जिन महिलाओं की स्किन सेंसेटिव होती है, उन्हें अपने स्किन केयर रूटीन को लेकर अतिरिक्त सतर्क होना पड़ता है। दरअसल, यह एक ऐसी स्किन है, जो किसी भी इंग्रीडिएंट के प्रति बहुत जल्दी रिएक्ट करती है और आपको अपनी स्किन में रेडनेस से लेकर इरिटेशन आदि की समस्या हो सकती है। ऐसे में सेंसेटिव स्किन की केयर का सबसे पहला नियम यही है कि आप किसी भी प्रोडक्ट को खरीदने से पहले उसके इंग्रीडिएंट को दो बार चेक करें और यह सुनिश्चित करें कि उसमें ऐसा कोई भी इंग्रीडिएंट शामिल ना हो, जो आपकी सेंसेटिव स्किन को ट्रिगर करता हो।

हालांकि, अब सवाल यह उठता है कि ऐसे कौन से इंग्रीडिएंट हैं, जो सेंसेटिव स्किन के लिए ट्रिगर की तरह काम करते हैं। वैसे तो ऐसे कई इंग्रीडिएंट हो सकते हैं। मसलन, कभी-कभी फ्रेगरेंस भी आपकी स्किन को इरिटेट कर सकती हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे ही इंग्रीडिएंट के बारे में बता रहे हैं, जो आपकी सेंसेटिव स्किन को परेशान कर सकते हैं और इसलिए आपको इनसे थोड़ी दूरी बनाए रखनी चाहिए-

अल्कोहल 

आजकल कई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स में अल्कोहल का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन सेंसेटिव स्किन के लिए इनका इस्तेमाल करना अच्छा नहीं माना जाता है। दरअसल, यह आपकी त्वचा की नमी के स्तर को कम कर देगा, जिससे जलन और खुजली महसूस होगी और आपकी स्किन को परेशानी होगी। हालांकि, कुछ फैटी अल्कोहल भी होते हैं जो नॉन-इरिटेटिड और त्वचा के लिए कम संवेदनशील होते हैं। लेकिन, सेंसेटिव स्किन की महिलाओं को इनका उपयोग करते समय भी सावधानी बरतनी चाहिए।

सनस्क्रीन इंग्रीडिएंट

sunscreen in hindi

आमतौर पर, सनस्क्रीन सामग्री जैसे एवोबेंजोन, ऑक्टोक्रिलीन और ऑक्सीबेनज़ोन आदि पाए जाते हैं। यह आमतौर पर नॉर्मल स्किन के लिए एकदम उपयुक्त माने जाते हैं, लेकिन इन केमिकल्स से सेंसेटिव स्किन की महिलाओं को समस्या हो सकती है। इसलिए, अगर आपकी स्किन सेंसेटिव है तो आप केमिकल बेस्ड सनस्क्रीन का इस्तेमाल करने की जगह मिनरल बेस्ड सनस्क्रीन को यूज करना चाहिए।  

सैलिसिलिक एसिड

सैलिसिलिक एसिड एक्ने और क्लॉग्ड पोर्स को साफ करने के लिए बहुत अच्छा है। सेंसेटिव स्किन की महिलाएं भी इसका कुछ हद तक इस्तेमाल कर सकती हैं, लेकिन इसके अत्यधिक उपयोग से बचना चाहिए। सैलिसिलिक एसिड का अत्यधिक इस्तेमाल आपकी सेंसेटिव स्किन को बहुत अधिक शुष्क बना देगा, जिससे आपको स्किन में इरिटेशन होगी। इसलिए, अगर आप सैलिसिलिक एसिड का इस्तेमाल कर रही हैं तो जरा सोच समझकर करें।

इसे ज़रूर पढ़ें- सेंसेटिव स्किन को इस तरह करें एक्सफोलिएट, नहीं होगी इरिटेशन

पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल या मेन्थॉल

papermint oil '

मेन्थॉल के अपने मजबूत एनाल्जेसिक गुणों के लिए जाना जाता है और बहुत सी महिलाएं इसे अपने स्किन केयर रूटीन का हिस्सा भी बनाती हैं। लेकिन अगर आपकी स्किन सेंसेटिव है तो आपके लिए कैरियर ऑयल के साथ पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल करना अच्छा आइडिया नहीं है। आप इसे केवल अपने ओरल केयर का हिस्सा भी बनाएं तो अधिक बेहतर रहेगा।

सल्फेट्स

sulfate

किसी भी स्किन केयर प्रोडक्ट में फोम या झाग देने के लिए सल्फेट्स का उपयोग किया जाता है। सोडियम लॉरिल सल्फेट (एसएलएस) और अमोनियम लॉरिल सल्फेट (एएलएस) सबसे आम केमिकल पाउडर हैं। लेकिन यह केमिकल आपकी सेंसेटिव स्किन को परेशान कर सकते हैं। इससे आपको खुजली व सूजन की समस्या हो सकती है। इसलिए आपको सल्फेट्स से भी थोड़ी दूरी बनाकर रखनी चाहिए।

Recommended Video

कलरेंट

कई बार कुछ अलग-अलग कलरेंट काफी ब्यूटीफुल लगते हैं और महिलाएं बिना सोचे-समझे इसका इस्तेमाल करने लग जाती हैं। लेकिन वास्तव में यह डाई या कलरेंट कोल टार या पेट्रोलियम आदि की मदद से तैयार किए जाते हैं। जो स्किन में जलन के साथ-साथ सूजन व अन्य कई स्किन प्रॉब्लम्स की वजह बन सकते हैं। इसलिए, बेहतर होगा कि सेंसेटिव स्किन की महिलाएं नेचुरल या फ्रूट बेस्ड कलरेंट का इस्तेमाल करें।

इसे ज़रूर पढ़ें- सीरम और फेस ऑयल में क्या है अंतर, जानिए फायदे भी 

 

 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- Freepik