क्या आपके स्कैल्प में लगातार खुजली हो रही है? जब भी आप अपने सिर की त्वचा को महसूस करते हैं तो क्या आपकी त्वचा में पपड़ी दार त्वचा और मवाद से भरे फोड़े हो जाते हैं? आपको शायद स्कैल्प में फंगल इंफेक्शन है। जब मृत त्वचा कोशिकाएं तेल और प्रदूषकों के साथ मिल जाती हैं, तो वे कवक के लिए सही प्रजनन स्थल बनाती हैं। इस तरह के फंगल इंफेक्शन अक्सर खराब स्कैल्प हाइजीन के कारण होते हैं, यानी नियमित रूप से अपने बालों को नहीं धोना। अपने बालों पर स्टाइलिंग उत्पादों और अन्य कठोर रसायनों का उपयोग करने से ऐसे संक्रमण बढ़ सकते हैं।

जानी-मानी डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. दीपाली भारद्वाज कहती हैं, 'फंगल इंफेक्शन आमतौर पर छोटे बच्चों में देखा जाता है। लेकिन 12 साल की उम्र के बाद बच्चों में भी यह नहीं होता। हां अगर किसी को इम्यूनो डेफिशियेंसी, डायबिटीज या कोई अन्य बीमारी हो। स्कैल्प फंगल इंफेक्शन को मेडिकल टर्म में ब्लैक या व्हाइट डॉट कहते है। यह यीस्ट इंफेक्शन के कारण होता है, जिसे seborrhoeic dermatitis कहते हैं। वहीं आम भाषा में कहें तो स्कैल्प फंगल इंफेक्शन का कारण डैंड्रफ भी होता है, जो कभी-कभी इनविजिबल होता है। इसका मतलब है कि आपके बाल ऑयली हो जाते हैं। नहाने के 12-15 घंटे बाद ही बालों का ऑयली होने का कारण है पसीने और यीस्ट होना।'

क्या है स्कैल्प फंगल इंफेक्शन?

scalp fungal infection by expert

आपकी त्वचा पर कुछ प्रकार के हानिरहित फंगस मौजूद होते हैं। पर्यावरणीय परिस्थितियों के साथ ये मल्टीप्लाई होते हैं और संक्रमण का कारण बन सकते हैं। फंगल इंफेक्शन शरीर के अंदर और कहीं भी हो सकता है। लेकिन वे पैरों, नाखूनों और स्कैल्प पर आम हैं। आइए इसके कारणों पर एक नजर डालते हैं।

फंगल इंफेक्शन का कारण क्या है?

जैसा कि डॉ. भारद्वाज ने बताया यह इंफेक्शन स्कैल्प में ज्यादा पसीने और यीस्ट उत्पादन के कारण होता है। यह किसी मेडिकल कंडीशन के कारण भी हो सकता है। प्रदूषण, स्ट्रेस, पर्सनल हाइजीन, अनहेल्दी आहार के सेवन करने से फंगल इंफेक्शन हो सकता है।

स्कैल्प इंफेक्शन के लक्षण

signs of scalp fungal infection

  • स्कैल्प पर लाल रंग के दाने जो परतदार हो सकते हैं
  • स्कैल्प में फ्लैकी डैंड्रफ होना, जो हाथ लगाने पर झड़े।
  • एक्स्ट्रीम इंफेक्शन होने पर सिर पर पस से भरे सफेद या पीले रंग के फोड़े हो जाते हैं
  • स्कैल्प पर सफेद, चिपचिपे पैचेज होना।

कैसे करें बचाव

डॉ. भारद्वाज कहती हैं, 'अपनी डाइट को बेहतर करें। इसके लिए अपने आहार में, जिंक, प्रोटीन, विटामिन-एच, बायोटिन से समृद्ध खाद्य पदार्थों को शामिल करें।' इसके अलावा कम केमिकल वाले शैंपू का इस्तेमाल करें। जितना हो सके अपने बालों को हीट और ब्लो ड्राई से दूर रखें। इसके अलावा स्टीम के साथ ऑयल मसाज भी करें। अगर आपका स्कैल्प ऑयली है, तो भी महीने में एक बार ऑयल मसाज करें। अपने बालों को सन एक्सपोजर भी दें, ताकि आपको विटामिन-डी मिल सके। हफ्ते में एक बार से ज्यादा एंटी-डैंड्रफ शैंपू का इस्तेमाल न करें। अपने हेयर टाइप के मुताबिक ही शैंपू का इस्तेमाल करें।'

इसे भी पढ़ें :बदलते मौसम में सिर की खुजली के रामबाण घरेलू उपाय

स्कैल्प फंगल इंफेक्शन के लिए घरेलू नुस्खे

मेथी और तेल 

सामग्री

  • एक चम्मच क्रश्ड मेथी के दाने
  • नारियल का तेल

क्या करें-

  • एक कटोरी में नारियल का तेल डालें और इसमें क्रश्ड मेथी के दाने डालकर मिक्स करें।
  • इसे अपने सिर पर लगाकर मसाज करें।
  • कुछ देर बाद, अपने बालों को माइल्ड शैंपू से धो लें।
  • इसे महीने में एक बार ट्राई करें।

प्याज का रस

scalp fungal infection onion juice

सामग्री

  • 2 बड़े चम्मच प्याज का रस
  • गर्म पानी

क्या करें-

  • प्याज का रस निकाल लें और इसे अपने स्कैल्प पर लगा लें।
  • अब गर्म पानी में तौलिया डालकर, अच्छे से निचोड़ लें।
  • इस तौलिए को सिर पर लपेटकर रख लें और कुछ देर माइल्ड शैंपू से सिर धो लें।

सफेद सिरका और नींबू का रस

सामग्री

1 छोटा चम्मच सफेद सिरका

1 छोटा चम्मच नींबू का रस

क्या करें-

  • सबसे पहले एक कटोरी में सिरका और नींबू के रस को बराबर मात्रा में डालकर मिला लें।
  • अब एक कॉटन बॉल की मदद से रात को सोने से पहले स्कैल्प पर प्रभावित एरिया में ये लगाएं।
  • सुबह माइल्ड शैंपू से अपने बालों को धो लें।

 

Recommended Video

डॉ. भारद्वाज कहती हैं, 'ये होम रेमेडीज आपको तभी अपनानी चाहिए, अगर आपको कम समस्या है। अगर आपके स्कैल्प पर पस पड़ा है या खून निकल रहा है या स्कैल्प इंफेक्शन की समस्या गंभीर है, तो होम रेमेडीज बिल्कुल न अपनाएं और तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लें।'

उम्मीद है यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। इसे आगे तक शेयर करने में हमारी मदद करें। ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

Image Credit: freepik