आजकल के समय में सबसे बड़ी समस्या हो गई है स्ट्रेस की। स्ट्रेस और लाइफस्टाइल में बदलाव के कारण कई बार ऐसा होता है कि बालों का झड़ना और उनके सफेद होने की समस्या बढ़ जाती है। इसी के साथ, ज्यादा स्ट्रेस लेने से बालों की हेल्थ गिरती ही चली जाती है। ऐसी समस्या अगर आपके साथ भी हो रही है तो इसके लिए हॉट ऑयल ट्रीटमेंट मददगार साबित हो सकता है। यकीनन हॉट ऑयल ट्रीटमेंट से स्ट्रेस लेवल कम होता है और साथ ही साथ स्कैल्प में भी राहत मिलती है और इससे बालों की सेहत अच्छी होती है। तो चलिए आज बात करते हैं खास तरह के हॉट ऑयल ट्रीटमेंट की जिसे आप आसानी से अपने घर पर हर हफ्ते या हफ्ते में दो बार कर सकती हैं। 

हॉट ऑयल ट्रीटमेंट के फायदे-  

हॉट ऑयल ट्रीटमेंट के कई फायदे होते हैं।  

- बालों में मजबूती आती है

- बालों की ड्रायनेस खत्म होती है ये स्कैल्प और बालों की लेंथ सभी पर होता है

- इससे डैंड्रफ में छुटकारा मिलता है

- इससे बालों की फ्रिजिनेस खत्म होती है

- लगातार इसे करने से स्प्लिट एंड्स खत्म होते हैं

- इससे स्कैल्प का ब्लड फ्लो सही रहता है जिससे बालों का झड़ना खत्म होता है 

इसे जरूर पढ़ें- Hair Styling Tips: बालों को नैचुरली स्ट्रेट करने के 5 आसान घरेलू उपाय  

आज जिल हॉट ऑयल ट्रीटमेंट की हम बात कर रहे हैं वो खास तौर पर बालों का झड़ना, सफेद होना रोकने और साथ ही साथ बालों की हेल्थ को सुधारने और स्ट्रेस लेवल कम करने के लिए है। अगर आपके बाल ड्राई हैं तो लगातार इस ट्रीटमेंट को करने से आपके बालों की फ्रिजिनेस और ड्राईनेस भी खत्म होगी।  

hot oil treatment with sessame oil

कैसे करना है ये ट्रीटमेंट- 

हॉट ऑयल ट्रीटमेंट का मतलब स्कैल्प पर काफी अच्छा असर करता है। अगर हेयर फॉल की समस्या है तो उसके लिए ये उपाय अच्छा हो सकता है। गुड़हल और करी पत्तों से बने तेल के लिए ये माना जाता है कि ये तेल बहुत ही अच्छी तरह से बालों को काला रखने में मदद करता है।  

इस ट्रीटमेंट के लिए हमें चाहिए 

- तिल का तेल

- करी पत्ते

- गुड़हल के फूल

- नारियल तेल 

home made hot oil treatment with curry leaves

सबसे पहले नारियल तेल को हल्का गर्म करें। इसके बाद इसमें तीन चार बूंद तिल का तेल डालें। अगर आपके बाल लंबे हैं तो आप इसके लिए आधा चम्मच तिल का तेल और लगभग 3 चम्मच नारियल का तेल ले सकती हैं। ऐसा इसलिए करना है क्योंकि बालों के स्कैल्प से लेकर लेंथ तक सभी जगह तेल लग जाए। तिल के तेल के फायदों के बारे में तो आप जानती ही होंगी। खास तौर पर ये कई हेयर ऑयल का बेस इंग्रीडियंट भी होता है। इसलिए नारियल तेल और तिल का तेल गर्म करें। इसे बहुत हाई आंच पर न रखें बल्कि धीमी आंच पर रखें।  

home made hot oil treatment with hibiscuss

इसके बाद इसमें करी पत्ते डालें। आप इसमें 8-10 पत्ते डाल सकती हैं। ये पत्ते तेल में जाते ही फ्राई होने लगेंगे। इनका रंग जब बदल जाए तो इसे निकाल लें और इसमें गुड़हल का एक फूल डाल दें। सिर्फ पंखुड़ियां डालने से काम हो जाएगा। इसे थोड़ी देर पकने दें। सिर्फ 2-3 मिनट में ही इस फूल का रंग भी बदल जाएगा। अगर आपको लगता है कि तेल कम है तो नारियल तेल और तिल के तेल की क्वांटिटी अपने हिसाब से बढ़ा लें।  

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- रात में सोते समय करें ये 8 काम, बाल रहेंगे लंबे, घने और हेल्दी

जब गुड़हल के फूल का रंग बदल जाए तो आप इसे गैस पर से उतार लें। ध्यान रहे ये पूरा ट्रीटमेंट करते समय गैस धीमी आंच पर ही होनी चाहिए। इसके बाद इस तेल को छान लें। अब जो तेल बचा है उसे 10-15 मिनट ठंडा होने दें, लेकिन इस तेल को पूरी तरह से ठंडा न करें। ये हल्का गर्म रहना चाहिए। इसके बाद इसे अपने स्कैल्प पर लगाएं। आप चाहें तो रुई के फाहे को तेल में डुबा कर उसे हल्के हाथ से स्कैल्प पर लगा सकती हैं या सीधे उंगलियों का इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे बालों में थोड़ा गर्म तेल जाएगा और उससे स्कैल्प को राहत मिलेगी। 

इसमें जो भी इंग्रीडियंट्स इस्तेमाल किए गए हैं वो सब के सब बालों के लिए बहुत ही अच्छे हैं और ये लगातार लगाने पर बालों से जुड़े काफी फायदे होंगे।