पॉकमार्क एक कॉमन स्किन समस्या है, जिसका सामना अक्सर लोगों को करना पड़ता है। यह स्किन में होल की तरह दिखते हैं। पॉकमार्क अक्सर तब होते हैं, जब स्किन की अंदरूनी लेयर जिसे डर्मल लेयर कहते है, वह डैमेज हो जाती है। 

यह डैमेज कई कारणों जैसे एक्ने, चिकनपॉक्स या किसी गंभीर स्किन इन्‍फेक्शन की वजह से हो सकता है। जब यह डर्मिस लेयर सही हो जाती है, तब उस एरिया में कोलेजन का प्रोडक्शन असमान रूप से होने लगता है। इसके कारण स्किन में पॉकमार्क्स की समस्या होने लगती है।

पॉकमार्क्स को कुछ हद तक कम करने के लिए आप आसान कुछ टिप्स अपना सकती हैं। इन टिप्‍स के बारे में हमें डर्मेटोलॉजिस्ट और एस्थेटिक फिजिशियन आईएलएएमईडी के संस्थापक और निदेशक, डॉक्‍टर अजय राणा जी बता रहे हैं।

नारियल तेल

coconut oil for pockmarks

पॉकमार्क्स को कम करने के लिए सबसे बेस्ट इंग्रेडिएंट नारियल का तेल है। नारियल के तेल में हीलिंग प्रॉपर्टीज होती है। यह स्कार्स और स्पॉट्स को कम करने में मदद करता है। पॉकमार्क्स को कम करने के लिए आप अपने स्किन पर कम से कम 10 मिनट के लिए नारियल तेल से मसाज करें।

इसे जरूर पढ़ें:दमकती त्‍वचा पाने के लिए स्किन केयर से जुड़ी इन 4 गलतियों से बचें

लेजर ट्रीटमेंट

आप पॉकमार्क्स को कम करने के लिए अपने डॉक्टर की सलाह पर फ्रैक्शनल CO2 लेजर ट्रीटमेंट का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। यह चेहरे से स्कार्स को निकालने में मदद करती है। यह स्किन रिजेनरेशन और कोलेजन रिमॉडलिंग में मदद करती है।

एलोवेरा का इस्‍तेमाल

पॉकमार्क्स को कम करने लिए आप एलोवेरा का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। स्कार्स को मॉश्चराइज और मसाज करना काफी फायदेमंद हो सकता है। एलोवेरा में सूथिंग और एंटी-ऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज होती हैं, जो पॉकमार्कस को कम करने में मदद करती हैं। इसके लिए आप एलोवेरा को डायरेक्ट पॉकमार्क्स वाली स्किन पर दिन में कम से कम दो बार रब करें।

cornmarks problem exert

केमिकल पील्‍स

केमिकल पील्स एक ऐसा ट्रीटमेंट है जो किसी भी प्रकार की स्किन प्रॉब्लम्स जैसे एक्ने स्पॉट्स, रिंकल्स और स्कार्स के लिए कारगर होती है। इस ट्रीटमेंट में स्किन की सबसे ऊपरी लेयर एपीडर्मल लेयर को निकाला जाता है ताकि इस जगह नई स्किन पैदा हो सके। केमिकल ट्रीटमेंट से पॉकमार्क्स को कम किया जा सकता है। केमिकल पील्स ट्रीटमेंट को हमेशा अपने डर्मेटोलॉजिस्ट की सलाह पर करें और इससे पहले स्किन टाइप को अवश्य जान लें।

ओटीसी क्रीम्स का इस्‍तेमाल 

आप चाहे तो अनेक प्रकार के ओटीसी क्रीम्स का इस्‍तेमाल कर सकती है, जो न केवल अनेक प्रकार के स्किन पर मौजूद स्कार्स को खत्म कर देती है बल्कि इससेपॉकमार्क्स भी कम दिखाई देते हैं। इसके लिए आप रेगुलर ओटीसी क्रीम्स का इस्‍तेमाल करें। यह स्किन को हाइड्रेट करती हैं और स्किन की अनेक प्रकार की खुजली को भी कम कर देती हैं। 

एसेंशियल ऑयल

oils for pockmarks

पॉकमार्क्स को कम करने के लिए एसेंशियल ऑयल काफी कारगर साबित होते हैं। एसेंशियल ऑयल्स में किसी भी प्रकार के स्किन पर मौजूद घाव को भरने की क्षमता होती है और यह स्किन की हीलिंग प्रोसेस को बढ़ा देता है। लैवेंडर ऑयल एक ऐसा ही एसेंशियल ऑयल है जो स्किन के सारे स्कार्स और पॉकमार्क्स को कम करने में मदद करता है।

फेशियल मसाज

पॉकमार्क्स को कम करने के लिए आप अनेक प्रकार के फेशियल मसाज का भी इस्‍तेमाल कर सकती हैं। मसाज केवल स्कार्स को निकालने का तरीका नहीं है बल्कि यह स्किन में ब्लड सर्कुलेशन को भी बढ़ाता है। यह स्किन में मौजूद अनेक प्रकार के टॉक्सिंस को भी निकालता है, स्किन के इंफ्लेमशन को कम करता है और स्किन के टेक्सचर को भी सही करता है।

इसे जरूर पढ़ें:रात को ये 6 नियम अपनाएंगी तो अगली सुबह ही त्‍वचा में बदलाव पाएंगी

Recommended Video

डर्मल फिलर्स

डर्मल फिलर्स एक ऐसा मॉडर्न ट्रीटमेंट है जो आजकल अनेक प्रकार के स्किन इंफेक्शन और स्किन प्रॉब्लम्स को ठीक करने में इस्‍तेमाल किया जा रहा है। डर्मल फिलर्स का इस्‍तेमाल आप पॉकमार्क्स को कम करने के लिए भी कर सकती हैं। डर्मल फिलर्स एक स्पेशल तरीके के मॉलिक्यूल्स होते हैं जिसका इस्‍तेमाल स्किन की डर्मिस लेयर को लिफ्ट करने के लिए और रिजनरेट करने में इस्तेमाल किया जाता है। यह स्किन के स्कार्स को कम करने का काम करता है।

आप भी एक्‍सपर्ट के बताए इन टिप्‍स को आजमाकर पॉकमार्क्स की समस्‍या को कुछ हद तक कम कर सकती हैं। इन ट्रीटमेंट को लेने से पहले एक बार एक्‍सपर्ट से सलाह जरूर कर लें, क्‍योंकि हर किसी की त्‍वचा प्राकृतिक चीजों के प्रति अलग तरह से प्रतिक्रिया करती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com & Shutterstock.com