अप्लाई नहीं किया जा सकता है।

दरअसल, एसेंशियल ऑयल बेहद स्ट्रांग होते हैं और सीधे इन्हें इस्तेमाल करने से स्किन में इरिटेशन, जलन व अन्य समस्या हो सकती है। इसलिए, इन्हें हमेशा कैरियर ऑयल के साथ मिक्स करके ही इस्तेमाल किया जाता है। आप बादाम से लेकर नारियल तेल जैसे कई कैरियर ऑयल को चुन सकती हैं। हालांकि, अगर इनका चयन अपनी स्किन टाइप के अनुसार किया जाए तो लाभ बहुत अधिक मिलता है। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको डिफरेंट स्किन टाइप के लिए अलग-अलग कैरियर ऑयल के बारे में बता रहे हैं-

नॉर्मल स्किन

normal skin coconut

नारियल का तेलः यह एक ऐसा तेल है, जिसे हम अपनी हेयर से लेकर स्किन केयर रूटीन में शामिल करती है। इस बहुमुखी तेल के फायदे बताने की जरूरत नहीं है। यह नॉर्मल स्किन की डीप लेयर्स में जाकर उसे पोषित करता है। आप अपनी स्किन कंसर्न के अनुसार किसी भी एसेंशियल ऑयल के साथ इसे मिक्स कर सकती हैं।

हेम्प सीड ऑयल : इसमें त्वचा को हाइड्रेट करने और इसके टेक्सचर में सुधार करने के लिए विटामिन ई, सी, जीएलए और एएलए जैसे शक्तिशाली स्किनकेयर यौगिक होते हैं। नॉर्मल स्किन की महिलाएं इस तेल की मदद से अपनी स्किन का ख्याल रख सकती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें:ऑयली स्किन को ग्लोइंग बनाने वाले तेल के फायदे जानिए

ड्राई स्किन 

dry skin olive oil

ऑलिव ऑयलः यह तेल न केवल आपके शरीर के लिए बल्कि आपकी त्वचा के लिए भी बहुत अच्छा है। यह तेल ड्राई स्किन के लिए काफी अच्छा माना जाता है। यह शुष्क त्वचा से जुड़ी स्किन प्रॉब्लम्स जैसे एक्जिमा, सोरायसिस और रोसैसिया को भी ठीक करता है।

एवोकैडो ऑयलः एवोकैडो ऑयल में त्वचा की गहरी परतों में घुसने की क्षमता होती है और इसलिए इसे ड्राई स्किन के लिए एक परफेक्ट ऑप्शन माना जाता है। यह सेल ग्रोथ को उत्तेजित करते हुए कोलेजन के उत्पादन को भी बढ़ाता है।

ऑयली स्किन

oily skin almond

स्वीट आलमंड ऑयल : यह एक हाइपोएलर्जेनिक कैरियर ऑयल है जिसमें त्वचा को मॉइस्चराइजिंग लाभ मिलते हैं। इस तेल में मौजूद फैटी एसिड ऑयली स्किन से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं। यह अतिरिक्त सीबम को हटाता है, क्लॉग पोर्स और ब्रेकआउट को रोकता है। यह तेल हाइपरपिग्मेंटेशन और आंखों के नीचे के काले घेरों को हल्का करने में भी मददगार है।

जोजोबा ऑयलः यह त्वचा द्वारा आसानी से अवशोषित हो जाता है और इसमें बेहतरीन मॉइस्चराइजिंग और हीलिंग गुण होते हैं जो इसे ऑयली स्किन के लिए एक आदर्श विकल्प बनाते हैं। विटामिन और खनिजों से भरपूर, यह एक एंटी- इंफ्लमेट्री एजेंट भी है।

इसे जरूर पढ़ें:चेहरे पर ग्लो लाने वाले तेल जो बिना मेकअप के आपकी स्किन को बनाएंगें सुंदर

Recommended Video

सेंसेटिव स्किन

senstive skin oil

तिल के बीज का तेलः यह एक बेहतरीन स्किन डिटॉक्सिफिकेशन ऑयल है। तिल के तेल में जीवाणुरोधी और एंटिफंगल गुण होते हैं जो इसे संवेदनशील त्वचा के लिए आदर्श बनाते हैं। इस ऑयल में शक्तिशाली एंटी-एजिंग शक्तियां भी होती हैं जो झुर्रियों और महीन रेखाओं से लड़ने में मदद करती हैं।

एप्रिकोट ऑयलः एप्रिकोट ऑयल में इमाल्यन्ट प्रॉपर्टीज होती हैं, जो स्किन को नरिश करने के साथ-साथ उसके मॉइश्चर को भी बनाए रखती है। यह ऑयल बेहद लाइट, माइल्ड और नॉन-इरिटेटिंग होता है और इसलिए सेंसेटिव स्किन की महिलाएं इसका इस्तेमाल बेहद आसानी से कर सकती हैं। यह एक्जिमा और सोरायसिस जैसी स्किन प्रॉब्लम्स में भी मदद करता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।