अक्सर अपनी त्वचा पर कोई भी प्रोडक्ट इस्तेमाल करने से पहले हम कई बार सोचते हैं, जिससे स्किन को नुकसान न पहुंचे। स्किन टोनर भी उनमें से एक माना जाता है, जिससे हमारी स्किन ग्लोइंग और सॉफ्ट रहती है। स्किन टोनर से जुड़े कई मिथ्स हैं, जिनपर हम भरोसा करते हैं लेकिन वह सच नहीं हैं। स्किन टोनर हमारी त्वचा में दाग-धब्बे, रूखापन और त्वचा संबंधी समस्या पैदा नहीं करते हैं। बल्कि इसके उपयोग से हमारी स्किन हाइड्रेट, बैलेंस और सॉफ्ट बनी रहती है। यहां हम आपको कुछ ऐसे मिथ के बारे में बताएंगे, जिनपर आपको भरोसा नहीं करना चाहिए। 

टोनर स्किन को ड्राई करते हैं

 skin toner inside

आजकल बाजार में अच्छे स्किन टोनर उपलब्ध हैं, जो हमारी स्किन के पीएच लेवल को बैलेंस करते हैं और मॉइश्चराइज करते हैं। कई बार स्किन टोनर में ऐसे अल्कोहल का इस्तेमाल किया जाता है, जो स्किन को रूखा बना देता है और लंबे समय तक ऑयली स्किन नहीं रहने देता है। आपको स्किन टोनर खरीदते समय ध्यान रखना चाहिए कि उसमें नेचुरल मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल किया गया हो। नेचुरल मॉइश्चर वाले स्किन टोनर त्वचा को हाइड्रेट बनाए रखने में मदद करते हैं।

स्किन टोनर या क्लींजर में से एक चीज ही करें इस्तेमाल

कई बार स्किन से ऑयल, डर्ट और बैक्टीरिया को बाहर निकालने के लिए क्लींजर का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आप जानती हैं कि स्किन टोनर क्लींजर से कई गुणा ज्यादा फायदेमंद है? स्किन टोनर सीरम, मॉइश्चराइजर और क्लींजर की तरह काम करता है। चेहरे के डर्ट को हटाने के लिए अगर आप पहले ही क्लींजर का इस्तेमाल करती हैं, तो स्किन टोनर को इस्तेमाल न करें, क्योंकि इससे त्वचा ड्राई होने लगेगी। त्वचा को कोमल रखने के लिए हमेशा स्किन टोनर और क्लींजर में से किसी एक चीज का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

इसे जरूर पढ़ें: बच्‍चों की त्‍वचा की देखभाल के लिए जूही परमार से सीखें घर पर खास तरह का उबटन बनाना

टोनर से त्वचा पर दाग-धब्बे होने लगते हैं

 skin toner inside

यह भी एक मिथ है कि टोनर हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचाता है और इससे दाग-धब्बे होने लगते हैं। क्या आप जानती हैं कि स्क्रब के बजाए टोनर का इस्तेमाल किया जा सकता है? चेहरे से डेड स्किन सेल्स को बाहर निकालने के लिए हम स्किन टोनर का उपयोग कर सकते हैं। अगर आपकी स्किन ऑयली है, तो आप सैलिसिलिक (salicylic) या ग्लाइकोलिक एसिड (glycolic acid) युक्त टोनर का उपयोग कर सकती हैं। अगर स्किन ड्राई है, तो आपको हाइड्रेट और लैक्टिक एसिड वाले टोनर का उपयोग करना चाहिए।

टोनर स्किन के पोर्स को बंद करता है

हमारी स्किन के पोर्स कभी खुलते या बंद नहीं होते हैं, इसलिए स्किन टोनर उन्हें बदल नहीं सकता है। स्किन की डर्ट को बाहर निकालने के लिए स्किन टोनर इस्तेमाल किया जाता है और मेकअप रिमूव करने के बाद, स्किन टोनर लगाना फायदेमंद होता है। अगर आप भी यही सोचती हैं कि टोनर के इस्तेमाल से पोर्स बंद हो जाते हैं, तो अब आप बेझिझक स्किन टोनर का उपयोग कर सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: एक्‍ट्रेस भाग्यश्री से जानें सर्दियों में त्‍वचा के लिए कैसे फायदेमंद है ग्लिसरीन

Recommended Video

सेंसिटिव स्किन पर टोनर कभी नहीं लगा सकते हैं

 skin toner inside

स्किन टोनर वास्तव में काफी हल्के और स्किन को मॉइश्चराइज करने के लिए होते हैं। अगर आपकी स्किन सेंसिटिव है, तो आप शांत तत्व जैसे एलोवेरा, नीम और तुलसी युक्त स्किन टोनर का उपयोग कर सकते हैं। ऐसा नहीं है कि यह आपकी त्वचा की नमी खत्म करेंगे या उसे अधिक ऑयली बनाएंगे, स्किन टोनर त्वचा का पीएच लेवल बैलेंस करते हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit: freepik