जब आप त्वचा में खिंचाव आता है, तो आपके शरीर के कुछ हिस्सों पर स्ट्रेच मार्क्स पड़ जाते हैं, जो देखने में भद्दे लगते हैं। कंधे, कमर, पेट के साथ-साथ यह जांघों में भी होते हैं। इन्हें कम कैसे किया जा सकता है इसके कई नुस्खे आपने इंटरनेट पर पढ़े होंगे, लेकिन क्या वाकई स्ट्रेच मार्क्स को कम या हटाया जा सकता है?

यही जानने के लिए हमने दिल्ली की जानी-मानी डर्मेटोलॉजिस्ट दीपाली भारद्वाज से बात की तो उन्होंने बताया, 'एक डर्मेटोलॉजिस्ट के नाते यदि मेरे पास कोई मरीज इसके इलाज के लिए आता है, तो मैं उसे बता देती हूं कि पुराने और व्हाइट रंग के स्ट्रेच मार्क्स को शरीर के किसी भी हिस्से से हटाना नामुमकिन है। बाजार में उपलब्ध सॉल्यूशन पर पूरी तरह से भरोसा नहीं किया जा सकता है, क्योंकि कई केसेस में वह 10 प्रतिशत से भी कम काम करते हैं। इसके अलावा जो एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी ऑप्शन होते हैं, वे बहुत ज्यादा पेनफुल होते हैं। इसलिए बेहतर है कि आपके शरीर या जांघों पर स्ट्रेच मार्क्स बनना शुरू हों, तो ही कोई उपचार करें।'

शुरुआती दौर में होने वाले स्ट्रेच मार्क्स को कैसे कम किया जा सकता है इस बारे में भी डॉक्टर भारद्वाज ने हमें विस्तार से बताया और व्हाइट कलर के स्ट्रेच मार्क्स क्यों नहीं हटाए जा सकते हैं, ये भी पता चला। चलिए आपको भी इस बारे में विस्तार से बताएं।

क्या हैं स्ट्रेच मार्क्स?

what is stretch marks

खिंचाव के निशान रंगीन धारियां होती हैं जो आपकी त्वचा पर दिखाई देती हैं। स्ट्रेच मार्क्स आमतौर पर तब होते हैं जब आपकी त्वचा अपनी प्राकृतिक सीमा से अधिक खिंच जाती है। इसका कारण अधिकतर वजन बढ़ने का परिणाम होता है, लेकिन यह तेजी से विकास के कारण भी हो सकता है। महिलाओं में खिंचाव के निशान अधिक आम हैं। यह आपकी आंतरिक जांघों पर विकसित होते हैं, लेकिन इससे कोई दर्द नहीं होता और न ही किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या का संकेत देते हैं। यह अक्सर लाल या बैंगनी से सफेद और सिल्वर रंग में अपने आप ही फेड हो जाते हैं। आप स्ट्रेच मार्क्स का इलाज तभी करवा सकती हैं, जब वह लाल होते हैं, ताकि वह धीरे-धीरे फेड हो जाएं। 

क्या हो सकते हैं स्ट्रेच मार्क का कारण?

आपकी इनर थाइज में स्ट्रेच मार्क्स नेचुरल होते हैं। यह आपकी मिडल लेयर पर तब होते हैं, जब स्किन पर ज्यादा खिंचाव होता है। आपकी स्किन पर फाइबर्स के ज्यादा खिंचाव से वह फटते हैं और मार्क छोड़ देते हैं। नया निशान पड़ने पर वह शुरू में त्वचा पर लाल, बैंगनी बनती हैं। धीरे-धीरे समय के साथ यह फेड होती हैं और व्हाइट या सिल्वर कलर की हो जाती हैं, जिनका इलाज कठिन हो सकता है। स्ट्रेच मार्क्स के कुछ कारण हैं-

  • वेट गेन
  • मसल गेन
  • वेट लिफ्टिंग
  • प्यूबर्टी
  • रैपिड ग्रोथ
  • प्रेग्नेंसी
  • जेनेटिक्स
  • हार्मोनल इंबैलेंस

कैसे दिखते हैं स्ट्रेच मार्क्स?

stretch marks and how to reduce them

स्ट्रेच मार्क कितना नया या पुराना है यह उनके कलर पर डिपेंड करता  है। वो अलग-अलग साइज के भी होते हैं। शुरुआती स्टेज में, जांघों पर यह निशान लाल या बैंगनी दिखाई देते हैं। जब आपकी बीच के लेयर्स की स्किन फटती है, तो वो एरिया पतला हो जाता है। लाल निशान का मतलब है कि आप स्किन के नीचे ब्लड वेसल भी देख सकते हैं। ये रक्त वाहिकाएं इस चरण के दौरान खिंचाव के निशान का इलाज करना आसान बनाती हैं।

समय के साथ, आपकी रक्त वाहिकाएं हल्की होती जाती हैं और आपके खिंचाव के निशान रंग बदलने लगेंगे। निशान जो कभी लाल होते थे, वे त्वचा के रंग, सिल्वर या सफेद रंग के हो सकते हैं। इन खिंचाव के निशान का इलाज करना अधिक कठिन होता है।

आपके खिंचाव के निशान कभी-कभी छूने में दर्द कर सकते हैं। वे खुद को ठीक करने की कोशिश में आपकी त्वचा से खुजली भी कर सकते हैं। यदि आप किसी भी बिगड़ते लक्षण का अनुभव करते हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करें। 

इसे भी पढ़ें : Skin Care Tips: स्‍ट्रेच मार्क्‍स से छुटकारा दिलाते हैं एक्‍सपर्ट के ये 8 टिप्‍स, तुरंत दिखता है असर

क्या स्ट्रेच मार्क्स को किया जा सकता है कम?

डॉ. दीपाली भारद्वाज कहती हैं, 'स्ट्रेच मार्क्स के ऊपर कोई भी लेजर काम नहीं करता है। कार्बोक्सी थेरेपी होती है या CO2 लेजर होता है, लेकिन एक बार स्ट्रेच मार्क्स व्हाइट हो जाएं, तो उनको हटा पाना मुश्किल है। कार्बोक्सी थेरेपी में नीडल के द्वारा गैस को घुसाया जाता है तो उससे स्ट्रेचिंग होती है और स्ट्रेच मार्क जा सकता है, लेकिन यह बहुत ज्यादा पेनफुल प्रक्रिया होती है। हालांकि पेट के स्ट्रेच मार्क्स को सर्जरी करके, स्किन को लूज करके हटाया जा सकता है। या स्ट्रेच मार्क पर टैटू बना लिया जाए या इसके अलावा जब वह बनने शुरू हों तो उसे तभी ट्रीट कर लिया जाए।' शुरुआती चरणों में इसे ट्रीट करने के लिए आप ये तरीके अपना सकती हैं।-

मॉइस्श्चराइजर- अपने स्ट्रेच मार्क्स पर विटामिन से भरपूर मॉइश्चराइजर, तेल या लोशन लगाएं। आपकी त्वचा को मॉइश्चराइज रखने से आपकी त्वचा की इलास्टिसिटी बढ़ सकती है या बनी रह सकती है।

डाइट-विटामिन-ए से भरपूर खाद्य पदार्थ का सेवन करें और फ्लैक्स सीड्स में एसेंशियल फैटी एसिड होते हैं, इसे खाने वाले लोगों को स्ट्रेच मार्क्स कम होते हैं।

इसे भी पढ़ें : ये 4 विटामिंस दूर कर देंगे स्‍ट्रेच मार्क्‍स की प्रॉब्‍लम

लेजर थेरेपी- यह महंगा तरीका है, इस प्रक्रिया में त्वचा की कोशिका वृद्धि और पुनर्जनन को प्रोत्साहित करने के लिए लेजर का उपयोग होता है। प्रभावी परिणामों के लिए जब स्ट्रेच मार्क्स लाल रंग के हों, तो यह अच्छा हो सकता है। 

Recommended Video

स्ट्रेच मार्क्स आमतौर पर प्यूबर्टी, वजन बढ़ने या गर्भावस्था के बाद भीतरी जांघों पर दिखाई देते हैं। वे भद्दे हो सकते हैं, लेकिन हानिरहित हैं। उन्हें रिड्यूस करने के लिए उपचार उपलब्ध हैं, हालांकि, वे पूरी तरह से गायब नहीं हो सकते हैं।


हमें उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा, इसे लाइक और शेयर करें। ऐसे अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit: freepik