आलू बुखारा स्वादिष्ट और जूसी फल है और विभिन्न रंगों में उपलब्ध होता है। कुछ महिलाएं इसे प्‍लम के नाम से भी जानती हैं। यह फल पोषक तत्वों से भरपूर होता है। आलूबुखारा विटामिन्‍स और मिनरल्‍स का एक उत्कृष्ट स्रोत है। साथ ही इसमें विटामिन ए, सी, के, बी 1, बी 2, बी 3 के साथ-साथ विटामिन ई भी भरपूर मात्रा में होता है। इसके अलावा, फल में पोटेशियम, कैल्शियम, जिंक आदि जैसे मिनरल्‍स मौजूद होते है। प्लम कैलोरी में कम लेकिन आहार फाइबर से भरपूर होते हैं।

यह खट्टा-मीठा फल आपकी हेल्‍थ के लिए बहुत अच्‍छा माना जाता है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि आलूबुखारा आपकी त्‍वचा के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। इसे त्‍वचा लगाने से आप त्‍वचा को जवां, बेदाग और गोरा बना सकती हैं। आइए इसके इस्‍तेमाल के सही तरीके के बारे में इस आर्टिकल के माध्‍यम से विस्‍तार में जानें।

एंटी-एजिंग है आलू बुखारा

plum for skin inside

आलूबुखारे में हमारी त्वचा के लिए एंटी-एजिंग गुण होते हैं। यह उम्र बढ़ने के संकेतों को कम करने में बहुत प्रभावी है, जैसे कि झुर्रियां, फाइन लाइन्‍स, उम्र के धब्बे आदि। यह अपने एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों के कारण समय से पहले बूढ़ा होने से रोकने के लिए सुपर फायदेमंद है। इसमें विटामिन सी, ई के साथ-साथ बीटा-कैरोटीन होता है जो फ्री रेडिकल्‍स से लड़ता है और हमारे शरीर के सेल्‍स को ऑक्सीडेटिव डैमेज से बचाता है। इस तरह आलूबुखारा उम्र बढ़ने के संकेतों को दूर रखने का काम करता है। इसके अलावा, आलू बुखारा के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण हमारी त्वचा की लोच को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यह हमारी त्वचा में ब्लड सर्कुलेशन को बूस्ट करने के साथ-साथ सूजन को भी कम करता है।

इसे जरूर पढ़ेंं: क्या आप जानते हैं प्लम के ये हेल्थ बेनिफिट्स, डाइट में जरूर करें शामिल

एंटी-एजिंग के लिए आलूबुखारे का इस्‍तेमाल कैसे करें?

सामग्री 

  • आलू बुखारे- 1-2 
  • गुलाबजल- 1/2 चम्‍मच 

बनाने और इस्‍तेमाल का तरीका 

  • इस पैक को बनाने के लिए सबसे पहले आलूबुखारे लें और उनका गूदा निकाल लें।
  • गूदे को मैश कर लें और फिर इसमें गुलाब जल या खीरे का रस मिलाएं। 
  • इस पेस्‍ट को अपने चेहरे और गर्दन पर अच्‍छी तरह से लगाएं। 
  • इसे 15-20 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। 
  • फिर सामान्य पानी से धो लें। इस उपाय को कम से कम हफ्ते में दो बार जरूर आजमाएं।

Recommended Video

गोरी रंगत के लिए आलूबुखारा

plum for skin inside

आलूबुखारा नेचुरल कॉम्प्लेक्शन बूस्टर का काम करता है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि इसमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है। विटामिन सी समय के साथ त्‍वचा पर होने वाले निशान का हल्का करने और रंगत को निखारने की क्षमता के लिए जाना जाता है। आलूबुखारा में विटामिन सी की मौजूदगी काले धब्बे, त्वचा के मलिनीकरण के साथ-साथ झाइयों के इलाज के लिए फायदेमंद मानी जाती है। साथ ही यह त्वचा में ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार करता है जिससे त्‍वचा पर किसी भी तरह के धब्‍बों को दूर किया जा सकता है।

गोरी रंगत के लिए आलूबुखारा का इस्‍तेमाल कैसे करें?

  • आलूबुखारे- 2-3 
  • शहद- 2 बड़े चम्‍मच

बनाने और इस्‍तेमाल का तरीका 

पहला तरीका 

  • एक बाउल में दो से तीन पके हुए आलूबुखारे को अच्‍छी तरह से मैश कर लें। 
  • गूदे को सीधे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं।
  • इसे 15-20 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। 
  • हल्के गर्म पानी से धो लें।
  • अच्‍छे रिजल्‍ट पाने के लिए इस उपाय का इस्‍तेमाल रेगुलर करें।

दूसरा तरीका 

  • इसके लिए भी आलूबुखारे को अच्‍छी तरह से मैश करके गूदा तैयार करें।
  • इसमें दो बड़े चम्मच शहद मिलाएं और दोनों को अच्छी तरह मिला लें। 
  • मिश्रण को अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं। 
  • कुछ मिनट के लिए सर्कुलर मोशन में मसाज करें। 
  • इसे और 10-12 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें और फिर ताजे और ठंडे पानी से धो लें।

आप भी आलूबुखारे से बने इन टिप्‍स का इस्‍तेमाल करके अपनी त्‍वचा को जवां और गोरी बना सकती हैं। हर बार की तरह इस बार भी हम आपको यही कहेंगे कि हालांकि यह पैक पूरी तरह से नेचुरल चीजों से बने हैं और इसके कोई साइड इफेक्‍ट्स नहीं है लेकिन फिर भी इसे इस्‍तेमाल करने से पहले एक बार पैच टेस्‍ट जरूर कर लें। ब्‍यूटी से जुड़ी और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।