आज के समय में महिलाएं खुद को अधिक ब्यूटीफुल बनाने के लिए कई तरह के ऑप्शन तलाशती हैं। ऐसी बहुत सी महिलाएं हैं, जो अपनी नेचुरल ब्यूटी से संतुष्ट नहीं होती हैं और इसलिए वह कई तरह के ब्यूटी प्रॉसिजर की मदद लेती हैं और अपने फेस से लेकर बॉडी में मनचाहे बदलाव कर लेती हैं। इन्हीं ब्यूटी प्रॉसिजर्स में से एक है लिप फिलर्स। जिन महिलाओं के होंठ बेहद पतले होते हैं और वह उसे थोड़ा मोटा बनाना चाहती हैं तो ऐसे में लिप फिलर्स की मदद ली जाती है। 

आमतौर पर, लिप फिलर्स एक सेमी परमानेंट ब्यूटी ट्रीटमेंट होते हैं और यह आपके होंठों को अधिक थिक दिखाने में मदद करते हैं। चूंकि आजकल लड़कियां अपने होंठों को थोड़ा मोटा ही रखना पसंद करती हैं, इसलिए वह लिप फिलर्स तकनीक को प्राथमिकता देती हैं। हालांकि, इस प्रॉसिजर पर आगे बढ़ने से पहले आपको इसके बारे में सबकुछ जान लेना चाहिए। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको लिप फिलर्स के बारे में विस्तारपूर्वक बता रहे हैं-

क्या होते हैं लिप फिलर्स

what are lip fillers

लिप फिलर्स का इस्तेमाल करने से पहले आपको इसके बारे में जानना आवश्यक है। लिप फिलर्स का मुख्य काम आपके होंठों को भरा-भरा दिखाना होता है। हालांकि, आपको यह भी जानना चाहिए कि लिप फिलर्स एक ऐसा प्रॉसिजर है, जो परमानेंट नहीं हैं। यह लगभग चार से छह महीने तक चल सकते हैं। इसके बाद, आपको फिर से इस प्रोसेस को दोहराना पड़ता है।

बेहतर और नेचुरल रिजल्ट

lip fillers result

लिप फिलर्स के पॉपुलर होने का एक मुख्य कारण यह भी है कि यह आपके होंठों के वॉल्यूम और साइज को बेहतरीन तरीके से बढ़ाकर बेस्ट रिजल्ट प्रदान करता है। फिलर में आमतौर पर कोलेजन या हाइलूरोनिक एसिड होता है। कोलेजन का उपयोग होंठों को मोटा करने के लिए किया जाता है, जबकि हयालूरोनिक एसिड वाटर को होल्ड करता है और होंठों को पल्म्प करता है। यही कारण है कि यह आमतौर पर वांछित परिणाम प्राप्त करने में सबसे प्रभावी होता है।

इसे भी पढ़ें :लिप केयर से जुड़ी ऐसी हैं कई धारणाएं, जिन पर महिलाएं करती हैं विश्वास

जरूरी है सावधानी

all about lip fillers

कुछ महिलाएं अपने होंठों को अधिक थिक दिखाने के चक्कर में बिना सोचे-समझे लिप फिलर्स करवाती हैं। लेकिन इसके लिए कुछ सावधानियों का ध्यान रखना बेहद आवश्यक है। मसलन, सबसे पहले तो आप सही डॉक्टर का चयन करें। अगर आपने सही डॉक्टर का चयन नहीं किया या इस प्रक्रिया को सही तरह से नहीं किया गया तो इससे आपके होंठ असमान नजर आ सकते हैं और आपका लुक बिगड़ सकता है। इसके लिए, आप उनके पिछले रिकॉर्ड पर एक नज़र डालें। साथ ही, आप उनका ऑनलाइन रिव्यू भी देख सकते हैं। इसके अलावा, सही डॉक्टर चुनने के साथ-साथ सही फिलर का चुनाव करना भी बेहद जरूरी है। सबसे आम घटक हयालूरोनिक एसिड है, जो आपके होंठों को सही वॉल्यूम देता है, जिससे वे बेहद ब्यूटीफुल दिखाई देते हैं।

इसे भी पढ़ें :सूख रहे हैं होंठ तो अपनाएं ये 'लिप केयर रूटीन'

Recommended Video

महंगा व दर्दनाक प्रोसेस

lip fillers process

यूं तो लिप फिलर्स आपके होंठों (फटे होंठों को मुलायम बनाने के लिए घरेलू उपाय) को मनचाहा आकार देने में मदद करते हैं। लेकिन यह वास्तव में थोड़ा महंगा व दर्दनाक प्रोसेस है। चूंकि यह चार से छह महीने ही चलता है। इसलिए आपको बार-बार इस प्रॉसिजर को करवाना पड़ सकता है। वहीं, दूसरी ओर लिप फिलर्स के लिए सीरिंज का इस्तेमाल किया जाता है, जो वास्तव में एक दर्दनाक प्रक्रिया है। हालांकि, दर्द को कम करने के लिए आमतौर पर प्रक्रिया में जाने से पहले एक सुन्न करने वाली क्रीम लगाई जाती है। लेकिन अगर संभव हो तो आप सुन्न करने वाली क्रीमों को स्किप करने की कोशिश करें क्योंकि इससे आपके होंठों को सूज जाते हैं, जिससे फिलर के सही प्रभाव का पता लगाना मुश्किल हो जाता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- freepik