इन दिनों कोरोना संक्रमण जिस तरह अपना कहर बरपा रहा है और स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा रही हैं, उसे देखते हुए लॉकडाउन को ही एक आखिरी हथियार के रूप में देखा जा रहा है। देश के कई राज्यों में इस समय लॉकडाउन की घोषणा की जा चुकी है और कुछ राज्यों में पिछले कुछ वक्त से लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जा रहा है। जिसे देखते हुए कोरोना संक्रमण की दर में भी कुछ हद तक कमी आई है। हालांकि, लॉकडाउन के दौरान हम सभी घर से ही अपना काम कर रहे हैं और ऐसे में महिलाएं अपनी स्किन को लेकर कुछ लापरवाही बरतने लगी हैं। जिसका खामियाजा उनकी स्किन को भुगतना पड़ रहा है। कुछ महिलाओं की स्किन पर एक्ने की समस्या हो रही है और इसके लिए मुख्यतः लॉकडाउन में उनके द्वारा की जाने वाली हाईजीन मिसटेक्स जिम्मेदार हैं। हो सकता है कि आपको भी एक्ने व अन्य स्किन इश्यूज का सामना करना पड़ रहा हो। तो चलिए आज हम आपको उन्हीं लॉकडाउन हाईजीन मिसटेक्स के बारे में बता रहे हैं, जिनसे आपको वास्तव में बचना चाहिए-

हर दिन चेहरा क्लीन ना करना

inside  skin care

जब हम ऑफिस जाते थे तो सुबह अपने फेस को अच्छी तरह क्लीन करते थे और वापिस लौटने के बाद भी मेकअप रिमूव करने के साथ-साथ फेस वॉश करना नहीं भूलते थे। लेकिन जब से घर से काम करना शुरू किया है, हम इस बेसिक स्किन केयर हाईजीन हैबिट्स को भी नजरअंदाज कर रहे हैं। हम में से अधिकतर महिलाएं दिन में दो बार फेस वॉश करने जैसी बेसिक स्किन केयर प्रैक्टिस को भी फॉलो नहीं कर रही हैं, जिससे उन्हें एक्ने व अन्य कई स्किन इश्यूज हो रहे हैं। आपको इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि भले ही आप घर के अंदर हों, सीबम, धूल और अन्य अशुद्धियाँ चेहरे पर जमा हो जाती हैं, और इनसे छुटकारा पाना आवश्यक है। नियमित रूप से फेस को सही तरह से क्लीन ना करने से त्वचा के पोर्स अशुद्धियों से क्लॉग हो जाएंगे और आपको एक्ने की समस्या का सामना करना पड़ेगा।

इसे ज़रूर पढ़ें-नहाने के पानी में मिलाएं ये चीज़ें, पहली बार में ही स्किन हो जाएगी सॉफ्ट

पिलो कवर को चेंज ना करना

inside  skin care tips in hindi

जब हाईजीन मिसटेक्स की बात होती है तो यकीनन आप सिर्फ अपनी स्किन पर ही ध्यान देती होंगी। बेडशीट या पिलोकवर पर शायद आपका ध्यान ही नहीं जाता होगा। लेकिन वे एक्ने पैदा करने वाले बैक्टीरिया के लिए प्रजनन स्थल हैं। अब जब आप घर पर हैं और लम्बा समय शायद अपने बिस्तर पर ही बिता रही हैं तो अपने बिस्तर की चादरें और तकिए को अक्सर बदलना आवश्यक है ताकि गंदगी से छुटकारा मिल सके जो बाद में आपके चेहरे पर स्थानांतरित हो सकती है और ब्रेकआउट का कारण बन सकती है।

Recommended Video

चेहरे को बार-बार टच करना

inside  beauty care

पूरा दिन फोन से लेकर लैपटॉप तक आप कई सरफेस को छूती हैं और इन अनेक जगहों पर कई तरह के बैक्टीरिया और रोगाणु मौजूद होते हैं और जब अपने चेहरे को हाथों से छूती हैं तो यह बैक्टीरिया चेहरे पर ट्रांसफर हो जाते हैं। जिससे एक्ने की समस्या होती है। अक्सर ऐसा होता है कि जब हम किसी विषय के बारे में सोच रहे होती हैं या फिर तनाव व चिंता में होते हैं तो ऐसे में अनजाने में चेहरे को बार-बार टच करते हैं। हो सकता है कि आप भी ऐसा करती हों। लेकिन आप जब भी खुद को अपने चेहरे को छूते हुए पाएं, तो अपने दिमाग को किसी अन्य गतिविधि से लगाने की कोशिश करें जो आपको शांत करे या आपको खुश करे। आप म्यूजिक सुन सकती हैं या किसी मित्र या परिवार के सदस्य से बात कर सकती हैं या फिर बस कुछ मिनटों के लिए ध्यान कर सकती हैं।

इसे ज़रूर पढ़ें-गर्दन के कालेपन को 7 दिनों में दूर करते हैं दादी मां के ये 2 अचूक नुस्‍खे

स्किन को एक्सफोलिएट ना करना

inside  beauty care tips in hindi

डेड स्किन सेल्स, अतिरिक्त तेल और स्किन की गहराई में जमी हुई गंदगी से छुटकारा पाने के लिए एक्सफोलिएशन आवश्यक है। जब हम बाहर जाते हैं तो सप्ताह में एक या दो बार स्किन को एक्सफोलिएट जरूर करते हैं। लेकिन इन दिनों लॉकडाउन के कारण जब आप घर पर हैं तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपकी त्वचा को डीप क्लींजिंग की जरूरत नहीं है। इसलिए, सुनिश्चित करें कि आप स्वस्थ त्वचा बनाए रखने के लिए सप्ताह में दो बार एक्सफोलिएट करें और फेस मास्क लगाएं। सनस्क्रीन, एक्सफोलिएशन के साथ-साथ हफ्ते में दो बार मास्किंग के साथ एक साधारण सीटीएम रूटीन मुंहासों को दूर रखने के लिए काफी है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image credit- Freepik.com